महिला दिवस पर MP विधानसभा में पारित हुआ धर्म स्वातन्त्र्य विधेयक, धर्मान्तरण कराने पर विवाह शून्य करने और 10 साल की सजा का प्रावधान

महिला दिवस पर MP विधानसभा में पारित हुआ धर्म स्वातन्त्र्य विधेयक, धर्मान्तरण कराने पर विवाह शून्य करने और 10 साल की सजा का प्रावधान

: , March 29, 2021 / 12:10 AM IST

भोपाल। मध्यप्रदेश विधानसभा में धर्म स्वातन्त्र्य विधयेक पारित हो गया है, महिला दिवस के मौके पर विधानसभा में धर्म स्वातन्त्र्य विधेयक पारित ​कराया गया है, मध्यप्रदेश विधानसभा की कार्यवाही के दौरान सदन में गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने विधेयक पेश किया था। चर्चा में गृहमंत्री ने कहा कि पहले कानून में विवाह को शून्य करने का प्रावधान नहीं था, इस विधेयक में विवाह शून्य करने का प्रवधान होगा। महिला को भरण पोषण करने का प्रावधान है, सजा 10 साल तक बढ़ाने का प्रावधान है, जो NGO धर्म परिवर्तन करवाएगा उस पर भी कार्रवाई होगी, जो धर्म परिवर्तन करवा कर शादी करवाएगा उस पर भी कार्रवाई होगी।

ये भी पढ़ें: एक दिन का कलेक्टर बनी जिले की बहादुर बेटी अर्चना, किए ये सब काम, CM शिवराज ने दी बधाई

इसके पहले आज मध्यप्रदेश विधानसभा की कार्यवाही के दौरान सदन में धर्म स्वातंत्र्य विधेयक 2021 विधानसभा में पेश किया गया, जिसके बाद इस पर चर्चा शुरू हुई। इस चर्चा की शुरूआत डॉ गोविंद सिंह से हुई, उन्होंने कहा कि इस विधेयक को लाने का कोई औचित्य नहीं था ।

ये भी पढ़ें: ‘धर्म स्वातंत्र्य विधेयक 2021’ विधानसभा में पेश, चर्चा में विपक्ष न…

पूर्व मंत्री ने कहा कि धर्म स्वातंत्र्य विधेयक 2021 इसलिए लाया जा रहा है क्योंकि सरकार के पास कोई काम नहीं बचा इसलिए कोई भी विधेयक ला रहे हैं, इस कानून का कोई मतलब नहीं है, कोई भी धोखा देकर शादी करता है तो इसको लेकर संविधान में पूर्व से व्यवस्था की गई है, गृहमंत्री अमित शाह को खुश करने के लिए ये विधयेक लाया गया। उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड की नकल करके मध्यप्रदेश में यह कानून बना दिया।

ये भी पढ़ें: नेता प्रतिपक्ष कमलनाथ ने सदन में विधायकों- मंत्रियों के अलग अलग प्र…

वहीं BJP विधायक सीताशरण शर्मा ने धर्म स्वतंत्र्य विधेयक 2021 पर चर्चा के दौरान कहा कि ये संविधान और कानून के अनुरुप है, कमजोर और असहायों की पीड़ा हरने के लिए लाया गया कानून है, देश में संस्कृति की रक्षा करने का काम बीजेपी करती है।

विधेयक पारित होने के बाद गृहमंत्री मंत्री डॉ नरोत्तम मिश्रा ने इस दौरान कहा कि आज मन बहुत ही प्रसन्न है, महिला दिवस के दिन आसंदी पर महिला सदस्य विराजमान थी, उस समय सदन में धर्म स्वतंत्र्य विधेयक पर चर्चा हुई, जहां कांग्रेस ने इसका विरोध किया। कांग्रेस तुष्टीकरण, वोटों की और भम्र फैलाने की राजनीति करती है, यही भम्र कांग्रेस ने CAA को लेकर जनता के बीच फैलाने की कोशिश की।