Gujarat Assembly Election 2022 :BJP-Congress and Aam Aadmi Party's

Gujarat Assembly Election 2022 : भाजपा का रंग-कांग्रेस का हाथ-आप की झाडू, तीनों पाटियों के दिग्गजों की ​’अग्नि परीक्षा’, तय करेगी गुजरातियों की 5 साल की किस्मत

Gujarat Assembly Election 2022 : भाजपा-कांग्रेस और आम आदमी पार्टी इन तीनों ने अपना दमखम पहले ही प्रचार में दिखा दिया है।

Edited By: , December 5, 2022 / 01:40 PM IST

Gujarat Assembly Election 2022 : अहमदाबाद। गुजरात में विधानसभा चुनाव के लिए पहले चरण का मतदान हो चुका है। अब बचा है तो सिर्फ दूसरा या अंतिम चरण का मतदान। दूसरे चरण का मतदान के लिए जो सीट बची हुई है ऐसा माना जा रहा है कि यह वह सीटें है जो गुजरात का किंग निर्धारित करेंगी। भाजपा-कांग्रेस और आम आदमी पार्टी इन तीनों ने अपना दमखम पहले ही प्रचार में दिखा दिया है। भाजपा की ओर से अगर देखा जाए तो दिग्गज नेताओं ने अपना डेरा डाल रखा था। जिसमें से पहले तो प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, पार्टी राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा, गृहमंत्री अमित शाह, रक्षामंत्री राजनाथ सिंह यहां तक की दूसरे प्रदेश जहां भाजपा की सरकार है वहां सीएमों ने तक ​गुजरात की जिम्मेदारी अपने सिर ले रखी थी।

read more : gujarat assembly elections Updates: गुजरात विस चुनाव का दूसरा चरण! पूर्व भारतीय क्रिकेटर पहुंचे वड़ोदरा, मतदान केंद्र जाकर डाला वोट 

Gujarat Assembly Election 2022 : तो वहीं कांग्रेस की ओर से प्रियंका गांधी, कांग्रेस राष्ट्रीय अध्यक्ष खडगे, सचिन पायरट, राजस्थान सीएम अशोक गहलोत और तो और राहुल गांधी ने भारत जोडो यात्रा मध्यप्रदेश में आगमन से एक दिन पूर्व वह खुद गुजरात गए थे। जहां उन्होंने गुजरातियों से वोट की अपील की थी।

read more : गुजरात विधानसभा चुनाव के दूसरे चरण की वोटिंग जारी, पीएम के बाद उनकी मां और बड़े भाई ने डाला वोट, जानें किस बात पर भावुक हो गए सोमा भाई 

Gujarat Assembly Election 2022 : इसी के साथ आम आदमी पार्टी इस बार गुजरात में ज्यादा सक्रिय दिखाई दी। इतना ही नहीं अगर देखा जाए तो कांग्रेस से ज्यादा गुजरात में आम आदमी पार्टी को दबदवा दिखा। ‘आप’ की ओर से दिल्ली सीएम अरविंद केजरीवाल, मनीष सिसोदिया, पंजाब सीएम भगवंत मान ने इस चुनाव में अपना दमखम दिखाया। दिल्ली पंजाब की तरह गुजरात में भी सीएम केजरीवाल ने अपने वादों को जादू चलाया। यहां भी उन्होंने फ्री बिजली, पानी जैसे वादे किए।

read more : ‘औरतों को भी हो एक साथ कई पति रखने का हक’, जावेद अख्तर ने मुस्लिम पर्सनल लॉ को बताया गलत 

देखना यह होगा कि इन तीनों पार्टियों की ओर से जिन जिन दिग्गजों ने अपना जोर दिखाया है वह कितना रंग लाता है। ऐसा दावा किया जा रहा है कि इस बार का चुनाव भाजपा—कांग्रेस नहीं बल्कि भाजपा और ‘आप’ के बीच दिखाई दे रहा है। क्योंकि कांग्रेस शायद इस बार थोडी लस्त दिखाई दी। प्रचार की बात करें तो प्रचार में भी केवल ज्यादा सक्रियता भाजपा और ‘आप’ ने दिखाई है। किस पार्टी ने कितना दम दिखाया यह तो आने वाले 8 दिसंबर को पूर्णत: सिद्ध हो जाएगा।

 

IBC24 की अन्य बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करें