महंगाई की चिंता कम होने से सेंसेक्स 379 अंक चढ़ा, निफ्टी 17,800 अंक के पार |

महंगाई की चिंता कम होने से सेंसेक्स 379 अंक चढ़ा, निफ्टी 17,800 अंक के पार

महंगाई की चिंता कम होने से सेंसेक्स 379 अंक चढ़ा, निफ्टी 17,800 अंक के पार

: , August 16, 2022 / 05:35 PM IST

मुंबई, 16 अगस्त (भाषा) घरेलू शेयर बाजारों में मंगलवार को लगातार तीसरे कारोबारी दिन तेजी रही और बीएसई सेंसेक्स 379 अंक से अधिक लाभ में रहा। तेल एवं गैस, बैंक तथा वाहन शेयरों में तेजी के साथ नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी भी 17,800 के पार पहुंच गया।

तीस शेयरों पर आधारित बीएसई सेंसेक्स 379.43 अंक यानी 0.64 प्रतिशत की बढ़त के साथ 59,842.21 अंक पर बंद हुआ। कारोबार के दौरान यह एक समय 460.25 अंक तक चढ़ गया था।

एनएसई निफ्टी भी 127.10 अंक यानी 0.72 प्रतिशत बढ़कर 17,825.25 अंक पर बंद हुआ। निफ्टी में शामिल 50 शेयरों में से 42 लाभ में रहे। यह लगातार छठा कारोबारी सत्र है जब निफ्टी में तेजी रही।

जुलाई में थोक मुद्रास्फीति के पांच महीने के निचले स्तर 13.93 प्रतिशत पर आने से महंगाई को लेकर चिंता थोड़ी कम हुई है। इसके साथ सूचकांक में मजबूत हिस्सेदारी रखने वाले रिलायंस इंडस्ट्रीज, एचडीएफसी लि. और एचडीएफसी बैंक के शेयरों में लिवाली से भी बाजार को समर्थन मिला।

जियोजीत फाइनेंशियल सर्विसेज के शोध प्रमुख विनोद नायर ने कहा, ‘‘मुद्रास्फीति को लेकर दबाव कम होने से घरेलू निवेशकों में आर्थिक पुनरुद्धार को लेकर उम्मीद बरकरार है। खाद्य वस्तुओं और ईंधन के दाम में नरमी से उपभोक्ता मूल्य सूचकांक (सीपीआई) का आंकड़ा उम्मीद से बेहतर रहा है। इससे भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) नीतिगत दर में बढ़ोतरी की रफ्तार को धीमा कर सकता है।’’

सेंसेक्स के शेयरों में महिंद्रा एंड महिंद्रा सबसे अधिक 2.28 प्रतिशत चढ़ा। महिंद्रा समूह ने सोमवार को घोषणा की थी कि वह घरेलू और अंतरराष्ट्रीय बाजार में पांच नये इलेक्ट्रिक एसयूवी (स्पोर्ट्स यूटिलिटी व्हीकल) पेश करेगा। इसमें से पहले चार वाहनों के 2024 से 2026 के दौरान बाजार में आने की उम्मीद है।

इसके अलावा मारुति सुजुकी (2.19 प्रतिशत), एशियन पेंट्स (2.09 प्रतिशत), हिंदुस्तान यूनिलीवर (1.9 प्रतिशत) में भी तेजी रहा। अल्ट्राटेक सीमेंट, टेक महिंद्रा एचडीएफसी लि. और एचडीएफसी बैंक भी प्रमुख रूप से लाभ में रहे।

दूसरी तरफ, भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) सबसे ज्यादा 0.9 प्रतिशत नुकसान में रहा। इसके अलावा, भारती एयरटेल, बजाज फाइनेंस, टाटा कसंल्टेंसी सर्विसेज और एनटीपीसी भी नुकसान में रहे।

कोटक सिक्योरिटीज लि. के इक्विटी शोध प्रमुख श्रीकांत चौहान ने कहा, ‘‘वैश्विक स्तर पर सकारात्मक रुख और कुछ घरेलू कारणों से बाजार पूरे कारोबार के दौरान बढ़त में रहा।’’

उन्होंने कहा, ‘‘घरेलू मुद्रास्फीति में नरमी से यह उम्मीद बंधी है कि रिजर्व बैंक ब्याज दर बढ़ाने की रफ्तार को धीमा कर सकता है। विदेशी संस्थागत निवेशकों की लिवाली से निश्चित रूप से निवेशकों की धारणा मजबूत हुई है।’’

एशिया के अन्य बाजारों में दक्षिण कोरिया का कॉस्पी और चीन का शंघाई कंपोजिट लाभ में जबकि जापान का निक्की तथा हांगकांग का हैंगसेंग नुकसान में रहे।

यूरोप के प्रमुख बाजारों में शुरुआती कारोबार में तेजी का रुख रहा। अमेरिकी बाजार वॉल स्ट्रीट सोमवार को बढ़त में रहा।

शेयर बाजार स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर सोमवार को बंद रहे थे।

इस बीच, अंतरराष्ट्रीय तेल मानक ब्रेंट क्रूड 0.86 प्रतिशत की गिरावट के साथ 94.28 डॉलर प्रति बैरल पर आ गया।

शेयर बाजार के आंकड़ों के अनुसार विदेशी संस्थागत निवेशक (एफआईआई) भारतीय पूंजी बाजार में शुद्ध लिवाल रहे। उन्होंने शुक्रवार को 3,040.46 करोड़ रुपये मूल्य के शेयर खरीदे थे।

भाषा

रमण प्रेम

प्रेम

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)