The cooks opened a front against the government for their demands

अपनी मांगों को लेकर रसोइयों ने सरकार के खिलाफ खोला मोर्चा, काम बंद कर बैठे अनिश्चितकालीन धरने पर

The cooks opened a front against the government for their demands अपनी मांगों को लेकर रसोइयों ने सरकार के खिलाफ खोला मोर्चा

Edited By: , September 23, 2022 / 07:28 PM IST

बेमेतरा:  3 सूत्रीय मांगों को लेकर मध्यान्ह भोजन रसोईया संघ अनिश्चितकालीन धरने पर हैं। छत्तीसगढ़ स्कूल मध्यान्ह भोजन रसोईया संयुक्त संघ के प्रांतीय आह्वान पर आज से बेमेतरा इकाई अपने मांगों को लेकर ब्लॉक स्तरीय अनिश्चितकालीन धरने पर हैं। प्रमुख रूप से नियमितीकरण, कलेक्टर दर के अनुसार वेतनमान, रसोईयों को काम से ही नही निकाले जाने की मांग हैं। आपको बतादे कि बेमेतरा के तहसील कार्यालय के पास अनिश्चित कालीन हड़ताल मे बैठे रसोइया, इससे पहले संघ ने प्रदेश स्तर में अपनी मांगों को लेकर बुढ़ा तालाब में 5 से 7 सितंबर तक धरना प्रदर्शन किया था।

Read More: पाकिस्तान में इंग्लैंड खिलाड़ियों की वॉशरूम तक सुरक्षा, हैरी ब्रूक ने कहा- कोई न कोई करता है हमारा पीछा
इन समस्या को रखा सामने 

जिसपर सरकार की ओर से किसी तरह प्रतिक्रिया नही होने पर संघ के निर्देशानुसार रसोईये अपनी मांगों को लेकर आज से प्रदेशभर में ब्लॉक स्तरीय धरने पर है, वही रसोईयों ने बताया कि जबतक उनकी मांगें पूरी नही होती अनिश्चित कालीन धरने पर रहेंगे। वही रसोईये ने बताया की अगर तबियत ख़राब हो जाती है तो उस दिन खाना दूसरे कों भेज कर बनवाते है जिनका रोजी रसोइया ही कों देना पडता है।

Read More: ग्राहकों के लिए लगा झटका, इस बैंक ने ब्याज दर में की बढ़ोत्तरी, देखें कितने प्रतिशत बढ़ाया ब्याज 

काट लिए जाते हैं पैसे 

रसोईया काम करने वालों ने बताया कि महीने के 15सौ रु.मानदेय दिया जाता है। जिससे घर की खर्चा नहीं चल पाता बच्चों की पढ़ाई घर के खर्च इतने में गुजारा नहीं हो पाता शासन से मांग है कि कलेक्टर दर पर वेतन दिया जाए, और किसी दिन ड्यूटी पर नहीं जाते तो दूसरे से खाना बनवाया जाता है,उसका भी पैसा 100 रु.के हिसाब से प्रतिदिन का लिया जाता है।

Read More: पाकिस्तान में इंग्लैंड खिलाड़ियों की वॉशरूम तक सुरक्षा, हैरी ब्रूक ने कहा- कोई न कोई करता है हमारा पीछा