Political rhetoric started in Chhattisgarh due to torn 'poster' in Karnataka

कर्नाटक में फटे ‘पोस्टर’.. छत्तीसगढ़ में सियासी शोर! यात्रा पॉलिटिक्स के बहाने बीजेपी और कांग्रेस ने 23 के लिए अपना एजेंडा कर लिया है फिक्स?

यात्रा पॉलिटिक्स के बहाने बीजेपी और कांग्रेस ने 23 के लिए अपना एजेंडा कर लिया है फिक्स? Political rhetoric started in Chhattisgarh due to

Edited By: , September 30, 2022 / 11:55 PM IST

रायपुर। इस वक्त कांग्रेस सांसद राहुल गांधी भारत जोड़ो यात्रा पर हैं। तमिलनाडु और केरल के बाद अब राहुल की यात्रा कर्नाटक में प्रवेश कर रही है। जिसके लिए लगाए गए पोस्टर्स को फाड़ने की घटना पर नई बहस छिड़ गई है। इसकी आज यहां छत्तीसगढ़ में भी महसूस हुई। कांग्रेस का सीधा आरोप है कि भाजपा भारत जोड़ो यात्रा और उसके बढ़ते असर से इतना घबरा गई है कि उसे रोकने के लिए हर हथकंडा अपना रही है। जबकि भाजपा का कहना है कि ये सब राहुल गांधी को हिट कराने के लिए कांग्रेस के ही हथकंडे हैं।

Read More: पीएम मोदी ने वंदे भारत एक्सप्रेस को दिखाई हरी झंडी, यात्रियों के साथ किया सफर

राहुल गांधी की ‘भारत जोड़ो यात्रा’ केरल से गुजरने के बाद अब कर्नाटक में एंट्री करने जा रही है। लेकिन इसे लेकर छत्तीसगढ़ में सियासी बयानबाजी शुरु हो गई है। दरअसल राहुल की एंट्री से पहले कांग्रेस समर्थकों ने उनके स्वागत के लिए जगह-जगह पोस्टर लगाए थे। इनमें से अधिकतर पोस्टर को फाड़ दिया गया है। फटे पोस्टर्स पर अब सियासी शोर भी खूब हो रहा है। जिसका असर कर्नाटक से हजारों किमी दूर रायपुर में भी सुनाई दिया। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा कि वो राहुल गांधी की यात्रा से डर गई है इसलिए इसे रोकने किसी भी हद तक जाएगी।

Read More: कॉरपोरेट जॉब गई तो शुरू किया घूमना, 5 स्टार होटलों में बिताती है रातें! अब तक कर चुकी हैं….

राहुल गांधी के फटे पोस्टर्स को लेकर सीएम ने बीजेपी पर प्रहार किया तो बीजेपी ने काउंटर करते हुए करते हुए कांग्रेस की मानसिकता पर ही सवाल उठा दिये। कन्याकुमारी से कश्मीर तक राहुल गांधी की यात्रा पर जुबानी जंग और रस्साकशी गुजरते दिन के साथ तेज होती जा रही है। कर्नाटक में राहुल की एंट्री से पहले उनके फटे पोस्टर्स पर छत्तीसगढ़ में सियासी लड़ाई के मायने क्या है। क्या वाकई बीजेपी भारत जोड़ो यात्रा से डर गई है। जैसा कि कांग्रेस आरोप लगा रही या फिर यात्रा पॉलिटिक्स के बहाने बीजेपी और कांग्रेस ने 23 के लिए अपना-अपना एजेंडा फिक्स कर लिया है।

देश दुनिया की बड़ी खबरों के लिए यहां करें क्लिक