जिलों का प्रभार बदलने पर बोले सिंहदेव, पहले साढ़े 12 विधानसभा का क्षेत्र था अब केवल 5, BJP ने कहा ‘हर तरफ से सरकार नाकाम’

Edited By: , June 21, 2021 / 01:04 PM IST

रायपुर। प्रदेश में सभी मंत्रियों के प्रभार जिले बदले जाने के मामले में स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने कहा है कि ‘मेरे पास पहले साढ़े 12 विधानसभा का क्षेत्र था, अब केवल 5 विधानसभा क्षेत्र का प्रभार मिला है, हालांकि मुझे जहां बोलेंगे मैं वहां काम करूंगा।

मंत्री सिंहदेव ने क्रिकेट का उदाहरण देते हुए कहा कि जहां खड़े होने बोलेंगे वहां खड़ा हो जाऊंगा, एक खिलाड़ी की तरह खड़े होकर काम करूंगा। बाउंड्री, स्लिप, लॉन्ग ऑन जहां बोलेंगे खड़ा हो जाऊंगा।

ये भी पढ़ें: School College Reopening News 2021 : जुलाई से स्कूल-कॉलेज-कोचिंग खोलने की तैयारी! कक्षाएं लगाने को लेकर राज्यों से ली जा रही राय

वहीं इस मामले पर नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक का बयान भी सामने आया है, उन्होंने मंत्रियों के प्रभार जिले बदले जाने पर कहा कि ‘छत्तीसगढ़ सरकार पूरी तरह से फेल है, चाहे कुछ भी करें, कुछ नहीं होगा। यह पहली सरकार है जिसके मंत्री कोविड संकट में घरों में बैठे रहें, हर तरफ से सरकार नाकाम हो गई है।

वहीं मंत्रियों के प्रभार जिले बदले जाने पर संसदीय कार्य मंत्री रविंद्र चौबे ने कहा है कि जिलों के विकास कार्यों और जनसंपर्क को देखते हुए जिम्मेदारी दी गई है उन्होंने कहा कि किस आधार पर जिलों का प्रभार देना है यह मुख्यमंत्री का विवेकाधिकार है। जिसे जिन जिलों की जिम्मेदारी दी गई वे उन जिलों में बेहतर परफॉर्म करेंगे। राजनीतिक पार्टियां आने वाले चुनावों को ध्यान में रखती ही हैं, जिलों के प्रभार में बदलाव को इससे जोड़कर भी देख सकते हैं ।

ये भी पढ़ें: Sarkari Naukri 2021 news : इन सरकारी विभागों में निकली बंपर भर्ती, 85000 रुपए तक मिलेगा वेतन, जल्द करें आवेदन

गौरतलब है​ कि कोरोना संक्रमण की रफ्तार थमने के बाद प्रदेश सरकार ने कई जिले के कलेक्टरों का तबादला आदेश जारी किया था। वहीं, इसके बाद सरकार ने अब जिले के प्रभारी मंत्रियों के प्रभार में फेरबदल किया है। जारी आदेश के अनुसार मंत्री टीएस सिंहदेव को बेमेतरा और कवर्धा का प्रभार दिया गया है तो वहीं मंत्री रविंद्र चौबे को फिर से रायपुर का प्रभार सौंपा गया है।

इन मंत्रियों के प्रभार जिले बदले गए
टीएस सिंहदेव- बेमेतरा, कबीरधाम
ताम्रध्वज साहू- महासमुंद, कोरिया
रविन्द्र चौबे- रायपुर
प्रेमसाय सिंह टेकाम- रायगढ़, कोरबा
मोहम्मद अकबर- दुर्ग
कवासी लखमा- बस्तर, दंतेवाड़ा, बीजापुर, कोंडागांव, नारायणपुर
शिव डहरिया- सरगुजा, बलरामपुर, सुरजपुर
अनिला भेड़िया- कांकेर, धमतरी
गुरू रूद्र कुमार- मुंगेली, सुकमा
जयसिंह अग्रवाल- बिलासपुर, जांजगीर, पेंड्रा
उमेश पटेल- बलौदाबाजार, बालोद, जशपुर
अमरजीत भगत- राजनांदगांव, गरियाबंद

ये भी पढ़ें: स्वस्थ तन में स्वस्थ मस्तिष्क रहता है, नीरोगी काया के लिये योग करें – खाद्य मंत्री अमरजीत भगत