Bejod Bastar 2023 : Bank sakhi Lata Pandey honored by IBC24

Bejod Bastar: महिलाओं के सशक्तिकरण में ‘बिहान’ योजना ने निभाया अहम रोल, बैंक सखी लता पांडे को IBC24 ने किया सम्मानित

Bejod Bastar: राज्य सरकार द्वारा महिलाओं के सशक्तिकरण के लिए अनेक प्रकार की योजनाओं का शुभारंभ किया गया है। जिनके माध्यम से ग्रामीण क्षेत्रों

Edited By: , January 25, 2023 / 09:27 PM IST

कोण्डागांव : Bejod Bastar: राज्य सरकार द्वारा महिलाओं के सशक्तिकरण के लिए अनेक प्रकार की योजनाओं का शुभारंभ किया गया है। जिनके माध्यम से ग्रामीण क्षेत्रों की महिलाओं को रोजगार के विभिन्न अवसर प्राप्त हो रहे हैं और महिलाएं आर्थिक रूप से मजबूत भी हो रही है। इसी क्रम में कोंडागांव जिले के ग्राम मस्सूकोकोड़ा में भी राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन ‘बिहान’ की ओर से गांव की शिक्षित महिला लता पांडे को बैंक सखी बनाया गया है जो कि विगत वर्ष 2018 से अब तक गांव में ग्राहक सेवा केंद्र चला रही हैं।  उनकी इस उपलब्धि के लिए IBC24 उनको सम्मानित करता है।

यह भी पढ़ें : Bejod Bastar : जगदलपुर में IBC24 का बेजोड़ बस्तर कार्यक्रम, मंच पर पहुंचे सीएम भूपेश 

Bejod Bastar: बैंक सखी लता पांडे ने लगभग 26 हजार ग्राहकों से कुल 26.44 करोड़ मूल्य का लेनदेन कर 8 लाख 64 हजार रुपए की आमदनी अबतक कमा चुकी हैं। जिसे उन्होंने स्वयं के पैसों से एक सेकण्ड हैण्ड कार और छोटा सी कपड़े की दुकान खोल चुकी हैं। बीसी सखी बनने से पहले उनके घर की आर्थिक स्थिति बहुत तंग थी। किसी भी चीज की आवश्यकता होने पर महंगी ब्याज दरों पर बाजार से पैसा लेना पड़ता था, जिससे वे परेशान थे।

यह भी पढ़ें : BEJOD BASTAR : नक्सलवाद पर लगाम लगाने तैयार हो रहे युवा, बस्तर फाइटर्स में ट्रांस जेंडरों की भी भर्ती, IBC24 ने किया सम्मानित

Bejod Bastar: इस दौरान राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन बिहान की टीम द्वारा गांव में आकर बिहान योजना के संबंध में जानकारी दी गई। काम शुरू करने से पहले उन्हें जगदलपुर में प्रशिक्षण दिया गया। गर्भावस्था के दौरान ट्रेंनिग हुई थी, ट्रेनिंग से लौटते समय अपने बच्चे को खोई, लेकिन फिर भी वे हिम्मत नहीं हारी, आज लोगों के लिए प्रेरणा बन गई हैं।

यह भी पढ़ें : Bejod Bastar: महिलाओं के सशक्तिकरण में ‘बिहान’ योजना ने निभाया अहम रोल, बैंक सखी लता पांडे को IBC24 ने किया सम्मानित 

Bejod Bastar: गर्भावस्था के दौरान बसों में सफर करने के कारण उन्होंने अपने बच्चे को भी खो दिया। इस सदमे से उभरने के बाद उन्होंनने ठान लिया कि अब इसी कार्य में वह सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करेंगी और बाकी महिलाओं से बेहतर परिणाम भी लाई। इससे जो सम्मान और पहचान दी, मुझे आज तक प्राप्त नहीं हुई थी, अब लोग मुझे गांव में बैंक दीदी के रूप में जानते हैं।

यह भी पढ़ें : Bejod Bastar: स्माल मिलेट का हब बनता जा रहा नारायणपुर, कभी होती थी सबसे पिछड़ों जिलों में गिनती, IBC 24 ने जिले के मावली स्वसहायता समूह को किया सम्मानित…

Bejod Bastar: बीसी सखी द्वारा अब तक कुल 26.44 करोड़ मूल्य के 25864 लेनदेन किये गये हैं। जिससे मुझे कमीशन के रूप में कुल 8.64 लाख रुपये प्राप्त हुए। मुझे हर माह कमीशन के रूप में 10 से 12 हजार रुपए लगभग प्राप्त हो जाते हैं। यह सबकुछ बैंक सखी बनकर ही संभव हो सका है। इस तरह योजना निकालने के लिए वे सरकार को तहे​दिल से धन्यवाद देती हैं।