Cryptocurrency पर खुशखबरी, राहत दे सकती है सरकार

दो- तीन दिनों से भारतभर में तहलका मचाने वाली Cryptocurrency के बारे में ...Cryptocurrency पर भारत में बैन लगाने की बात हो रही है.

Edited By: , November 25, 2021 / 08:39 PM IST

Cryptocurrency पर खुशखबरी, राहत दे सकती है सरकार

आज हम बात करने वाले हैं दो- तीन दिनों से भारतभर में तहलका मचाने वाली Cryptocurrency के बारे में …Cryptocurrency पर भारत में बैन लगाने की बात हो रही है और इसका मार्केट तेजी से नीचे आ गया है…इसी बीच चर्चा गरम है कि क्या सचमुच इस मार्केट पर रोक लगेगी या फिर सरकार इसे कानूनी रूप से रेगुलेट करेगी….

कल तक सरकार के कानूनी कदम उठाने की जानकारी मिलने से इंवेस्टर्स की सांसें अटकी हुई थी पर अब जो जानकारियां मिल रही हैं उससे लगता है कि भारतीय इंवेस्टर्स को कुछ राहत मिल सकती है… कम से कम उनकी इंवेस्टमेंट को बड़ा खतरा फिलहाल नहीं दिख रहा है….हां सरकार की पूरी जानकारी के साथ यह कारोबार हो सकेगा…तो कम से कम इंवेस्टर्स को अपनी अटकी हुई सांस अभी लेना चाहिए….

आप जानते हैं कि Cryptocurrency पिछले करीब 15 सालों में निवेश के लिए एक और जरिया के रूप में सामने आई है…यह डिजीटल करेंसी है… इसे डिजिटल रुपया कह सकते हैं। भारतीय रिजर्व बैंक ने 2018 में इस पर बैन लगाया था लेकिन 2020 में सुप्रीम कोर्ट ने क्रिप्टोकरेंसी से ट्रेड को मंजूरी दे दी थी। कोर्ट के आदेश के बाद वर्चुअल करेंसी या Cryptocurrency में कानूनी रूप से लेन-देन किया जा सकता है। इस समय दुनियांभर में कई तरह की वर्चुअल करेंसी चल रही हैं और उनमें सबसे पापुलर नाम बिटक्वाइन का है… एक बिटक्वाइन की कीमत अब लाखों में पहुंच चुकी है…कहते हैं कि इसका मार्केट कैप 161 अरब डॉलर है। जबकि यह लांच हुआ था तो महज कुछ ही रूपयों में मिल रहा था…खैर अब दुनियांभर में दर्जनों Cryptocurrency चल रही हैं और इस कारोबार के लिए कई एक्सचेंज भी खुल चुके हैं…आपके बैंक से पैसे लेकर आपकी इस Crypto या वर्चुअल currency को खरीदने और उसे संभालकर आपके वॉलेट में रखने का काम ऐसे एक्सचेंज कर रहे हैं….

Read More: Top News Today | Modi को हराने के लिए Akhilesh का Masterstroke | Cryptocurrency पर बैन के बादल

2019 में सरकार एक कानून का प्रस्ताव लेकर आई थी जिसमें Cryptocurrency से लेनदेन करने पर 10 साल की सजा का प्रावधान करने की सिफारिश थी…हालांकि सुप्रीम कोर्ट से प्रतिबंध हटा दिए जाने के बाद यह कानून नहीं बन पाया है…इसके बाद से कई सेलिब्रिटीज और इन्फ्लुएंसर्स cryptocurrency का प्रचार प्रसार करते नजर आते हैं …कई एक्सचेंज इसके विज्ञापन करते हैं।

खैर भारत में cryptocurrency की बैन की खबर से इस मार्केट में भूचाल आ गया है। क्या अब भारत में cryptocurrency पर पूरी तरह से पाबंदी लग जाएगी? और अगर ऐसा होता है तो मौजूदा currency होल्डर्स का क्या होगा? इसको लेकर लोग सवाल पूछ रहे हैं…अभी तक जो खबरें आई हैं उनके मुताबिक भारत सरकार Cryptocurrency and Regulation of Official Digital Currency Bill, 2021…लेकर आ रही है… यह इस कारोबार को नियंत्रित करने के लिए लाया जा रहा है…. अभी सरकार के पास इसको नियंत्रित रखने के लिए कोई विशेष कानून नहीं है….बताया गया है कि इस नए प्रस्तावित बिल में ऑफिशियल डिजिटल करेंसी का प्रावधान होगा, रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया इसको जारी करेगा. इस बिल के अनुसार भारत में कुछ करेंसी को छोड़कर सभी प्राइवेट क्रिप्टोकरेंसी पर रोक लगा दी जाएगी….

Read More: Manish Tiwari ने Congress पर फोड़ा किताबी बम | The Sanjay Show

” कहा गया है कि यह बिल भारत में सभी प्राइवेट क्रिप्टोकरेंसी को बैन करने का प्रयास करेगा, हालांकि, क्रिप्टोकरेंसी की तकनीक और इसके उपयोग को बढ़ावा देने के लिए ये बिल कुछ एक्सेप्शन्स यानी अपवाद को अनुमति भी देगा। भारत में cryptocurrency के मार्केट ने पिछले साल उस वक्त काफी ऊंची छलांग लगाई थी जब सुप्रीम कोर्ट ने crypto पर बैन के निर्णय को पलट दिया था। एक रिपोर्ट के मुताबिक़ इस फैसले के बाद से भारतीय crypto बाजार में करीब 600% का उछाल देखने को मिला था। Blockchain and Crypto Assets Council यानी BACC की एक रिपोर्ट के मुताबिक़ आज भारत में करीब 1.5 से 2 करोड़ लोगों के पास crypto currency है। बताया जाता है कि देश में करीब 40 हजार करोड़ का कारोबार cryptocurrency के जरिए हो रहा है….यही वजह है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ये कह चुके हैं कि cryptocurrencies युवाओं को बिगाड़ सकती हैं। RBI ने भी कई बार चेतावनी दी है कि इससे “व्यापक आर्थिक और वित्तीय स्थिरता पर गंभीर चिंताएं” पैदा हो सकती हैं।

Read More: By polls in India : उपचुनाव क्या होते हैं? जानिए आसान भाषा में

अब बड़ा सवाल ये है कि क्या सरकार cryptocurrency पर कितना और किस तरह का बैन लगाएगी और क्या इंवेस्टर्स को नुकसान न हो इसका ध्यान रखा जाएगा…? तो इसका जवाब है कि हां ….सरकार इस बात का ध्यान रखेगी कि इंवेस्टर्स को किसी तरह का नुकसान न हो…कहा जा रहा है कि इसका रास्ता निकालने के लिए सरकार क्रिप्टो को करेंसी ना मानकर इसे शेयर, गोल्ड या बॉन्ड की तरह एसेट मान सकती है…..अगर सरकार क्रिप्टोकरेंसी को बैन करती है तो इनवेस्टर्स को अपने एसेट्स बेचने के लिए कुछ समय भी दिया जा सकता है.
बता दें कि बिटकॉइन और एथेरियम जैसे जाने-माने क्रिप्टो टोकन ब्लॉकचैन नेटवर्क पर आधारित हैं जो public हैं private नहीं … जिससे इन्हें ट्रेस करना आसान है। मगर कुछ cryptocurrency ऐसी भी हैं जिनके जारीकर्ता transaction डिटेल्स को प्राइवेट रखते हैं …ऐसे में सरकार इन पर बैन लगा सकती है। ज़्यादातर निवेशक cryptocurrency को खरीदने और बेचने के लिए जिन क्रिप्टो एक्सचेंजों का इस्तेमाल करते हैं, सरकार उनको जांच के दायरे में ला सकती है। यह भी कहा जा रहा है कि सरकार कानूनी करंसी के रूप में उनके उपयोग पर पाबंदी लगाते हुए डिजिटल करंसी में निवेश के लिए न्यूनतम राशि भी निर्धारित कर सकती है।
आपको बता दें कि अभी दुनियां में मात्र दो देश ऐसे हैं जो इन cryptocurrency में लेनेदेने को मान्यता देते हैं इनमें अल साल्वाडोर और क्यूबा शामिल हैं और इन देशों पर भ्रष्टाचार को बढ़ावा देने के आरोप लगते हैं….. बाकी देशों में सीधे cryptocurrency से आप कुछ खरीद नहीं सकते…इधर कई क्रिप्टो एक्सचेंज ने अपने निवेशकों से आग्रह किया है कि वो घबराहट में आकर अपनी क्रिप्टोकरेंसी को आननफानन में ना बेचें।
जानकार कह रहे हैं कि भारत में cryptocurrency का बाजार काफी बड़ा हो चुका है और अब इस पर पूरी तरह बैन लगाया जाता है तो अर्थव्यवस्था को भारी नुकसान होगा। यहां करीब 20 cryptocurrency एक्सचेंज काम कर रहे हैं….जानकार कह रहे हैं कि सरकार ऐसा कुछ करेगी जिससे मनी लॉन्ड्रिंग जैसे गलत क्षेत्र में इसका उपयोग नहीं हो….बस इसका ध्यान रखने के बाद इंवेस्टर्स को राहत दे दी जाएगी…यानी मार्केट के एक्सपर्ट कह रहे हैं कि अगर आप cryptocurrency के इंवेस्टर हैं तो फिलहाल आपको बहुत ज्यादा चिंता नहीं करनी चाहिए….

Read More: FARM LAWS REPEALED | इस वजह से Rakesh Tikait ने जारी रखा है Kisan Andolan | जानिए Krishi Kanoon रद्ध करने की प्रक्रिया