जेल की दीवार गिरने से 22 कैदी घायल, ठूंस-ठूंस कर भरे गए थे बंदी, जेल अधीक्षक ने मानी गलती

शनिवार की सुबह 5 बजे भिंड जिला जेल के बैरक नंबर 6 अचानक भरभरा कर गिर गई। जिस वक्त बैरक नंबर 6 गिरी, उस वक्त बैरक के अंदर कुल 64 कैदी मौजूद थे। इस हादसे में 22 कैदी मलबे में दब गए। बैरक गिरते ही पूरी जेल में भगदड़ मच गई। अफरा-तफरी का माहौल निर्मित हो गया।

Edited By: , July 31, 2021 / 05:00 PM IST

भिंड । जिला जेल में शनिवार की सुबह बैरक नंबर 6की दीवार ढह जाने की वजह से उसके अंदर मौजूद 22 कैदी घायल हो गए। हादसा होते ही जेल में भगदड़ मच गई। मौके पर एसपी और कलेक्टर भी पहुंचे और सभी घायलों को उपचार के लिए जिला अस्पताल में भर्ती करवाया। इनमें से दो कैदियों की हालत नाजुक बनी है जिन्हें उपचार के लिए ग्वालियर रेफर किया गया है। लगातार हो रही बारिश को हादसे का कारण माना जा रहा है।

दरअसल शनिवार की सुबह 5 बजे भिंड जिला जेल के बैरक नंबर 6 अचानक भरभरा कर गिर गई। जिस वक्त बैरक नंबर 6 गिरी, उस वक्त बैरक के अंदर कुल 64 कैदी मौजूद थे। इस हादसे में 22 कैदी मलबे में दब गए। बैरक गिरते ही पूरी जेल में भगदड़ मच गई। अफरा-तफरी का माहौल निर्मित हो गया।

Read More News: ओपन स्कूल 12वीं के नतीजे घोषित, 52 हजार 304 छात्र फर्स्ट डिवीजन में पास, लड़कों ने मारी बाजी

आनन-फानन में इस बात की सूचना एसपी मनोज सिंह और कलेक्टर डॉ सतीश कुमार एस को भी दी गई। मौके पर एसपी और कलेक्टर पहुंचे और जेल के अंदर सभी 22 घायलों को पुलिस वाहन के माध्यम से जिला अस्पताल भिंड में भर्ती करवाया गया। यहां 2 कैदियों की हालत नाजुक देखते हुए उन्हें ग्वालियर रेफर किया गया है। भिंड एसपी और कलेक्टर ने बताया कि इस वक्त भिंड जेल में कुल 255 कैदी बंद है सभी पूर्णता सुरक्षित हैं। सिर्फ 22 घायल कैदी हैं उनका उपचार किया जा रहा है। फिलहाल पूरे मामले की जांच भी शुरू कर दी गई है।

Read More News: युवती को चलती कार से फेंकने के मामले में हरियाणा के तीन आरोपी गिरफ्तार, उधर आरक्षक लाइन अटैच

वहीं जेल अधीक्षक मनोज कुमार साहू ने अपनी गलती मान ली है। मनोज साहू ने कहा कि जेल में क्षमता से अधिक कैदी मौजूद थे। जेल में 180 कैदी की जगह 255 कैदी रखे गए थे । जेल अधीक्षक मनोज कुमार साहू ने बताया कि अगले 6 माह तक नई जेल का काम पूरा हो जाएगा। फंड के अभाव के चलते जेल निर्माण में देरी हुई है।