sandalwood cultivation: इन जिलों के चंदन से फैलेगी पूरे देश में खुशबू

इन जिलों के चंदन से फैलेगी पूरे देश में खुशबू, किसानों की भी होगी मोटी आमदनी

sandalwood cultivation: इन जिलों के चंदन से फैलेगी पूरे देश में खुशबू, किसानों की भी होगी मोटी आमदनी, इन जिलों में होगी खेती

Edited By: , August 15, 2022 / 01:35 PM IST

sandalwood cultivation: भोपाल। मध्य प्रदेश में अब व्यापक स्तर पर चंदन की खेती की जाएगी। यह जिम्मेदारी वन विभाग संभाल रहा है। विभाग ने मध्य प्रदेश के चार जिलों में 200 हेक्टेयर भूमि चिन्हित कर ली है। जिस पर चंदन के पौधे रोपे जाएंगे। इन जिलों ने अपनी कार्ययोजना तैयार कर विभाग को भेजी थी। इस आधार पर विभाग ने केंद्र सरकार को प्रस्ताव भेजा था, जिसे मंजूरी मिल गई है। विभाग ने एक लाख रुपये हेक्टेयर की दर से संबंधित जिलों को राशि आवंटित कर दी है। इस राशि से जिले पौधारोपण करेंगे। इसके बाद भी राशि की जरूरत पड़ी, तो विभाग देगा।

ये भी पढ़ें- यहां सिर्फ स्वतंत्रता दिवस के दिन ही नहीं बल्कि रोज होती है भारत माता की पूजा, ग्रामीणों ने बनाया है भव्य मंदिर

लाल चंदन को मिलेगी प्राथमिकता

sandalwood cultivation: गौरतलब है कि पिछले साल प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने प्रदेश में चंदन की खेती को बढ़ावा देने को कहा था। चंदन की खेती के लिए सागर, उज्जैन, सिवनी और नीमच जिलों में भूमि चिह्नित की गई है। इनमें से सागर जिले में पहले से चंदन उगाया जा रहा है। मध्य प्रदेश में आमतौर पर लाल चंदन होता है। इसे ही प्राथमिकता दी जा रही है। इसके अलावा अन्य प्रजाति जिनकी बाजार में मांग है के पौधे भी प्रयोग के तौर पर लगाए जाएंगे। यदि उन्हें उगाने में सफलता मिलती है, तो उनकी भी व्यापक स्तर पर खेती की जाएगी। मध्य प्रदेश में पैदा होने वाले चंदन का तना ठोस नहीं होता है। जिससे घिसने योग्य लकड़ी कम निकलती है। यही कारण है कि बाजार में इस चंदन की ज्यादा मांग नहीं है।

IBC24 की अन्य बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करें