Congress will also make page in-charge: कांग्रेस को पसंद आया बीजेपी फॉर्मूला

कांग्रेस को पसंद आया बीजेपी का ये फॉर्मूला, जल्द करने जा रही लागू

Congress will also make page in-charge: कांग्रेस को पसंद आया बीजेपी का ये फॉर्मूला, जल्द करने जा रही लागू, बनाए जाएंगे प्रभारी

Edited By: , August 8, 2022 / 04:44 PM IST

Congress will also make page in-charge: भोपाल। मध्य प्रदेश में कांग्रेस को बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष वी डी शर्मा का पन्ना प्रमुख का फॉर्मूला पसंद आया है। कांग्रेस अब इसे लागू करने जा रही है। मध्य प्रदेश में बीजेपी की तर्ज पर अब कांग्रेस भी बूथ साधने की तैयारी कर रही है। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ की कोर टीम ने पन्ना प्रभारियों की नियुक्ति करने का प्लान तैयार किया है। जिसमें हर एक बूथ पर 15 से 20 प्रभारी बनाए जाएंगे।

ये भी पढ़ें- ‘हमें अधेंरे में रख रही सरकार’.. प्रदेश के 70 हजार बिजली कर्मचारियों का हल्ला बोल, जानिए क्यों हो रहा है विरोध?

कांग्रेस भी बनाने जा रही पन्ना प्रभारी

Congress will also make page in-charge: यह पूरी कवायद 2023 में होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर की जा रही है। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ एक-एक बूथ को साधने की रणनीति बना रहे हैं। इसमें उन्होंने तय किया है कि प्रदेश के सभी 65 हजार बूथों पर पन्ना प्रभारी बनाए जाएंगे। हर पन्ना का एक प्रभारी होगा। हर बूथ पर 15 से 20 प्रभारी पन्ने के बनेंगे। इसके लिए सभी जिला अध्यक्षों को जल्द ही निर्देश दिए जाने वाले हैं। जो प्लान तैयार हुआ है, उसके अनुसार संगठन चुनाव होते ही कांग्रेस पन्ना प्रभारियों की नियुक्ति करने में जुट जाएगी।

ये भी पढ़ें- विधानसभा चुनाव से पहले डैमेज कंट्रोल की तैयारी, सवर्णों को साधने में जुटी कांग्रेस

प्रभारियों को दी जाएगी जिम्मेदारी

Congress will also make page in-charge: अक्टूबर तक कांग्रेस हर बूथ पर 15 से 20 पन्ना प्रभारियों की नियुक्ति कर देगी। इन प्रभारियों की जिम्मेदारी एक-एक घर जाकर वोटर्स से संपर्क करने की होगी। साथ ही यदि उस पन्ना वाले क्षेत्र में कोई नया व्यक्ति रहने के लिए आया तो उसका वोट कहां पर हैं, यह सब पता करने की जिम्मेदारी भी पन्ना प्रभारी को दी जाएगी। वहीं वोटर लिस्ट में कोई गलती है तो उसमें भी सुधार आदि का काम पन्ना प्रभारियों का होगा। पन्ना प्रभारी बूथ से लेकर जिला अध्यक्ष तक के संपर्क में रहेंगे। बीजेपी इसे कांग्रेस पर नकल करने का आरोप लगा रही तो कांग्रेस इसे कमलनाथ की रणनीति करार दे रही है।

IBC24 की अन्य बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करें