Free pilgrimage starts in the state from today, 5 thousand elderly people

प्रदेश में मुफ्त तीर्थ दर्शन आज से शुरू, 5 हजार बुजुर्ग होंगे शामिल, सरकार 1 लाख 40 हजार बुजुर्गों को कराएगी तीर्थ यात्रा

The Madhya Pradesh government has set a target of providing pilgrimage to 1 lakh 40 thousand elderly people in a year.

Edited By: , November 29, 2022 / 08:47 PM IST

free tirth yatra: भोपाल : मध्य प्रदेश से आज 5 हजार बुजुर्गों होंगे तीर्थ यात्रा के लिए रवाना। प्रदेश सरकार ने इस बात की घोषणा काफी वक्त पहले की थी। जिसके तहत प्रदेश के 17 जिलों से आज तीर्थ दर्शन के लिए यात्री होंगे रवाना। यह यात्रा 6 अक्टूबर से 11 अक्टूबर तक चलेंगी। इस यात्रा के लिए विशेष ट्रेन चलाई जा रही है। कामाख्या,रामेश्वरम,अयोध्या, वाराणसी,तिरुपति और पूरी के लिए 17 तीर्थ दर्शन ट्रेन आज रवाना होगी। इसके साथ ही तीर्थ यात्रियों के लिए उनके जिलों के हिसाब से तीर्थ स्थाल का चायन भी किया गया है।

यह भी पढ़े; किचन में काम कर रही थी बहु, पीछे से आकर ससुर ने दबोचा और करने लगा अश्लील हरकतें….

1 लाख 40 हजार बुजुर्गों को तीर्थ दर्शन कराएंगी सरकार

free tirth yatra:जैसे कि शिवपुरी,गुना,अशोकनगर, श्योपुर के तीर्थयात्री जाएंगे कामाख्या, मुरैना ग्वालियर दतिया जिले के यात्री जाएंगे रामेश्वरम। इसके साथ ही बैतूल,विदिशा,सीहोर के जिले के यात्री अयोध्या जाएंगे वाराणसी। इंदौर धार उज्जैन यात्री जाएंगे तिरुपति, इसके साथ ही मंडला,बालाघाट,जबलपुर, डिंडोरी के यात्री जाएंगे पूरी। बता दें कि मध्य प्रदेश सरकार ने एक साल में 1 लाख 40 हजार बुजुर्गों को तीर्थ दर्शन कराने का लक्ष्य रखा है।

यह भी पढ़े: Employees will get gifts before Diwali : सरकार देने जा रही दिवाली बोनस | बढ़कर मिलेगा महंगाई भत्ता

60 वर्ष के पुरुष और 58 वर्ष की महिला कर सकेंगे तीर्थ यात्रा

free tirth yatra: मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन यात्रा के लिए प्रदेश के 60 वर्ष के पुरुष और 58 वर्ष की महिला या उससे अधिक आयु के नागरिक जो आयक दाता नहीं है।
उन यात्रियों को यात्रा के दौरान मौसम के अनुरूप कपड़े, ऊनी वस्त्र, व्यक्तिगत उपयोग की सामग्री, कंबल, चादर, तौलिया, साबुन, कंघा, दाढ़ी बनाने का सामान आदि के साथ ही आधार कार्ड, वोटर कार्ड जैसे अपनी पहचान के जरूरी दस्तावेज अपने पास से रखना जरूरी है। यह ट्रेनें 11 अक्टूबर तक वापस आ जाएगी।