36 घंटों की बारिश से रेलवे ट्रैक डूबा, रातभर जंगल में खड़ी रही इंटरसिटी, 2000 लोगों का सुरक्षित रेस्क्यू, 1171 गांव प्रभावित

36 घंटों की बारिश से रेलवे ट्रैक डूबा, रातभर जंगल में खड़ी रही इंटरसिटी, 2000 लोगों का सुरक्षित रेस्क्यू, 1171 गांव प्रभावित Railway track submerged due to rain for 36 hours

Edited By: , August 4, 2021 / 09:02 AM IST

rain of disaster: ग्वालियर,  मध्यप्रदेश। राज्य के कई जिलों में झमाझम बारिश का दौर जारी है। ग्वालिंयर में भी 36 घंटों की बारिश के बाद नदी-नाले उफान पर हैं।शिवपुरी-श्योपुर हाईवे बंद हो गया है।

पढ़ें- 7th pay commission: एक और खुशखबरी, सरकारी कर्मचारियों का बढ़ेगा बेसिक पे.. जानिए मोदी सरकार का रिएक्शन 

rain of disaster: ग्वालियर-झांसी के बीच वाहन और ट्रेनें भी रोकी गई हैं। रेलवे ट्रैक डूबने के कारण रात भर जंगल में इंटरसिटी खड़़ी रही। 200 गांवों में बाढ़ के हालात, बन गए हैं।

पढ़ें- मेट्रो में निकली कई भर्तियां.. 1.60 लाख तक मिलेगी सैलरी.. जल्द करें आवेदन.. कहीं मौका छूट न जाए

बारिश से 1171 गांव प्रभावित और बाढ़ से 25000 से ज्यादा लोगों के जनजीवन पर असर पड़ा है। 2000 लोगों को रेस्क्यू कर सुरक्षित निकाला गया है।

पढ़ें- महिला ने विवाहित महिला से बनाया संबंध, अब पीड़ित पति को देने होंगे 1.10 लाख येन.. कोर्ट का फैसला

श्योपुर पार्वती नदी खतरे के निशान से ऊपर बह रहे हैं। वहीं  सिंध पुल में दरारें पड़ गई हैं, झांसी हाईवे को भी रोका गया है।