The luck of five three zodiac signs will shine with Vashi Raj Yoga

आज बदल सकता है इन 5 राशियों का भाग्य, कर्मफल दाता शनि देव की रहेगी असीम कृपा

The luck of five three zodiac signs will shine with Vashi Raj Yoga आज कर्मफल दाता शनि देव की इन पांच राशियों पर रहेगी असीम कृपा

Edited By: , February 8, 2023 / 11:35 AM IST

The luck of these five zodiac signs will shine with Vashi Raj Yoga: हिन्दू धर्म में हर दिन किसी न किसी देवी देवता को समर्पित होता है। ठीक उसी प्रकार आज का दिन यानी शनिवार को कर्मफल दाता शनिदेव का वार होता है। वैसे तो शनिदेव का नाम सुनकर लोग सहम जाते हैं क्योंकि शनिदेव कर्मफलदाता हैं। ये व्यक्ति को उसके कर्म के अनुसार फल देते हैं। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार शनि दो राशियों- मकर और कुंभ राशि के स्वामी हैं। अत: ये दोनों राशियां शनिदेव को अत्यंत प्रिय हैं। आपको बता दें कि सूर्य और चंद्र को छोड़कर सभी ग्रह दो राशियों के स्वामी हैं। हालांकि इन दो राशियों के अलावा कुछ अन्य राशियां भी हैं जो शनिदेव को प्रिय हैं। इन राशियों पर शनि की साढ़ेसाती और ढैय्या विशेष रूप से पीडि़त नहीं होती है।

पंचग्रही योग से चमकेगा इन 4 राशियों का भाग्य, शुक्र भर देंगे सफलता और पैसों से झोली

कर्मफल दाता शनि देव की इन पांच राशियों पर रहेगी असीम कृपा

वृषभ राशि

शुक्र की राशि वृषभ पर शनिदेव की विशेष कृपा है। दरअसल, शुक्र की राशि में शनि का योगमाना जाता है। ऐसे में चाहे शनि गोचर कर रहा हो या वृष राशि के जातकों की कुंडली में ये अशुभ प्रभाव नहीं देते हैं। हालांकि बाकी ग्रहों की स्थिति प्रतिकूल होने पर भी शनि अधिक कष्ट नहीं देता है।

तुला राशि

शुक्र राशि तुला भी शनि को सर्वाधिक प्रिय है। शनि तुला राशि में उच्च का होता है। इस राशि के जातकों को शनि की साढ़ेसाती और ढैय्या तब तक नहीं होती जब तक उनकी कुंडली में सभी ग्रह अनुकूल रहते हैं। शनि तुला राशि वालों को उन्नति में मदद करता है।

धनु राशि

बृहस्पति की राशि धनु भी शनि को प्रिय है। इस राशि के जातकों को ये ज्यादा परेशानी भी नहीं देते हैं। शनि का बृहस्पति के साथ सम संबंध है। इसलिए शनि की साढ़ेसाती और ढैय्या के दौरान धनु राशि के जातकों को ज्यादा कष्ट नहीं होता है। शनि इस राशि के जातकों को मान सम्मान और धन की प्राप्ति भी होती है।

मकर राशि

मकर राशि के स्वामी शनि हैं। इसलिए यह राशि शनि की प्रिय राशियों में से एक है। शनि की साढ़ेसाती और ढैय्या के दौरान इस राशि के जातकों को ज्यादा कष्ट नहीं होता है। हालाँकि, मकर राशि वाले आसानी से हार नहीं मानते हैं, इसलिए शनि देव का शत्रुतापूर्ण स्वभाव सामने आ जाता है।

कुंभ राशि

The luck of five three zodiac signs will shine with Vashi Raj Yoga: कुंभ राशि पर शनि का प्रभाव कम होता है। कुंभ राशि के स्वामी शनि हैं इसलिए इस राशि के जातकों पर इनकी कृपा बनी रहती है। शनिदेव की कृपा से इस राशि के जातकों को धन संबंधी परेशानी नहीं होती है। कुंभ राशि पर शनि का प्रभाव बहुत ही कम समय के लिए होता है।

IBC24 की अन्य बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करें