#SarkarOnIBC24: उप चुनाव की जंग..कांग्रेस ने लगाया दम, Congress की तैयारी पर BJP ने कसा तंज | By-election in Budhni

#SarkarOnIBC24: उप चुनाव की जंग..कांग्रेस ने लगाया दम, Congress की तैयारी पर BJP ने कसा तंज

#SarkarOnIBC24: उप चुनाव की जंग..कांग्रेस ने लगाया दम, कांग्रेस की तैयारी पर BJP ने कसा तंज! By-election in Budhni

Edited By :   Modified Date:  June 13, 2024 / 11:28 PM IST, Published Date : June 13, 2024/11:27 pm IST

भोपाल: By-election in Budhni अब बात मध्यप्रदेश की यहां कांग्रेस भले विधानसभा और लोकसभा के चुनाव में बुरी तरह हार चुका है, लेकिन लड़ने का हौंसला नहीं खोया है। कांग्रेस की नज़र अब बुधनी विधानसबा सीट पर है। वही बुधनी जहां से जीतकर शिवराज सिंह चौहान 4 बार मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री रह चुके हैं। कांग्रेस ने बीजेपी के सबसे मजबूत गढ़ में सेंधमारी का जिम्मा दिग्विजय सिंह के बेटे, पूर्व मंत्री जयवर्धन सिंह और पूर्व विधायक शैलेंद्र पटेल को दिया है। हालांकि बीजेपी का दावा है कि कांग्रेस बुधनी में दूरबीन से खोजने पर भी नहीं दिखेगी।

Read More: बहू ने किया कांड, रात में सास ससुर को खाने में दी नशीला पदार्थ, फिर प्रेमी के साथ किया ये काम 

By-election in Budhni केंद्रीय कृषी मंत्री का चार्ज लेने के साथ ही पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ये साफ कर दिया कि वो अपनी परंपरागत सीट बुधनी छोड़ेंगे। फिलहाल बुधनी में शिवराज सिंह चौहान का राजनीतिक वारिस कौन होगा, ये तो तय नहीं लेकिन कांग्रेस ने ये जरुर तय कर लिया है कि वो बुधनी में बीजेपी को वॉकओवर नहीं देगी।

Read More: ATM Interchange Fee Increase : करोड़ों एटीएम यूजर्स को बड़ा झटका, बार-बार कैश निकालने पर देना पड़ सकता है इतना पैसा 

कांग्रेस ने बुधनी में जिताऊ चेहरे की तलाश के लिए प्रभारी नियुक्त कर दिए हैं। पूर्व मंत्री जयवर्धन सिंह और पूर्व विधायक शैलेंद्र पटेल बुधनी में कांग्रेस प्रत्याशी की तलाश करेंगे। साथ ही बीजेपी सरकार के खिलाफ मुद्दों की भी पड़ताल करेंगे (ग्राफिक्स आउट) फिलहाल कांग्रेस प्रदेश के सभी उपचुनाव पूरी ताकत के साथ लड़ने की तैयारी में दिख रही है।

Read More: यूपी बुझाएगा मध्यप्रदेश के इस जिले की प्यास, मोहन यादव की चिठ्ठी पर सीएम योगी ने बांध से पानी छोड़ने के दिए निर्देश

वैसे कांग्रेस के लिए बुधनी जीतना आसान नहीं है। क्योंकि कांग्रेस के पास बुधनी में ना तो बूथ पर वर्कर है ना ही सीहोर जिले में कोई लीडरशिप जाहिर है बीजेपी को शिकस्त देने के लिए कांग्रेस को नए सिरे से तैयारी करनी होगी। कांग्रेस को बूथ पर खड़ा करना होगा तब ही शिवराज के राजनीतिक वारिस के मुकाबले पार्टी खड़ी हो पाएगी।

Read More: छत्तीसगढ़ में शर्मसार करने वाली घटना, चीखती चिल्लाती रही महिला, 6 दरिंदे रातभर मिटाते रहे हवस 

क्योंकि शिवराज सिंह चौहान बुधनी से 6 बार के विधायक रह चुके हैं। साल 1990 से लेकर अब तक यानी 2023 तक शिवराज सिंह चौहान का एकतरफा माहौल बुधनी में रहा है। शिवराज सिंह चौहान ने बुधनी में साल 2018 के चुनावों में कांग्रेस के उम्मीदवार और पूर्व पीसीसी चीफ अरुण यादव को भी करारी शिकस्त दी थी। फिलहाल बीजेपी का दावा है कि बुधनी सीट पर कांग्रेस की जमानत जब्त होनी तय है

Read More: Lok Sabha Speaker Election: लोकसभा अध्यक्ष को लेकर सस्पेंस खत्म, 26 जून होगा अध्यक्ष का चुनाव, सचिवालय ने दी जानकारी 

चर्चा तो ये भी है कि शिवराज सिंह चौहान के राजनीतिक वारिस के तौर पर उनके बेटे कार्तिकेय सिंह चौहान को बीजेपी टिकट दे सकती है। अगर ऐसा होता है बीजेपी के बाकी नेता पुत्रों के लिए भी टिकट पाने का रास्ता खुल जाएगा। खैर अभी तो ये सिर्फ कयास है। लेकिन बुधनी और अमरवाड़ा में उपचुनाव की तैयारियों ने एक बार फिर मध्यप्रदेश में चुनावी रंग घुलने लगा है।

IBC24 की अन्य बड़ी खबरों के लिए हमारे फेसबुक फेज को भी फॉलो करें

IBC24 की अन्य बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करें

Follow the IBC24 News channel on WhatsApp

 
Flowers