सपा सरकार में आतंकवादियों की आरती उतारी जाती थी : योगी आदित्यनाथ

सपा सरकार में आतंकवादियों की आरती उतारी जाती थी : योगी आदित्यनाथ

Edited By: , October 22, 2021 / 02:56 PM IST

लखनऊ, 22 अक्टूबर (भाषा) उत्तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने शुक्रवार को विपक्षी दलों पर करारा प्रहार किया और कहा कि सपा सरकार में हिंदुओं पर झूठे मुकदमे दर्ज होते थे, राम भक्तों पर गोली चलवाई जाती थी तथा आतंकवादियों की आरती उतारी जाती थी।

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के पिछड़ा मोर्चा द्वारा आज यहां आयोजित ‘सामाजिक प्रतिनिधि सम्मेलन’ में चौहान समाज के लोगों को संबोधित करते हुए योगी ने कहा, ”हमारी सरकार बनी तो सबसे पहला काम किसानों की कर्जमाफी का हुआ लेकिन 2012 में सपा की सरकार का सबसे पहला निर्णय आतंकवादियों से मुकदमा वापस लेने का था।”

उन्होंने कहा, ”जब सपा, बसपा और कांग्रेस की सरकार होती है तो उनको अपने परिवार से फुर्सत नहीं होती, वे आतंकवादियों के लिए काम करते हैं जो सपा की सरकार ने 2012 में करके दिखाया था। आतंकवाद की जड़ 1952 में कांग्रेस ने धारा 370 के रूप में जम्मू कश्मीर में रोपी थी।”

योगी ने कहा कि सपा की सरकार में मध्यकाल की याद ताजा हो गई थी जब मंदिरों और मठों पर हमले होते थे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि समाजवादी पार्टी (सपा) और बहुजन समाज पार्टी (बसपा) के कार्यकर्ता थानों, तहसीलों में लूट मचाते थे और थाने, तहसील बिक चुके थे।

राज्य में अगले वर्ष की शुरुआत में होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए भाजपा के पक्ष में लोगों को जागरूक करने की अपील करते हुए योगी ने कहा, ”गांव-गांव में जाकर अलख जगाने की आवश्यकता है कि भाजपा की सरकार क्यों जरूरी है। भाजपा की सरकार रहेगी तो प्रदेश में कोई दंगा करने का दुस्साहस नहीं कर पाएगा, कोई माफिया जमीन पर कब्जा नहीं कर पाएगा और अगर करेगा तो उसकी छाती पर प्रदेश सरकार का बुल्‍डोजर चलता दिखाई देगा।”

उन्होंने चौहान समाज के लोगों से कहा कि आजादी के बाद उनके समाज से कोई राज्यपाल क्यों नहीं बन पाया और फागू चौहान भाजपा की सरकार बनने के बाद चौहान समाज से पहले राज्यपाल बने। उन्होंने कहा कि दारा सिंह चौहान पिछले साढ़े चार वर्ष से मंत्री बनकर अनवरत कार्य कर रहे हैं और समाज के प्रभुनाथ चौहान को पिछड़ा वर्ग आयोग का उपाध्यक्ष बनाया गया।

योगी ने पिछली सरकारों को कठघरे में खड़ा करते हुए कहा, ”पिछड़ा वर्ग आयोग को संवैधानिक दर्जा क्यों नहीं मिल पा रहा था क्योंकि पिछली सरकारों की नीयत खराब थी। वे नहीं चाहती थीं कि दलित, पिछड़े और गरीब को सुख सुविधा मिले। पिछली सरकारें नहीं चाहती थीं कि हर घर में रसोई गैस हो, हर घर में बिजली हो, इन लोगों ने हर घर में बीमारी दी।”

मुख्यमंत्री ने कहा कि मुलायम सिंह यादव और अखिलेश यादव के आजमगढ़ से सांसद रहते हुए विकास का कोई कार्य नहीं हुआ। उन्होंने कहा, ”क्या 1990 में भाजपा की सरकार होती तो रामभक्तों पर गोलियां चलतीं। जिन लोगों ने राम भक्तों पर गोली चलवाई क्या उन्हें आप माफ कर देंगे, भगवान राम माफ नहीं करेंगे।”

उन्होंने कहा, ‘‘अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण हमें गौरव की अनुभूति कराने वाला क्षण है। अयोध्या में भगवान राम का मंदिर बनना 135 करोड़ भारतीयों के दुनिया के सामने सिर उठाने का अवसर है।’’

मुख्यमंत्री ने कहा, ”सरकार एक-एक करके अपने वादों को पूरा कर रही है और आपका भी दायित्व बनता है कि आप एक-एक परिवार के यहां जाकर कहें कि भाजपा देशहित में जरूरी है।”

योगी ने प्रधानमंत्री के कार्यों की सराहना की और कहा कि कोविड काल में सपा तथा कांग्रेस के नेताओं ने लोगों को गुमराह करने का काम किया।

उन्होंने कहा कि भाजपा आस्था का सम्मान करती है और पेशेवर माफिया तथा अपराधियों से सख्ती से निपटने का कार्य करने के साथ ही दंगा मुक्त प्रदेश बनाती है।

सम्‍मेलन को वन मंत्री दारा सिंह चौहान और पिछड़ा वर्ग कल्‍याण मंत्री अनिल राजभर ने भी संबोधित किया।

भाषा आनन्द मानसी नेत्रपाल

नेत्रपाल