गाजा में युद्ध केवल ‘‘थोड़े-थोड़े समय के लिए रोका’’ जा सकता है, संघर्ष विराम नहीं होगा: नेतन्याहू |

गाजा में युद्ध केवल ‘‘थोड़े-थोड़े समय के लिए रोका’’ जा सकता है, संघर्ष विराम नहीं होगा: नेतन्याहू

गाजा में युद्ध केवल ‘‘थोड़े-थोड़े समय के लिए रोका’’ जा सकता है, संघर्ष विराम नहीं होगा: नेतन्याहू

:   November 7, 2023 / 10:38 AM IST

वाशिंगटन, सात नवंबर (एपी) गाजा में जारी युद्ध को ‘‘मानवीय आधार पर थोड़े समय के लिए रोके जाने’’ को लेकर अमेरिका के बढ़ते दबाव के बीच इजराइली प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने कहा है कि उनकी सरकार हमास पर जारी अपने हमलों को केवल ‘‘थोड़ी-थोड़ी देर के लिए रोक’’ सकती है।

गाजा पर जारी इजराइल के हमलों में आम नागरिकों की मौत के लगातार बढ़ते मामलों के कारण अंतरराष्ट्रीय स्तर पर आलोचना का शिकार हो रहे इजराइली नेता की यह घोषणा वैश्विक स्तर पर अपने सबसे मुखर समर्थक अमेरिका को संतुष्ट करने की कोशिश प्रतीत होती है।

अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन ने नेतन्याहू से बातचीत के दौरान अपील की थी कि मानवीय मदद की आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए गाजा में जारी इजराइली हमलों को कुछ देर के लिए रोका जाए।

अब तक अमेरिका का ध्यान लड़ाई को व्यापक क्षेत्रीय युद्ध में बदलने से रोकने और आम नागरिकों की पीड़ा को कम करने के लिए सीमित कदम उठाने का दबाव बनाने पर केंद्रित है, लेकिन वह गाजा पर हमास का नियंत्रण समाप्त करने के इजराइल के लक्ष्य का समर्थन कर रहा है।

हमास शासित स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि गाजा में मृतकों की संख्या बढ़कर करीब 10,000 हो गई है।

बाइडन ने पिछले आठ दिन में नेतन्याहू के साथ अपनी पहली बातचीत में युद्ध में ‘‘मानवीय अल्प विराम’’ की अपनी अपील दोहराई, ताकि आम नागरिकों को हमास को कुचलने के मकसद से जारी इजराइली हमलों से बचकर सुरक्षित स्थानों पर जाने का मौका मिल सके और जरूरतमंद हजारों आमजन को मानवीय मदद की आपूर्ति की जा सके।

अमेरिका की राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद के प्रवक्ता जॉन किर्बी ने नेतन्याहू और बाइडन के बीच बातचीत का जिक्र करते हुए कहा, ‘‘हमारा मानना है कि यह वार्ता का अंत नहीं अपितु शुरुआत है। तो आप उम्मीद कर सकते हैं कि हम युद्ध में अस्थायी, स्थानीय स्तर के अल्प विरामों की वकालत करना जारी रखेंगे।’’

इसके कुछ घंटों बाद नेतन्याहू ने ‘एबीसी न्यूज’ से साक्षात्कार के दौरान व्यापक संघर्ष विराम की संभावना को खारिज कर दिया, लेकिन कहा कि वह ‘‘थोड़ी-थोड़ी देर के लिए हमले रोकने’’ का विकल्प अपना सकते हैं। बहरहाल, यह स्पष्ट नहीं है कि क्या इसके लेकर कोई सहमति बनी है या इस इजराइली प्रतिबद्धता की गुंजाइश के जरिए अमेरिका को संतुष्ट किया गया है।

मानवीय अल्प विराम की बाइडन की अपील के बारे में पूछे जाने पर नेतन्याहू ने कहा, ‘‘गाजा में बंधकों की रिहाई के बिना कोई संघर्षविराम नहीं होगा। जहां तक कहीं-कहीं एक-एक घंटे के लिए रणनीतिक अल्प विराम की बात है, तो हमने पहले भी ऐसा किया है। मुझे लगता है कि हम मानवीय जरूरत की वस्तुओं की आपूर्ति या बंधकों को वहां से निकलने के लिए सक्षम बनाने संबंधी परिस्थितियों पर गौर कर रहे हैं। मुझे नहीं लगता कि सामान्य संघर्ष विराम लागू होगा।’’

इससे पहले, अमेरिका के विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन ने मानवीय पहलों संबंधी बाइडन प्रशासन के प्रस्ताव को लेकर समर्थन जुटाने के लिए इजराइल, जॉर्डन, कब्जे वाले वेस्ट बैंक, साइप्रस, इराक और तुर्किए का दौरा किया। ब्लिंकन ने तुर्किये की राजधानी अंकारा में विदेश मंत्री हकान फिदान से मुलाकात के बाद अपना दौरा समाप्त किया।

तुर्किये में विदेश मंत्रालय के बाहर एक इस्लामी समूह के दर्जनों प्रदर्शनकारियों ने उस समय तुर्किये और फलस्तीनी झंडे लेकर विरोध प्रदर्शन किया, जब ब्लिंकन और फिदान के बीच बैठक जारी थी। प्रदर्शनकारियों ने अमेरिका और इजराइल के खिलाफ नारेबाजी की।

इस बीच, इजराइल ने गाजा में अपनी सैन्य कार्रवाई तेज कर दी है। इजराइली सैनिकों के सोमवार या मंगलवार को शहर में प्रवेश करने की संभावना है।

इजराइली हमले में गाजा में आम नागरिकों की बढ़ती संख्या के बीच अरब एवं मुस्लिम देशों ने तत्काल संघर्षविराम का आह्वान किया है, जिसे इजराइल ने नकार दिया है।

इससे पहले, ब्लिंकन ने रविवार को वेस्ट बैंक में फलस्तीन के राष्ट्रपति महमूद अब्बास को आश्वस्त करने की कोशिश की कि अमेरिकी प्रशासन गाजा के नागरिकों की स्थिति में सुधार लाने के प्रयास तेज कर रहा है और उन्होंने जोर दिया कि संघर्ष के बाद क्षेत्र में जो भी होगा, उसमें फलस्तीनियों की मुख्य भूमिका होनी चाहिए।

बाद में ब्लिंकन इराक के प्रधानमंत्री मोहम्मद शिया अल-सुदानी के साथ बातचीत करने के लिए बगदाद रवाना हुए। इराक और अन्य स्थानों पर ईरान समर्थित मिलीशिया के क्षेत्र में अमेरिकी बलों पर हमले बढ़ रहे हैं। बगदाद से ब्लिंकन तुर्किये रवाना हुए थे।

बिना किसी पूर्व घोषणा के ब्लिंकन ने कड़ी सुरक्षा के बीच बख्तरबंद वाहनों से रामल्ला की यात्रा की।

एपी सिम्मी मनीषा

मनीषा

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

Flowers