PM Modi Security Lapse: साल भर पहले ही रची जा चुकी थी PM Modi को मारने की साजिश

PM Modi Security Lapse: सालभर पहले एक वीडियो में बता दिया गया था कि पंजाब में मोदी के काफिले को पुल के ऊपर रोककर हमला किया जाएगा.....

Edited By: , January 8, 2022 / 05:23 PM IST

PM Modi Security Lapse

आज हम बात करने वाले हैं एक ऐसे सबूत की जिससे पता चलता है कि मोदी की हत्या की साजिश कैसी होगी…. इसकी जानकारी सालभर पहले से सोशल मीडिया पर डाल दी गई थी…सालभर पहले एक वीडियो में बता दिया गया था कि पंजाब में मोदी के काफिले को पुल के ऊपर रोककर हमला किया जाएगा…..

पंजाब में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सुरक्षा में हुई चूक मामले में अब नए – नए तथ्य आ रहे हैं और अब ये साबित हो गया है कि प्रधानमंत्री को पुल के ऊपर घेरकर हमला करने का प्लान करीब सालभर पहले बनाया गया था… और यह घटना कैसे घटेगी इसका एक एनीमेटेड वीडियो यूट्यूब पर सालभर पहले ही डाल दिया गया था…यह हुबहू वैसा ही है जैसा उस दिन 5 जनवरी को हुआ था….अब कोई कैसी भी दलील दे… पर यह षडयंत्र था, इससे इंकार नहीं किया जा सकता है….

Read More: मोदी को रोक कांग्रेस जीती या हारी?, उंगली कटाकर शहीद बनेंगे चन्नी? | The Sanjay Show

यू ट्यूब पर …फेर देखेंगे….इस टैग के साथ एक साल पहले ही यह वीडियो डाला गया है और उसमें जो कुछ दिखाया गया है….. लगभग वैसा ही कुछ पंजाब में अभी दिखा है…और उस वीडियो में जो लोग दिखाए गए हैं वह पंजाब के ही दिख रहे हैं….यानी यह घटना पंजाब में घटेगी ऐसा उस वीडियो में बताने की कोशिश की गई है…
प्रधानमंत्री की सुरक्षा को लेकर जो चूक हुई है उसमें अब केंद्र सरकार ने एक्शन लेना शुरू कर दिया है राज्य सरकार से रिपोर्ट मांगने के बाद अब उसकी जांच भी शुरू हो गई है इसके लिए जांच टीम ने उस जगह का दौरा किया जहां पीएम का काफिला फंसा था … खबर आई है कि गृह मंत्रालय ने 5 जिलों के एसपी समेत करीब दर्जनभर अधिकारियों को तलब किया है। इनमें पंजाब के डीजीपी, आईजी और एपी स्तर के अधिकारी शामिल हैं । बताया जा रहा है कि इस मामले में करीब डेढ़ सौ अज्ञात लोगों के खिलाफ एफआईआर हो गई है….
यह सब तो रूटीन की कार्रवाई है जो होनी ही थी और आगे भी इस तरह की कार्रवाई होती रहेगी पर यहां हम आपको सबसे हैरानी भरा वो तथ्य बताने जा रहे हैं जो आपने सपने में भी नहीं सोचा होगा….
यूट्यूब पर कुछ चैनल हैं …..जो जाहिर है भारत के बाहर से ही चल रहे होंगे ….और बहुत चांस है कि ये चैनल पाकिस्तान, चीन या अमरीका या कनाडा से चल रहे होंगे। यूट्यूब पर ….धक्का गेमिंग…बीपी शार्ट्स…चैतन्या और एक दो और चैनल हैं जिनमें मोदी को घेरने का प्रोपेगंडा वाला वीडियो डाला गया है और इसमें आतंकियों को किसानों का रूप देने के लिए टैक्टर चलाते दिखाया गया है….वीडियो में दिखाया गया है कि प्रधानमंत्री मोदी अपने दफ्तर से निकल रहे हैं… और ध्यान देने की बात है कि यहां जो PM का दफ्तर दिखाया गया है वह पाकिस्तान के किसी शहर की किसी बिल्डिंग की तरह दिख रहा है…
वीडियो में आगे दिखाया गया है कि PM अपने काफिले के साथ आगे बढ़ते हैं और दूसरी तरफ कहीं दूर से पंजाबी लुक वाला युवा टैक्टर लेकर बढ़ता है… बाद में टैक्टर्स की संख्या बढ़ती जाती है और दूसरे लोग भी सड़क पर निकल जाते हैं…
इस वीडियो में दिखाया गया है कि एक पुल के ऊपर सारे लोग टैक्टर अड़ाकर खड़े हो जाते हैं तभी प्रधानमंत्री का काफिला वहां पहुंचता है और जाम में फंस जाता है… इसके बाद पुल पर खड़े लोग PM पर हमला करते हैं और सारे सिक्युरिटी वाले भाग जाते हैं….यहां वीडियो में दिखाया गया है कि अकेले पड़ चुके PM को चारों तरफ से घेरकर लोगों ने रखा है….

Read More: आ चुका है OMICRON का बाप, France में मिला नया IHU Variant, OMICRON से भी ज़्यादा संक्रामक

आप याद रखें कि PM के साथ पंजाब में जो हुआ उसका हुबहू वीडियो एक साल पहले से यूट्यूब पर डाल दिया गया है….यह सब कैसे हुआ…? जाहिर है PM को सड़क पर घेरने की साजिश की जा सकती है…. इसकी इंटेलिजेंस रिपोटर्स पहले से ही थी। ये वीडियो सालभर से यूट्यूब पर है तो इसकी पूरी जानकारी पंजाब पुलिस और उसके इंटेलिजेंस विभाग को भी रही होगी….वीडियो में जो दिख रहा है उससे अपने आप ही पता चलता है कि पुलों के ऊपर खास निगरानी और सावधानी बरतने की जरूरत थी क्योंकि इसी पर गाड़ियों को अड़ाने का प्लान वीडियो में दिख रहा है…

खैर अब विपक्षी दल कह रहे हैं कि प्रधानमंत्री को कोई खतरा वहां नहीं था…आज कथित किसान संगठनों की तरफ से भी बयान आया है और कहा गया है कि…. ” उनकी तरफ से पहले से निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार 5 जनवरी को पंजाब के हर जिले और तहसील मुख्यालय पर शांतिपूर्ण विरोध किया गया। जब पुलिस प्रशासन द्वारा कुछ किसानों को फिरोजपुर जिला मुख्यालय जाने से रोका गया तो उन्होंने कई जगह सड़क पर बैठ कर इसका विरोध किया। प्रदर्शनकारी किसानों को इसकी कोई पुख्ता सूचना नहीं थी कि प्रधानमंत्री का काफिला वहां से गुजरने वाला है।…..यह गजब का बयान किसानों के नाम पर आया है….. हद है…. अब इस बयान का कोई फायदा उनको मिलता नहीं दिख रहा है…

Read More: OMICRON पर बड़ा UPDATE; अब लोगों को घबराने की ज़रूरत नहीं
खैर इस साजिश के वीडियो के सामने आ जाने के बाद किसानों की हमदर्दी पाने के लिए जुटी कांग्रेस के लिए जरा अड़चन शुरू हो रही है… कांग्रेस सरकार ये नहीं कह सकती उसे इस वीडियो की जानकारी नहीं थी…. अभी तो पंजाब के सत्ताधारी दल कांग्रेस को यह भी जवाब देना है कि प्रधानमंत्री के आने पर उनकी अगुवानी के लिए सीएम या डीजीपी या चीफ सेक्रेटरी क्यों नहीं पहुंचे… जबकि प्रोटोकॉल के मुताबिक उन तीनों को वहां होना चाहिए था…. PM के काफिले के साथ भी डीजीपी और चीफ सेक्रेटरी को होना था पर वे वहां नहीं थे….धोखा देने के लिए सिर्फ उनकी खाली गाड़ी काफिले में दौड़ रही थी….

Read More: PM Narendra Modi ने किया Kashi Vishwanath Corridor का शुभारंभ, Varanasi की पहचान गलियां टूटीं | The Sanjay Show
यह सब कुछ ऐसे तथ्य हैं जो कांग्रेस की मुसीबतें बढ़ाने वाले हैं….इस वीडियो के आने के बाद अब सीन कुछ बदल गया है…कल तक कांग्रेस को इस घटना से पंजाब में किसानों की कुछ हमदर्दी मिलने का चांस दिख रहा था पर इस वीडियो के आने के बाद बाकी देश में कांग्रेस की किरकिरी हो गई है….माना जा रहा है कि इस षडयंत्र को देखने के बाद पंजाब में भी कुछ हिन्दू वोटर्स मोदी के साथ जुड़ सकते हैं….
पंजाब में कांग्रेस की सरकार गई तो वह किसानों की बड़ी हमदर्द बनने की कोशिश करेगी और रही तो प्रधानमंत्री के काफिले को रोकने का श्रेय लेने की कोशिश करेगी…ये हम पहले ही कह चुके हैं पर इस वीडियो के आने से पंजाब के भीतर ही एक बड़ा वर्ग सोचने पर मजबूर हो जाएगा कि साजिश का एक हिस्सा कैसे हुबहू करके दिखाया गया…शासन प्रशासन के सहयोग के बिना यह संभव नहीं हो सकता है और शासन में कांग्रेस बैठी है इसलिए उसकी जवाबदेही बनती है….इसीलिए यह अनुमान लगाया जा रहा है कि एक तबका इस बात से कांग्रेस से नाराज होगा…लेकिन फिर भी कांग्रेस नेता जिस तरह की बयानबाजी कर रहे हैं उससे यही लगता है कि वे पंजाब में किसानों का वोट पाने के चक्कर में हैं और धीरे से इस घटना का श्रेय लेने की कोशिश कर रहे हैं….लेकिन यूपी समेत देश के बाकी हिस्से में होने वाले चुनावों में इस वीडियो के कारण बीजेपी को बड़ा लाभ मिलने का भी अनुमान लगाया जा रहा है