These apps of Google Play Store are captured by vicious hackers

गूगल प्ले स्टोर के इन ऐप्स पर शातिर हैकर्स का कब्जा! डाउनलोड कर इंस्टॉल किया तो हो जाएगा अकाउंट साफ

These apps of Google Play Store are captured by vicious hackers गूगल प्ले स्टोर के इन ऐप्स पर शातिर हैकर्स का कब्जा

Edited By: , November 29, 2022 / 08:41 PM IST

Android App virus: एंड्रॉइड जितनें मोबाइल ऐप को डाउनलोड करने की आजादी देता है, उतने शायद कोई अन्य ऑपरेटिंग सिस्टम नहीं देते हैं। लेकिन क्या आपको पता है कि कई सारे एंड्रॉइड एप्स को हैकर अपने कंट्रोल में कर के यूजर्स के डाटा के साथ छेढ़खानी करते हैं। कई बार बैंक अकाउंट से पैसे तक गायब कर देते हैं। ऐसे ही एक मालवेयर का खुलासा हुआ है। एक्सपर्ट की माने तो इस मालवेयर ने 190 एंड्रॉइड ऐफ को निशाना बनाया है। इस मालवेयर का नाम Harly है। जिसने उन 190 ऐप को निशाना बनया है जो 48 हजार से अधिक बार डाउंलोड हो चुके हैं।

 Read More: दीपिका-रणवीर के रिश्ते में आई दरार! रणवीर ने इंटरव्यू में बताया क्या है पूरा माजरा

सायबर सिक्योरिटी फर्म ने बताई ये बात

साइबरसिक्योरिटी फर्म Kaspersky ने अपने ब्लॉग में बताया कि  इस Harly मालवेयर की गहराई से पड़ताल की है। इस मालवेयर का नाम मशहूर कॉमिक विलेन के नाम पर रखा गया है। ये मालवेयर जोकर ट्रोजन की तरह है और गूगल प्ले स्टोर पर मौजूद ऐप को अपना शिकार बनाता है। अब तक गूगल प्ले स्टोर पर मौजूद 190 से ज्यादा ऐप ऐसी हैं जिन्हें Harly मालवेयर ने अपना शिकार बनाया है। संक्रमित ऐप को 48 लाख बार डाउनलोड किया गया है। एक्सपर्ट्स का मानना है कि यह संख्या और भी ज्यादा हो सकती है. लेकिन बड़ा सवाल यह कि Harly Trojan कैसे काम करता है। दरअसल, सबसे पहले गूगल प्ले स्टोर पर मौजूद किसी ऐप को डाउनलोड किया जाता है। इसके बाद उसमें खतरनाक कोड डाले जाते हैं और ऐप को किसी दूसरे नाम से गूगल प्ले स्टोर पर फिर से अपलोड किया जाता है।

Read More: Sharadiya Navratri 2022: नवरात्र में व्रत के दौरान दही का सेवन करने वाले हो जाएं सावधान! यहां जान लें सही नियम 

ऐसे गायब कर देता है पैसे

Harly Trojan एक अदृश्य विंडो में सब्सक्रिप्शन एड्रेस खोलता है। इसमें यूजर का फोन नंबर डाला जाता है और खुद जरूरी बटन दबते हैं। SMS में आए कंफर्मेशन कोड को भी ये मालवेयर एंटर कर देता है। ऐसा करने पर पेड सब्सक्रिप्शन प्लान चालू हो जाता है और यूजर को पता भी नहीं लगता।इतना ही नहीं ये फोन कॉल से भी कंफर्मेशन हासिल कर सकता है। इसलिए यूजर्स को किसी भी ऐप को डाउनलोड करने से पहले उसकी रेटिंग और रीव्यू जरूर जांच लेने चाहिए।

Read More: ये है दुनिया का सबसे बड़ा यूट्यूब चैनल, जिसके पास है 225 Million से ज्यादा Subscriber