घड़ियाली आंसू बहा रहे CM ! भूपेश बघेल के जेल जाने वाले बयान पर पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह ने कसा तंज |

घड़ियाली आंसू बहा रहे CM ! भूपेश बघेल के जेल जाने वाले बयान पर पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह ने कसा तंज

raman singh attack on bhupesh baghel statements: पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह ने तन्ज कसा है । उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री को यह बताना चाहता हूं कि उसने भेंट मुलाकात में घड़ियाली आंसू बहने का कार्य किया है । राजनांदगांव में उन्होंने झूठ बोला है ।

Edited By: , November 29, 2022 / 07:55 PM IST

raman singh attack on bhupesh baghel statements: रायपुर। छत्तीसगढ़ में राजनीति गर्म है अब सीधी बयानबाजी सीएम और पूर्व सीएम के बीच जारी है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के इस बयान पर जिसमें उन्होंने कहा था कि “रमन सिंह ने अपने कार्यकाल में उन्हें जेल भिजवाया, परिवार वालों को प्रताड़ित किया और अब दिल्ली से प्रताड़ित कर रहे है” पर पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह ने तन्ज कसा है । उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री को यह बताना चाहता हूं कि उन्होंने भेंट मुलाकात में घड़ियाली आंसू बहाने  का कार्य किया है । राजनांदगांव में उन्होंने झूठ बोला है ।

READ MORE: भ्रष्ट विधायकों को खरीदकर सरकार बना ली | 20 Minute 100 News | MP-CG Latest News

रमन सिंह ने कहा कि उस दिन भूपेश जी को नहीं बुलाया गया था, कोई समन जारी नहीं किया गया न ही उन्हें और न ही उनके परिवार को बुलाया गया । रमन सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री कह रहे मुझे जेल भेजा गया, आपने ऐसा कार्य किया कि जेल जाना पड़ा, सुप्रीम कोर्ट में इसका मामला चल रहा है, जल्द इसमें फैसला आएगा । मुख्यमंत्री राजनांदगांव में जाकर जबरदस्ती की सहानुभूति बटोर रहे हैं ।

READ MORE:  #NindakNiyre: ओम माथुर के तीन दिन में तीन बयान भाजपा की तीन चुनौतियों पर कर रहे प्रहार, जानिए पूरा विश्लेषण

सीएम भूपेश बघेल द्वारा BJP प्रदेश प्रभारी ओम माथुर पर कसे गए तंज पर पूर्व सीएम रामन सिंह ने पलटवार करते हुए कहा कि भैरवसिंह शेखावत के संग कार्य करने वाले व्यक्ति है ओम माथुर, उनके बारे में सीएम को इस प्रकार की बात नहीं करनी चाहिए । पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह ने कहा कि 4 वर्षों तक मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने गांवों में कोई कार्य नहीं किया है और अब एक मुलाकात के दौरान एक वर्ष का कार्यकाल बचा है तो वादा पर वादा किए जा रहे हैं । उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि आरक्षण में कटौती राजनीतिक षड्यंत्र का नतीजा है । कवासी लखमा के बयान पर पूर्व सीएम ने कहा कि उनकी बात को गंभीरता से नहीं लेना चाहिए ।