2023 की लड़ाई…कितने चेहरे…कितने दावेदार… छत्तीसगढ़ में परिवर्तन के मूड में है केंद्रीय नेतृत्व

कितने चेहरे...कितने दावेदार... छत्तीसगढ़ में परिवर्तन के मूड में है केंद्रीय नेतृत्व! High Command Want to Change in BJP Chhattisgarh?

Edited By: , May 24, 2022 / 01:16 PM IST

रिपोर्ट- सौरभ सिंह परिहार, रायपुर: BJP vs Congress 2023 : के विधानसभा चुनाव में करारी शिकस्त खाने के बाद से एक सवाल भाजपा प्रदेश इकाई में उठाता रहा है। क्या अब परिवर्तन होगा और अब प्रदेश में बीजेपी का चेहरा कौन होगा? अब जबकि बीजेपी 2023 में सत्ता वापसी के लिए कमर कस चुकी है। इस सवाल पर प्रदेश प्रभारी डी पुरंदेश्वरी कह चुकी हैं कि चेहरा होंगे मोदी और पार्टी चिन्ह कमल। जबकि प्रदेश के शीर्ष नेताओं में से एक पूर्व मंत्री बृजमोहन अग्रवाल कह रहे हैं कि मैं भी एक चेहरा हूं। जबकि पूर्व सीएम की कह चुके हैं मैं भी एक चेहरा हूं। कांग्रेस इस पर चुटकी ले रही है और इसे भाजपा के भीतर गुटबाजी और आपसी होड़ से जोड़कर देख रही है। बड़ा सवाल ये कि भाजपा नेताओं के खुलकर अपनी दावेदारी पेश करने से पार्टी को क्या समझा जाए?

Read More: जबलपुर में खिलौना बैंक की शुरुआत, आंगनबाड़ी केंद्र के गरीब परिवारों के बच्चों को दिए जाएंगे खिलौने 

भाजपा में कई दावेदार

Change in BJP Chhattisgarh? सात बार के विधायक और पूर्व मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने फिर बेबाकी से कहा है कि छत्तीसगढ़ बीजेपी में सीएम पद के कई चेहरे हैं, जिसमें उनका भी चेहरा शामिल है। बृजमोहन अग्रवाल का बयान ऐसे वक्त में आया है जब प्रदेश प्रभारी बार-बार मोदी और कमल के चेहरे पर चुनाव लड़ने की बात कर रही है। इससे पहले पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह भी कह चुके हैं कि बीजेपी के पास बहुत से चेहरे हैं, उसमें एक चेहरा मेरा भी है।

Read More: ‘तारक मेहता का उल्टा चश्मा’ में इस दिन होगी ‘दया बेन’ की वापसी! शो के निर्माता आसित मोदी ने किया खुलासा

कई खेमों में बंटे बीजेपी नेता

वैसे पार्टी में ऐसे नेताओं की कमी नहीं है, जो बीजेपी का चेहरा होने का ख्वाब पालकर रखे हैं। कई खेमों में बंटे बीजेपी नेता अपने-अपने स्तरों से अपनी मौजूदगी का एहसास कराने में जुटे हैं। तो दूसरी ओर बीजेपी हाईकमान भी सर्वे और दूसरे माध्यमों से 2023 के चुनाव के लिए चेहरे की तलाश में जुटी है।

Read More: कुदरत का करिश्मा! दफनाने के एक घंटे बाद कब्र से जिंदा निकली बच्ची, अस्पताल ने बताया था मृत 

असमंजस में केंद्रीय नेतृत्व

तमाम सर्वे और बैठकों के बावजूद छत्तीसगढ़ में सीएम चेहरा प्रोजेक्ट करने को लेकर केंद्रीय नेतृत्व असमंजस में है। इसकी एक बड़ी वजह जाति समीकरण भी हो सकती है। दरअसल पार्टी में ओबीसी और एसटी वर्ग के नेता अपनी बिरादरी से ही मुख्यमंत्री की मांग कई बार कर चुके हैं। 15 साल तक सीएम रहे रमन सिंह सामान्य वर्ग से आते हैं। जबकि कांग्रेस के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ओबीसी वर्ग से आते हैं। बीजेपी भूपेश का कांट ढूंढना भी एक बड़ी चुनौती है। बीजेपी में लगातार चेहरे को लेकर हो रहे बयानबाजी पर सीएम भूपेश भी तंज कस रहे हैं।

Read More: आप भी करते हैं ‘डेटिंग ऐप’ का इस्तेमाल तो हो जाएं सावधान: वीडियो कॉल पर न्यूड वीडियो बनाकर ब्लैकमेल कर रहा था ये गिरोह, 3 गिरफ्तार 

परिवर्तन के मूड में केंद्रीय नेतृत्व

इसी बीच अटकलें लगाई जा रही है कि केंद्रीय नेतृत्व छत्तीसगढ़ में परिवर्तन के मूड में है। अगर ऐसा है तो हाईकमान का फैसला किसके हक में जाएगा ये बड़ा सवाल है।

Read More: घर वालों ने बेटी के लिए ढूंढकर निकाला पुलिस वाला दामाद, लेकिन बारात आने से पहले दूल्हा कर गया कांड, परिजनों के उड़े होश