Today is Children's Day, CM Bhupesh Baghel congratulated the public

सीएम भूपेश बघेल ने प्रदेशवासियों को दी चाचा नेहरु जन्मदिन ‘बाल दिवस‘ की बधाई, अपने संदेश में कही ये बात…

Children's Day 2022 : मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने भारत के प्रथम प्रधानमंत्री भारत रत्न पंडित जवाहर लाल नेहरू के जन्मदिन 14 नवंबर बाल दिवस पर

Edited By: , November 29, 2022 / 08:13 PM IST

रायपुर : Children’s Day 2022 : मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने भारत के प्रथम प्रधानमंत्री भारत रत्न पंडित जवाहर लाल नेहरू के जन्मदिन 14 नवंबर बाल दिवस पर सभी बच्चों सहित प्रदेशवासियों को बधाई दी है। बाल दिवस की पूर्व संध्या पर जारी अपने बधाई संदेश में उन्होंने कहा है कि पंडित नेहरू को बच्चे बहुत प्रिय थे। बच्चे भी उन्हें प्यार से चाचा नेहरू कहते थे। इसी स्नेह और प्रेम के कारण पंडित नेहरू का जन्मदिन बाल दिवस के रूप में मनाया जाता है।

यह भी पढ़ें : भानुप्रतापपुर उपचुनाव : कांग्रेस चुनाव समिति की अहम बैठक आज, प्रत्याशी के नाम पर होगी चर्चा 

देश के भावी निर्माता होते हैं बच्चे

Children’s Day 2022 : सीएम बघेल ने कहा कि बच्चे देश के भावी निर्माता होते हैं। एक मजबूत पीढ़ी के निर्माण के लिए जरूरी है कि हम बच्चों के शारीरिक, मानसिक, शैक्षिक विकास के साथ नैतिक विकास के बारे में भी सोचें, अपनी संस्कृति और सभ्यता से उनका परिचय कराएं। बाल दिवस बच्चों के पोषण, शिक्षा, विकास और चरित्र निर्माण के लिए सोच-विचार करने और आवश्यक कदम उठाने का दिन है।

यह भी पढ़ें : प्रश्न पत्र लीक करने वाले गिरोह का भंडाफोड़, व्हाट्सएप से भेजी गई थी आंसर शीट, पेपर रद्द… 

पंडित नेहरू के पदचिन्हों पर चलते हुए सरकार ने लिए है कई निर्णय

Children’s Day 2022 : मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार ने पंडित नेहरू के पदचिन्हों पर चलते हुए कई निर्णय लिए हैं। बच्चों को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा देने के लिए स्वामी आत्मानंद अंग्रेजी माध्यम स्कूल शुरू किए गए हैं। इसी तर्ज पर हिन्दी मीडियम स्कूल भी शुरू किये जा रहे हैं। बच्चों में कुपोषण को दूर करने के लिए प्रदेश में मुख्यमंत्री सुपोषण योजना शुरू की गई है। इससे लगभग दो लाख से ज्यादा बच्चे कुपोषण से मुक्त हो गए हैं।

यह भी पढ़ें : सरकार के खिलाफ प्रदर्शन करने वालों की खैर नहीं ! कोर्ट ने एक प्रदर्शनकारी को दी सजा ए मौत… 

आंगनबाड़ियों में शुरू हुई प्रारंभिक औपचारिक शिक्षा की व्यवस्था

Children’s Day 2022 : उन्होंने कहा कि आंगनबाड़ियों में बच्चों की प्रारंभिक औपचारिक शिक्षा की व्यवस्था शुरू की गई है। छत्तीसगढ़ में कोरोना संक्रमण से माता-पिता को खोने वाले बच्चों की शिक्षा-दीक्षा के लिए महतारी दुलार योजना शुरू की गई है। दूसरी संतान बालिका होने पर उसके पालन-पोषण के लिए राज्य सरकार द्वारा कौशल्या मातृत्व योजना शुरू की गई है। सीएम बघेल ने कहा है कि बच्चों का भविष्य सुंदर बनाना हम सब की जिम्मेदारी है।

IBC24 की अन्य बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करें