जंगली हाथी के हमले में दो ग्रामीणों की मौत, गांवों में मुनादी कर ग्रामीणों को किया जा रहा सतर्क

छत्तीसगढ़ में जंगली हाथी के हमले में दो ग्रामीणों की मौत

Edited By: , September 13, 2021 / 03:17 PM IST

महासमुंद, 13 सितंबर । छत्तीसगढ़ के महासमुंद जिले में जंगली हाथी के हमले में दो ग्रामीणों की मौत हो गई। महासमुंद जिले के वन विभाग के अधिकारियों ने सोमवार को बताया कि महासमुंद वन परिक्षेत्र में रविवार रात जंगली हाथी के हमले में राजू विश्वकर्मा (55) और परमेश्वर (35) की मौत हो गई।

अधिकारियों ने बताया कि रविवार देर रात मोटरसाइकिल पर सवार होकर तीन ग्रामीण महादेव पठार से महासमुंद जिला मुख्यालय की ओर आ रहे थे। इस दौरान जब वह गौरखेड़ा गांव के करीब पहुंचे तब जंगली हाथी ने उन पर हमला कर दिया। उन्होंने बताया कि हाथियों के हमले के बाद मोटरसाइकिल साइकल सवार दो व्य​क्तियों ने वहां से भाग कर अपनी जान बचाई वहीं राजू विश्वकर्मा को जंगली हाथी ने कुचलकर मार डाला।

read more:  कोविड-19 : आगे लॉकडाउन की संभावना नहीं है लेकिन सर्दियों में कुछ प्रतिबंध संभव हैं

अधिकारियों ने बताया कि विश्वकर्मा पर हमले के बाद हाथी वहां से चला गया और करीब के झालखम्हारिया गांव में पहुंच गया। वहां गांव के बाहर तीन युवक खेत की रखवाली कर रहे थे। उन्होंने बताया कि जंगली हाथी जब वहां पहुंचा तब दो युवक वहां से भाग गए लेकिन परमेश्वर नहीं भाग पाया और हाथी ने उसे कुचलकर मार डाला।

read more:  केंद्र राज्यों को पराली प्रबंधन को पूसा बायो-डीकंपोजर का अनिवार्य इस्तेमाल का निर्देश दे: केजरीवाल

अधिकारियों ने बताया कि घटना की जानकारी मिलने के बाद घटनास्थल के लिए वन विभाग के दल को रवाना किया गया तथा शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया। उन्होंने बताया कि मृत ग्रामीणों ​के परिजनों को 25—25 हजार रूपए की तत्कालिक आर्थिक सहायता राशि दी गई है। अधिकारियों ने बताया कि क्षेत्र में जंगली हाथी के विचरण की सूचना के बाद गांवों में मुनादी कर ग्रामीणों को सतर्क किया जा रहा है।