Beggars open  bank deposit money found in begging in Muzaffarpur Bihar

Amazing news: भिखारियों ने खोला ‘बैंक’, भीख में मिले पैसे को करते हैं जमा, लोन के साथ ही जमा रकम पर मिलती है ब्याज

Amazing news: जी हां, सुनने में अजीब जरूर लग रहा होगा, पर ये सौ प्रतिशत सच है। देश मेंं इस तरह का बैंक खुल चुका है। देश में पहलीबार ...

Edited By: , August 10, 2022 / 11:01 PM IST

Amazing news: जी हां, सुनने में अजीब जरूर लग रहा होगा, पर ये सौ प्रतिशत सच है। देश मेंं इस तरह का बैंक खुल चुका है। देश में पहलीबार भिखारियों का बैंक खुल चुका है। जहां सस्ते दर पर भिखारियों को लोग मिलता है। वह भी सस्ते ब्याद दर पर। दरअसल, बिहार के मुजफ्फरपुर में भिखारियों ने खुद का अनोखा ‘बैंक’ खोल रखा है। भिखारी भीख में मिले पैसे यहां जमा करते हैं। इस रकम पर उन्हें ब्याज भी दिया जाता है। जरूरत पड़ने पर भिखारियों को कर्ज भी दिया जाता है। इस ग्रुप के सदस्य भिखारियों के अलावा आर्थिक रूप से कमजोर तबके के लोग भी हैं। इनमें ठेला और रिक्शा चलाने वाले लोग शामिल हैं।

स्थानीय महिला ललिता देवी ने बताया कि रुपये कम होने के कारण वह बेटी की शादी नहीं कर पा रही थी। ऐन मौके पर भिखारियों के बैंक से 20 हजार रुपए का लोन मिल गया, जिससे उनकी परेशानी खत्म हो गई। आपस में समूह के लोग जरूरत पड़ने पर कर्ज भी देते हैं। यहां से मिले लोन से कुछ महीने पहले शेरपुर ढाब के दिनेश सहनी, अखाड़ाघाट की ललिता देवी और सिकंदरपुर के मोहन राय ने अपने बच्चों की शादिया कीं। दो अन्य परिवारों ने बीमार बेटों का इलाज कराया।

यह भी पढ़ेंः  इन बच्चों को इंटर्नशिप के लिए मिलेगी राशि, किसानों को बिना ब्याज के लोन की सौगात, कैबिनेट ने कई अहम प्रस्तावों को दी मंजूरी

इस ‘बैंक’ की संचालन की प्रक्रिया कुछ ऐसी है। 175 भिखारियों ने अलग-अलग पांच सेल्फ हेल्प ग्रुप बना रखा है। इस सेल्फ हेल्प ग्रुप की हर रविवार को अलग-अलग निश्चित जगहों पर बैठक होती है। मीटिंग में भविष्य के योजनाओं को लेकर प्लानिंग की जाती है। तुलसी समूह की सचिव विभा देवी ने बताया कि दस लोगों का हमारा ग्रुप है। एक वर्ष से ज्यादा से समूह का संचालन किया जा रहा है। आज समूह के पास करीब 20 हजार रुपये है। जरूरत परने पर एक रुपये सैकड़े के हिसाब से ब्याज लिया जाता है।

यह भी पढ़ेंः  प्रदेश में कांग्रेस की भारत जोड़ो यात्रा की तैयारियां शुरू, पार्टी के ये दिग्गज नेता होंगे शामिल

मुजफ्फरपुर में संचालित बैंक (सेल्फ हेल्प ग्रुप):

प्रेमशीला समूह, मोतीपुर कुष्ठ ग्राम-सदस्यों की संख्या (15), बचत राशि- 9600 रुपये
तुलसी समूह, सिकंदरपुर- सदस्यों की संख्या (14), बचत राशि- 8960 रुपये
लक्ष्मी समूह, अखाड़ाघाट-सदस्यों की संख्या (13), बचत राशि- 25350 रुपये
गायत्री समूह, शेखपुर ढाब- सदस्यों की संख्या (15), बचत राशि- 6600 रुपये
मां दुर्गा समूह, शेखपुर ढाब- सदस्यों की संख्या (15), बचत राशि- 6600 रुपये

और भी है बड़ी खबरें…