हिमाचल में प्रतिभा सिंह के नेतृत्व में चुनाव लड़ रही है कांग्रेस : सुक्खू |

हिमाचल में प्रतिभा सिंह के नेतृत्व में चुनाव लड़ रही है कांग्रेस : सुक्खू

हिमाचल में प्रतिभा सिंह के नेतृत्व में चुनाव लड़ रही है कांग्रेस : सुक्खू

:   Modified Date:  April 8, 2024 / 08:08 PM IST, Published Date : April 8, 2024/8:08 pm IST

शिमला, आठ अप्रैल (भाषा) हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू ने सोमवार को कहा कि प्रतिभा सिंह कांग्रेस की राज्य इकाई की अध्यक्ष हैं और पार्टी यहां उनके नेतृत्व में लोकसभा चुनाव लड़ रही है।

मंडी से सांसद प्रतिभा सिंह मांग करती रही हैं कि 2022 के विधानसभा चुनावों में कांग्रेस की जीत सुनिश्चित करने के लिए काम करने वाले पार्टी कार्यकर्ताओं को सरकार में शामिल किया जाना चाहिए।

प्रतिभा सिंह ने पार्टी कार्यकर्ताओं के हतोत्साहित होने का दावा करते हुए लोकसभा चुनाव लड़ने से भी इनकार कर दिया था, लेकिन बाद में वह अपने रुख को लेकर नरम पड़ गईं और कहा कि वह आलाकमान के निर्देशों का पालन करेंगी।

सुक्खू ने कांगड़ा में संवाददाताओं से कहा, ‘‘प्रतिभा सिंह हमारी प्रदेश अध्यक्ष हैं और हम उनके नेतृत्व में चुनाव लड़ रहे हैं। कांग्रेस ने पिछले 15 महीने में राज्य के लोगों के कल्याण के लिए काम किया है और वित्तीय तथा राजनीतिक चुनौतियों से निपटने का प्रयास किया है। ’’

सुक्खू ने निष्कासित विधायक सुधीर शर्मा की उनके खिलाफ आपराधिक मानहानि की शिकायत के बारे में पूछे जाने पर कहा, ‘‘हमारे पास इस बात के तथ्य हैं कि बागी विधायकों ने अपनी आत्मा बेच दी है।’’

कांग्रेस से निष्कासित सुधीर शर्मा अब विधानसभा उपचुनाव में धर्मशाला सीट से भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के उम्मीदवार हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘ बिकाऊ विधायक चले गए हैं जिनके सरगना कांगड़ा जिला से हैं… हो सकता है कि उन्हें 15 करोड़ रुपये से अधिक मिले होंगे। अब कोई अन्य विधायक बिकाऊ नहीं हैं। देवभूमि हिमाचल प्रदेश की संस्कृति और कांग्रेस की विचारधारा में विश्वास रखने वाले विधायक हमारे साथ हैं। ’’

सुक्खू ने यह भी दावा किया कि हिमाचल प्रदेश में कांग्रेस सरकार स्थिर है।

मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘जो विधायक बिकाऊ थे, वे चले गए हैं और हमारे पास इसे साबित करने के लिए तथ्य हैं, जिन्हें जनता के सामने लाया जाएगा।’’

सुक्खू ने यह भी दावा किया कि भाजपा कांग्रेस की विधानसभा चुनाव गारंटी को लेकर दुष्प्रचार कर रही है।

उन्होंने कहा कि गारंटी को पूरा किया जा रहा है और पुरानी पेंशन योजना की बहाली, महिलाओं को 1,500 रुपये प्रति माह का मानदेय देने के लिए फॉर्म भरे जा रहे हैं तथा हिमाचल प्रदेश दूध के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य देने वाला पहला राज्य बन गया है।

पार्टी व्हिप का उल्लंघन करने के कारण विधानसभा की सदस्यता से अयोग्य ठहराए गए सुधीर शर्मा ने कुछ दिन पहले सुक्खू को उनकी टिप्पणी के लिए पांच करोड़ रुपये के हर्जाने की मांग करते हुए मानहानि का नोटिस भेजा था। रविवार को शर्मा ने मुख्यमंत्री के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने की मांग की।

हिमाचल प्रदेश में लोकसभा की चार सीट के साथ ही विधानसभा की छह सीट के लिए उपचुनाव एक जून को होंगे।

भाषा रवि कांत अविनाश

अविनाश

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

Flowers