CWC की बैठक में कांग्रेस का बड़ा आरोप, 'चीन ने हमारे हिस्से में ढांचा खड़ा करने की कोशिश' | Congress's big charge at CWC meeting, 'China tries to build structure on our part'

CWC की बैठक में कांग्रेस का बड़ा आरोप, ‘चीन ने हमारे हिस्से में ढांचा खड़ा करने की कोशिश’

CWC की बैठक में कांग्रेस का बड़ा आरोप, 'चीन ने हमारे हिस्से में ढांचा खड़ा करने की कोशिश'

: , March 11, 2021 / 02:40 PM IST

नईदिल्ली। भारत और चीन के सैनिकों के बीच हुई हिंसक झड़प के बाद की स्थिति पर चर्चा करने के लिए कांग्रेस ने कांग्रेस कार्यसमिति (CWC) की अहम बैठक बुलाई थी जिसमें 3 प्रस्ताव पास किए गए। बैठक में कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कहा कि चीन ने हमारी जमीन पर कब्जा किया। कांग्रेस ने कहा कि चीन ने हमारे हिस्से में ढांचा खड़ा करने की कोशिश की। प्रधानमंत्री के शब्दों से चीन के षडयंत्रकारी रवैये को बल मिला है।

ये भी पढ़ें: चीनी सेना पीछे हटने को तैयार, लेफ्टिनेंट कमांडर स्तर की बातचीत में …

कांग्रेस कार्यसमिति में केंद्र सरकार से 5 सवाल भी पूछे गए, कांग्रेस ने पूछा कि अप्रैल-मई 2020 से अब तक गलवान घाटी और पैंगोंग त्सो झील में हमारी सरजमीं पर चीनी सेना द्वारा कितनी बार घुसपैठ की गई है व घुसपैठ की कोशिश की गई और प्रधानमंत्री ने सर्वदलीय बैठक में यह क्यों कहा कि ‘हमारी सरजमीं पर किसी ने घुसपैठ नहीं की’ समेत 5 सवालों के जवाब मांगे गए।

ये भी पढ़ें: पतंजलि ने लॉन्च किया कोरोना की दवा, बाबा रामदेव ने कहा- ट्रायल में …

कांग्रेस ने आरोप लगाया कि चीन के साथ गतिरोध पर प्रधानमंत्री का बयान कुछ और विदेश मंत्रालय का कुछ और है। कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा कि कांग्रेस ने मई से लेकर आज तक अनेकों बार चीन की घुसपैठ के विरुद्ध हमारी भूभागीय अखंडता की रक्षा एवं सुरक्षा का मामला उठाया है, लेकिन सरकार एवं सरकार के सहयोगियों ने प्रत्युत्तर में केवल हर बात को खारिज करने, गुमराह करने व भ्रमित करने की नीति अपनाई ।

ये भी पढ़ें: चीन विवाद पर सरकार को घेरने की रणनीति बनाएगी कांग्रेस, आज वर्किंग क…

उन्होंने कहा कि मई, 2020 की शुरुआत से ‘भारतीय सेना की सामान्य पैट्रोलिंग को बाधित करने’ मई, 2020 के मध्य से चीन द्वारा ‘भारत-चीन सीमावर्ती इलाकों के पश्चिमी सेक्टर के अन्य इलाकों में एलएसी को पार कर घुसपैठ करने, 6 जून, 2020 के बाद चीनियों द्वारा ‘गलवान घाटी में एलएसी को पार कर हमारे हिस्से में ढांचा खड़ा करने’ के बारे में बार-बार बयान दिए गए। जबकि इन आधिकारिक बयानों के विपरीत, प्रधानमंत्री ने 19 जून, 2020 को कहा कि ‘भारतीय सीमा में किसी ने घुसपैठ की ही नहीं।’ उसके अगले ही दिन, 20 जून की शाम को विदेश मंत्रालय ने एक बयान जारी कर एक बार फिर प्रधानमंत्री के बयान का खंडन कर दिया।

ये भी पढ़ें: पंजाब नेशनल बैंक में दिन दहाड़े डकैती, 52 लाख 33 हजार लूटकर फरार हु…

कांग्रेस कार्यसमिति ने आज इस मसले पर 3 प्रस्ताव भी पास किए, पहला, हम अपने सैनिकों द्वारा सर्वोच्च बलिदान को सलाम करते हैं, दूसरा, हम अपने सशस्त्र बलों पर उनकी बहादुरी और साहस के लिए गर्व करते हैं और तीसरा, चीनी घुसपैठ को स्वीकार नहीं किया जा सकता। कांग्रेस कार्यसमिति ने यह भी कहा कि इस पूरे प्रकरण में सरकार की प्रतिक्रिया इनकार और दिग्भ्रमित करने की रही है।

 

#HarGharTiranga