Gujarat Assembly Elections 2022 Kejriwal made big announcement for businessmen

Gujarat Assembly Elections: केजरीवाल देंगे कारोबारियों को बड़ी सौगात, सूरत को लेकर किया ये बड़ा वादा

Gujarat Assembly Elections 2022 : केजरीवाल देंगे कारोबारियों को बड़ी सौगात, सूरत को लेकर किया ये बड़ा वादा

Edited By: , November 29, 2022 / 08:13 PM IST

सूरत: Gujarat Assembly Elections 2022 : दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने रविवार को सूरत के कपड़ा व्यापारियों से कहा कि आम आदमी पार्टी (आप) गुजरात में सत्ता में आने पर निर्यातोन्मुखी एकीकृत कपड़ा पार्क और हजारों नौकरियों के सृजन के साथ शहर को देश का ‘वस्त्र उत्पादन केंद्र’ बनाएगी। अगले महीने होने वाले गुजरात विधानसभा चुनाव के प्रचार अभियान के तहत शहर के कपड़ा कारोबारियों से बातचीत करते हुए आप के राष्ट्रीय संयोजक ने कहा कि अगर पार्टी सत्ता में आती है तो बकाया भुगतान में धोखाधड़ी के मामलों से बचाने के लिए आप सरकार एक विशेष कानून लाएगी।

केजरीवाल ने कहा कि उनकी पार्टी सत्ता में आने पर ‘छापेमारी के राज और भय’ को हटा देगी। उन्होंने कहा, ‘‘ आप सूरत को न सिर्फ गुजरात बल्कि पूरे देश का गारमेंट हब बनाएगी। एक नया एकीकृत कपड़ा पार्क बनाया जाएगा जो पूरी तरह से निर्यातोन्मुख होगा। आपको टैक्स ब्रेक, इंसेंटिव और अन्य सुविधाएं मिलेंगी। ’’

केजरीवाल ने कहा, ‘‘ कपड़ा इकाइयों को बुनियादी ढांचा मिलेगा और बिजली की दरें कम होंगी। आप सरकार हजारों रोजगार सृजित करने और उच्च निर्यात के लिए सभी सुविधाएं मुहैया कराएगी। हम कर निरीक्षकों के हाथों होने वाले छापेमारी राज और उत्पीड़न को रोकेंगे। ’’ उन्होंने कहा कि व्यापारी अपने परिवारों के लिए कमाने, करों का भुगतान करने, दान देने और समाज का समर्थन करने के लिए 24/7 काम करते हैं।

Read More : आज मीन राशि वाले जातक हो जाएंगे मालामाल, जमकर बरसेगी महादेव की कृपा, होगी पैसों की बारिश

केजरीवाल ने कहा कि आम आदमी पार्टी के सत्ता में आने पर व्यापारियों का डर दूर होगा और समुदाय को सम्मान मिलेगा। बकाये के भुगतान में धोखाधड़ी रोकने का वादा करते हुए केजरीवाल ने कहा, ‘‘ भुगतान की यह समस्या अकेले सूरत या गुजरात की नहीं बल्कि पूरे देश की है। इसके लिए हम सूरत की जनता के साथ मिलकर नया कानून लाएंगे जो देश को नयी राह दिखाएगा। ’’

उन्होंने व्यापारियों को 25 लाख रुपये से बढ़ाकर एक करोड़ रुपये की सीमा के साथ लघु, कुटीर एवं मध्यम उपक्रम (एमएसएमई) लाभ और आसान ऋण देने का भी वादा किया। उन्होंने कहा, ‘‘वस्तु एवं सेवा कर की दरों ने काफी परेशानी पैदा की है। हम इस मुद्दे को केंद्र के समक्ष उठाएंगे। इसे लागू करने के लिए हम कठिनाइयों को आसान बनाने और भ्रष्टाचार को दूर करने के लिए एकल प्रणाली बनाएंगे। ’’ गुजरात में एक और पांच दिसंबर को दो चरणों में मतदान होगा जबकि आठ दिसंबर को मतगणना होगी।

IBC24 की अन्य बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करें