दिल्ली में गर्मी ने सारे रिकॉर्ड तोड़े, मुंगेशपुर में अधिकतम तापमान 52.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज |

दिल्ली में गर्मी ने सारे रिकॉर्ड तोड़े, मुंगेशपुर में अधिकतम तापमान 52.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज

दिल्ली में गर्मी ने सारे रिकॉर्ड तोड़े, मुंगेशपुर में अधिकतम तापमान 52.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज

:   Modified Date:  May 29, 2024 / 06:18 PM IST, Published Date : May 29, 2024/6:18 pm IST

(फोटो के साथ)

नयी दिल्ली, 29 मई (भाषा) दिल्ली में बुधवार को गर्मी ने सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए और यहां मुंगेशपुर इलाके में अधिकतम तापमान 52.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। यह राष्ट्रीय राजधानी में अब तक दर्ज किया गया सर्वाधिक तापमान है। अधिकारियों ने यह जानकारी दी।

उत्तर-पश्चिमी दिल्ली में स्थित मुंगेशपुर में मंगलवार को अधिकतम 49.9 डिग्री सेल्सियस तापमान दर्ज किया गया था।

मौसम विभाग की वेबसाइट के अनुसार एक दिन बाद तापमान में और वृद्धि हुई तथा मौसम विज्ञान केंद्र ने शाम चार बजकर 14 मिनट पर अधिकतम तापमान 52.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया।

आईएमडी के एक अधिकारी ने ‘पीटीआई-भाषा’ को बताया कि यह दिल्ली में अब तक दर्ज किया गया सर्वाधिक तापमान है।

भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) के क्षेत्रीय प्रमुख कुलदीप श्रीवास्तव ने लगातार बढ़ रहे तापमान का कारण बताते हुए कहा कि दिल्ली के बाहरी इलाके राजस्थान से आने वाली गर्म हवाओं की चपेट में आने वाले पहले क्षेत्र हैं।

कुलदीप श्रीवास्तव ने कहा, ‘‘ दिल्ली के कुछ हिस्से इन गर्म हवाओं के जल्दी आने से खास तौर पर प्रभावित होते हैं, जिसके परिणामस्वरूप पहले से ही खराब मौसम और भी खराब हो जाता है। मुंगेशपुर, नरेला और नजफगढ़ जैसे इलाके इन गर्म हवाओं का सबसे पहले असर महसूस करते हैं।’’

निजी मौसम विज्ञान एजेंसी ‘स्काईमेट वेदर’ के मौसम विज्ञान एवं जलवायु परिवर्तन विभाग के उपाध्यक्ष महेश पलावत ने कहा, ‘‘खाली पड़ी जमीन वाले खुले इलाकों में विकिरण अधिक होता है। सीधी धूप और छाया की कमी के कारण ये इलाके बेहद गर्म हो जाते हैं। जब पश्चिम से हवा चलती है तो सबसे पहले इन इलाकों पर उसका असर पड़ता है। चूंकि, ये क्षेत्र दिल्ली के बाहरी इलाकों में हैं, इसलिए यहां तापमान तेजी से बढ़ता है।’’

इस बीच, चिलचिलाती धूप और भीषण गर्मी के बीच राष्ट्रीय राजधानी में बिजली की अधिकतम मांग बुधवार को अपने अबतक के उच्चतम स्तर 8,302 मेगावाट पर पहुंच गई।

दिल्ली के इतिहास में पहली बार बिजली की अधिकतम मांग ने 8,300 मेगावाट का आंकड़ा पार किया है। बिजली वितरण कंपनियों ने इस साल की गर्मियों में अधिकतम मांग का आंकड़ा 8,200 मेगावाट तक रहने का अनुमान लगाया था।

वास्तविक समय पर बिजली खपत संबंधी ब्योरा दर्ज करने वाले स्टेट लोड डिस्पैच सेंटर (एसएलडीसी), दिल्ली के मुताबिक, शहर में बिजली की अधिकतम मांग अपराह्न तीन बजकर 36 मिनट पर 8,302 मेगावाट रही।

भाषा रवि कांत रवि कांत पवनेश

पवनेश

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

Flowers