राजस्थान में भीषण गर्मी जारी, पिलानी में अधिकतम तापमान 48.2 डिग्री रहा |

राजस्थान में भीषण गर्मी जारी, पिलानी में अधिकतम तापमान 48.2 डिग्री रहा

राजस्थान में भीषण गर्मी जारी, पिलानी में अधिकतम तापमान 48.2 डिग्री रहा

:   Modified Date:  May 29, 2024 / 07:29 PM IST, Published Date : May 29, 2024/7:29 pm IST

जयपुर, 29 मई (भाषा) राजस्थान में भीषण गर्मी का दौर बुधवार को भी जारी रहा जहां पिलानी में अधिकतम तापमान 48.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) के अनुसार, बीते चौबीस घंटे में कई जगह अधिकतम तापमान में 1-3 डिग्री सेल्सियस की कमी आई है।

मौसम केंद्र जयपुर के अनुसार, बुधवार को पिलानी में अधिकतम तापमान 48.2 डिग्री, चुरू में 47.7 डिग्री, अलवर में 47.5 डिग्री, वनस्थली में 47.2 डिग्री, फलोदी में 47.0 डिग्री, गंगानगर में 46.9 डिग्री व राजधानी जयपुर में 46.0 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

लगभग समूचा राजस्थान कई दिनों भीषण गर्मी की चपेट में है और मौसम विभाग के अनुसार 31 मई से लू की तीव्रता में कमी होने की संभावना है।

राज्य में 31 मई से दो जून तक जयपुर, बीकानेर, भरतपुर संभाग के कुछ भागों में आंधी बारिश की संभावना है। राज्य में एक जून से भीषण गर्मी से राहत मिलेगी और अधिकांश भागों में अधिकतम तापमान 45 डिग्री सेल्सियस से नीचे आएगा।

इस बीच चिकित्सा व स्वास्थ्य विभाग ने भीषण गर्मी को देखते हुए अस्पतालों में आवश्यक प्रबंध सुनिश्चित करने के लिए राज्य स्तर से सभी जिलों के लिए प्रभारी अधिकारी नियुक्त किए हैं। इन सभी अधिकारियों को तत्काल प्रभाव से आवंटित जिलों में दौरा करने के निर्देश दिए हैं।

चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग की अतिरिक्त मुख्य सचिव शुभ्रा सिंह ने बताया कि ये सभी प्रभारी अधिकारी अपने-अपने जिलों में संबंधित प्रभारी सचिव से समन्वय स्थापित कर गर्मी के प्रबंधन को लेकर आ रही खामियों का मौके पर ही समाधान कर रिपोर्ट देंगे।

मुख्यमंत्री भजनलाल शर्मा बुधवार को जयपुर में रामनिवास बाग पंप हाउस का औचक निरीक्षण करने पहुंचे।

उन्‍होंने कहा कि आम जनता को पेयजल की सहज उपलब्धता उनकी सरकार की शीर्ष प्राथमिकता है। उन्होंने कहा कि लोगों को बिजली व पेयजल की कोई परेशानी नहीं होने दी जाएगी।

भाषा पृथ्वी नोमान

नोमान

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

Flowers