पीएम मोदी ने देशवासियों को मकर संक्रांति, पोंगल, माघ बिहू की बधाई दी, कहा- उत्तरायण सूर्यदेव जीवन में नई ऊर्जा और नए उत्साह का संचार करें

पीएम मोदी ने देशवासियों को मकर संक्रांति, पोंगल, माघ बिहू की बधाई दी, कहा- उत्तरायण सूर्यदेव जीवन में नई ऊर्जा और नए उत्साह का संचार करें

: , March 11, 2021 / 10:29 PM IST

नई दिल्ली, 14 जनवरी (भाषा) । प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बृहस्पतिवार को मकर संक्रांति, पोंगल और माघ बिहू के अवसर पर देशवासियों को शुभकामनाएं दीं और कामना की कि ये पर्व हर किसी के जीवन में सुख एवं समृद्धि के साथ नयी ऊर्जा और उत्साह का संचार करें।

उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘देशवासियों को मकर संक्रांति की बहुत-बहुत बधाई। मेरी कामना है कि उत्तरायण सूर्यदेव सभी के जीवन में नई ऊर्जा और नए उत्साह का संचार करें।’’

<blockquote
class="twitter-tweet"><p lang="en" dir="ltr">Makar Sankranti
is marked with enthusiasm in several parts of India. This auspicious
festival illustrates India’s diversity and the vibrancy of our
traditions. It also reaffirms the importance of respecting Mother
Nature.</p>&mdash; Narendra Modi (@narendramodi) <a
href="https://twitter.com/narendramodi/status/1349556681408040960?ref_src=twsrc%5Etfw">January
14, 2021</a></blockquote>
<script async src="https://platform.twitter.com/widgets.js"
charset="utf-8"></script>

पोंगल की शुभकामनाएं देते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि यह त्योहार तमिल संस्कृति की सर्वश्रेष्ठ झलक प्रस्तुत करता है।

ये भी पढ़ें- किसानों ने लोहड़ी के मौके पर जलाई नए कृषि क़ानूनों की प्रतियां, संगठन…

उन्होंने कहा, ‘‘यह त्योहार हमें प्रकृति के साथ तालमेल बैठाकर जीने की प्रेरणा देता रहे और हर किसी में करुणा एवं दया का भाव मजबूत करता रहे।’’

माघ बिहू पर प्रधानमंत्री ने देशवासियों के सुख एवं समृद्धि की कामना की। उन्होंने गुजरात के लोगों को उत्तरायण की शुभकामनाएं दीं।

मकर संक्रांति एक ऐसा त्यौहार है जो अलग-अलग राज्यों में अलग-अलग नाम और तरीकों से मनाया जाता है। उत्तर भारत में इसे मकर संक्रांति कहा जाता है। इसे तमिलनाडु में पोंगल के नाम से जाना जाता है। असम में इसे माघ बिहू और गुजरात में इसे उत्तरायण कहते हैं।

ये भी पढ़ें- कोरोना वैक्सीन को लेकर केजरीवाल का बयान- अगर केंद्र दिल्ली में मुफ्…

पंजाब और हरियाणा में इस समय नई फसल का स्वागत किया जाता है और लोहड़ी पर्व मनाया जाता है।इस दिन पतंग उड़ाने का भी विशेष महत्व होता है और लोग बेहद आनंद और उल्लास के साथ पतंगबाजी करते हैं। गुजरात में इस दिन पतंगबाजी के बड़े-बड़े आयोजन किए जाते हैं।