More than 600 mobile towers of this company were stolen

चोरी हो गए इस कंपनी के 600 से अधिक मोबाइल टॉवर, जिओ, एयरटेल जैसी कंपनियों को देती है ये सुविधा

चोरी हो गए इस कंपनी के 600 से अधिक मोबाइल टॉवर! More than 600 mobile towers of this company were stolen in Tamil Nadu

Written By: , June 27, 2022 / 11:54 AM IST

चेन्नई: Chennai mobile towers news कोरोना महामारी ने करोड़ो लोगों का जीवन अस्त व्यस्त कर दिया है। बहुत से लोग क्रिटिकल स्तिथि में जीने को मजबूर हैं और कई लोग तो लापता हो गए। एसे में मोबाइल टावर के लापता होने की ख़बर आश्चर्यचकित करने करने वाली है। भारत के दक्षिण राज्य तमिलनाडु में जीटीएल इन्फ्रास्ट्रक्चर कम्पनी के करीब 600 मोबाइल टावर गायब हो गए हैं। इसकी पुष्टि कंपनी के आला अधिकारियों ने 5G इन्फ्रास्ट्रक्चर के ब्योरे के दौरान की है। जीटीएल इन्फ्रास्ट्रक्चर एक नेटवर्क स्ट्रक्चर सर्विस कम्पनी है, जो कई टेलिकॉम कंपनियों के लिए टावर बनाती है। जिओ, एयरटेल, वो़डाफोन आईडिआ, टाटा कम्युनिकेशन और बीएसएनएल जैसी बड़ी कम्पनियों के लिए यह नेटवर्क स्ट्रक्चर सर्विस देता है।>>*IBC24 News Channel के WhatsApp  ग्रुप से जुड़ने के लिए Click करें*<<

Read More: कुत्ते के बर्थडे पर बुलाए 4 हजार मेहमान!, मालिक ने कटवाया 100 किलो का केक

5G कब तक आएगा भारत में?

mobile towers stolen  भारत में 5G नेटवर्किंग का प्रोजेक्ट 2018 से चल रहा था। भारत सरकार ने हाल ही में देश के 13 बड़े शहरों में 5G नेटवर्किंग का प्रस्ताव रखा है। टेलिकम्युनिकेशन विभाग की मानें तो 2022 के अंत तक निर्धारित इन 13 महानगरों में हाई स्पीड 5G नेटवर्क चालू हो जाएगा। वो 13 नगर अहमदाबाद, बेंगलुरु, चंडीगढ़, चेन्नई, दिल्ली, गांधीनगर, गुरुग्राम, हैदराबाद, जामनगर, कोलकाता, लखनऊ, मुंबई और पुणे हैं।

Read More: CM योगी आदित्यनाथ ने किया शतरंज ओलंपियाड मशाल रिले का स्वागत, कही ये बड़ी बात 

5G की खास बातें क्या है?

5G टेक्नोलॉजी को उपयोग में लाने से पहले हमें 5G के बारे में जान लेना चाहिए। भारत में इस टेक्नोलॉजी को विकसित करने का श्रेय 8 बड़े संस्थानो को जाता है, जिनमें भारतीय प्रोद्यौगिकी संस्थान मुंबई, चेन्नई, दिल्ली, हैदराबाद, कानपुर, भारतीय विज्ञान संस्थान बैंगलोर और एप्लाइड माइक्रोवेव इलेक्ट्रॉनिक्स इंजीनियरिंग एंड रिसर्च (समीर) और वायरलेस टेक्नोलॉजी में उत्कृष्टता केंद्र (सीईडब्ल्यूआईटी) शामिल हैं, जो अगस्त 2018 से 5G टेक्नोलॉजी की चरण दर चरण टेस्टिंग कर रहे थे।

Read More: विधानसभा चुनाव के बाद गायब हुए 41 राजनीतिक दल, अब चुनाव आयोग ने उठाया ये कदम

5G की स्पीड कितनी होगी?

भारतीय टेलिकम्युनिकेशन विभाग की मानें तो 5G नेटवर्क की स्पीड 4G से 10 गुना होगी। 1जीबी प्रति मिनट डाटा का ट्रांसफर होगा । वीडियो और ऑडियो लॉस नहीं होगा। 1 वर्ग किलोमीटर 10 लाख डिवाइस कनेक्ट हो पाएंगी।

Read More: जेनिफर विंगेट ने बनाया ऐसा रिकॉर्ड, दांतो तले उंगली दबा ले बॉलीवुड स्टार…

 

#HarGharTiranga