Prashant kishore has given big statement on mahagatbandhan govt in bihar

प्रशांत किशोर ने CM नीतीश और महागठबंधन पर दिया बड़ा बयान, कहा- इतने दिनों में फिर ….

नीतीश कुमार कुर्सी से चिपक कर बैठ गए हैं। 2014 के नीतीश कुमार और 2022 के नीतीश कुमार में जमीन आसमान का फर्क है। यह सभी बातें प्रशांत किशोर ने शुक्रवार को अपने दरभंगा दौर के दौरान कहीं थी।

Edited By: , August 20, 2022 / 11:36 AM IST

Prashant Kishore Statement: दरभंगा। देश के बड़े राजनीतिक रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने बिहार में बने महागठबंधन और नीतीश कुमार को लेकर बड़ा बयान दिया है। उन्होंने महागठबंधन की सरकार पर निशाना साधते हुए कहा है कि संभव है लोकसभा चुनाव तक ये लोग साथ रहें, लेकिन विधानसभा चुनाव से पहले इसमें फेरबदल संभव है। साथ ही उन्होंने बिहार में लगातार सरकार की अस्थिरता को लेकर भी बयान दिया है। उन्होंने कहा है कि 2012 के बाद से बिहार में ये छठा प्रयोग है जिससे सरकार बदली है। नीतीश कुमार कुर्सी से चिपक कर बैठ गए हैं। 2014 के नीतीश कुमार और 2022 के नीतीश कुमार में जमीन आसमान का फर्क है। यह सभी बातें प्रशांत किशोर ने शुक्रवार को अपने दरभंगा दौर के दौरान कहीं थी।

read more: बढ़ सकती हैं मनीष सिसोदिया की मुश्किलें, CBI के बाद अब ED भी कर सकती है कार्रवाई!

प्रशांत किशोर ने दरभंगा में जन सुराज के कई कार्यक्रमों में हिस्सा लिया और लोगों से जन सुराज की सोच के बारे में संवाद स्थापित किया। उन्होंने कहा कि बिहार को अगर विकसित राज्यों की श्रेणी में खड़ा करना है तो तीन बिंदुओं पर काम करना होगा – “सही लोग, सही सोच और सामूहिक प्रयास”। उन्होंने कहा- “हम 2 अक्टूबर से शुरू हो रहे पदयात्रा के माध्यम से बिहार के हर गांव, प्रखंड में जाना चाहते हैं और हर घर का दरवाजा खटखटाना चाहते हैं ताकि समाज को मथ कर सही लोगों को चिह्नित किया जा सके। ऐसे सभी सही लोगों के माध्यम से हम बिहार के वास्तविक मुद्दों को समझने का प्रयास करेंगे”।

read more: मंगल आरती के दौरान भक्त बेहोश, बेकाबू भीड़ ने ली 2 लोगों की जान

बिहार बने अग्रणी राज्य

पीके ने कहा कि इस पदयात्रा के बाद बिहार के समग्र विकास के लिए 10 सबसे महत्वपूर्ण विषय जैसे शिक्षा, स्वास्थ्य, सड़क, रोजगार आदि पर एक विस्तृत ब्लूप्रिंट जारी करेंगे और उसमे सिर्फ समस्या नहीं गिनाएंगे बल्कि उसका ठोस समाधान भी बताएंगे। ये पूरा ब्लूप्रिंट जमीन पर लोगों से बात कर बनाई जाएगी, इसके बाद भी अगर कोई व्यक्ति इसमें कुछ सुझाव देना चाहते हैं तो वो भी दे सकते हैं।

मुख्यमंत्री बनने के सवाल पर प्रशांत किशोर ने कहा- “मेरा मकसद सीएम या पीएम बनना नहीं है। मैं अपने जीवनकाल में बिहार को देश के अग्रणी राज्यों में देखना चाहता हूं। मैंने देश के कई राज्यों में काम किया है और बिहार उनके मुकाबले बहुत पीछे है। बिहार से कंप्यूटर, स्टील या कोई भी उत्पाद बाहर नहीं जाता है। बिहार से बाहर अगर कुछ जाता है तो वो है अनस्किल्ड लेबर। मैं सत्ता नहीं व्यवस्था परिवर्तन के लिए संघर्ष करने का प्रयास कर रहा हूं”।

IBC24 की अन्य बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करें