IBC Big Breaking: शिंदे कैंप के विधायक ने बताई मुंबई-सूरत से गुवाहाटी तक की पूरी कहानी, संजय राउत की दबंगई ले डूबी उद्धव को, जानिए क्या बोले ये विधायक

Maharashtra Political Crisis: एक विधायक ने बताया, राउत ने ले रखा था सारा काम अपने हाथ में। उद्धव से किसी को नहीं मिलने देते थे।

Edited By: , June 24, 2022 / 12:35 PM IST

बरुण सखाजी

सह-कार्यकारी संपादक, आईबीसी-24

महा विकास अघाड़ी के सामने जो संकट पैदा हुआ है उसके सूत्रधार हैं संजय राउत। संजय राउत के बयानों और काम करने की दबंगई वाली शैली ने आज शिवसेना का यह हस्र किया है। संजय राउत ने एक तरह से पार्टी में की-पोजीशन हथिया रखी थी। वे ही सारे फैसले लेते थे। एनसीपी या कांग्रेस से संवाद का जिम्मा भी उन्हीं के कंधों पर था। अफसरों के स्थानांतरण, सरकारी काम में ठेके  आदि सब संजय राउत से होकर ही रूट होते थे। शिवसेना की ओर से राउत ही एमवीए की पतवार संभाल रहे थे। राउत और शिंदे की लगातार अदावत चल रही थी। शिंद सीधे उद्धव से बात करना चाहते थे, लेकिन संजय को यह नागवार गुजर रहा था। संजय राउत ने शिंदे के विभागी अफसरों तक की बैठक करके हिदायत दी थी।

यह कहना है गोवाहाटी में डटे शिंदे कैंप के एक विधायक का। अपना नाम व पहचान न छापने की शर्त पर इस विधायक ने आईबीसी-24 के गुवाहाटी सूत्र को विशेष रूप से बताया  कि सारा किया-धरा संजय राउत का है। वे अब भी दबंगई दिखा रहे हैं। पार्टी में अनुशासन की प्रेरणा होनी चाहिए, इस तरह से धमकी नहीं। इन विधायक के मुताबिक बाकी के और भी विधायक आज गुवाहाटी पहुंच सकते हैं।

7 दिन के लिए बुक होटल में फोन की अनुमित नहीं

गुवाहाटी में इस हॉटल में 70 कमरे 7 दिनों के लिए बुक किए गए हैं।  इनका किराया 56 लाख रुपए है। जबकि लगभग 50 लाख रुपए के विमानों के जरिए विधायकों को गुवाहाटी पहुंचाया गया है। सूत्र बताते हैं कि अभी यहां लंबी बैठक चलेगी। कल जारी वीडियो और फोटो में यह साफ संदेश है कि असली शिवसेना की लड़ाई लड़ी जाएगी। अभी 5 विधायक और हैं जिन्हें गुवाहाटी भेजने की चर्चा है। बताया जाता  है कि यह भी आज शाम तक गुवाहाटी पहुंच सकते हैं।

read more: Maharashtra Political Crisis : एकनाथ शिंदे की दहाड़, बोले- हम वास्तविक शिवसेना, आप कौन होते हैं हमें डराने वाले.. 

read more: कनाडा भेजने के नाम पर कई लोगों से लाखों रुपए ठगने का आरोपी पुलिस हिरासत में

read more: गुजरात दंगे: उच्चतम न्यायालय ने एसआईटी की रिपोर्ट के खिलाफ दायर जकिया जाफरी की याचिका खारिज की