Such an incident is going to spoil the harmony of the country says Ajmer Sharif Dargah

Udaipur Murder case: देश का सौहार्द्र बिगाड़ने वाली हैं ऐसी घटना, अजमेर शरीफ दरगाह प्रमुखों ने कही ये बड़ी बात

अपराधियों को सख्त से सख्त सजा देने की मांग करते हुए कहा कि ऐसे कृत्यों के लिए ना तो कुरान शरीफ और ना ही पैगम्बर मोहम्मद इजाजत देते हैं

Edited By: , June 29, 2022 / 03:01 PM IST

नई दिल्ली। Udaipur Murder case live :  राजस्थान के उदयपुर में कन्हैयालाल की नृसंस हत्या मामले की चौतरफा निंदा हो रही है। देश के कई मुस्लिम संगठनों और मौलवियों ने भी इस घटना को दुखद बताया है। अजमेर शरीफ दरगाह के दीवान साहब ने कहा है कि यह ऐसी घटनाएं समाज और देश का सौहार्द्र बिगाड़ने वाली हैं। उन्होंने अपराधियों को सख्त से सख्त सजा देने की मांग करते हुए कहा कि ऐसे कृत्यों के लिए ना तो कुरान शरीफ और ना ही पैगम्बर मोहम्मद इजाजत देते हैं।

यह भी पढ़ें: 4 जुलाई को लॉन्च होगा जबरदस्त स्मार्टफोन, इसमें मिलेंगे कमाल के नए फीचर्स

Udaipur Murder case live  : अजमेर दरगाह के दीवान ने कहा कि किसी भी धर्म में हिंसा की इजाजत नहीं दी जा सकती है। इस्लाम जैसे धर्म में हिंसा के लिए कोई जगह नहीं और हमारे धर्म में हिंसा नहीं बल्कि अमन और भाईचारे पर जोर दिया जाता है।

यह भी पढ़ें: कांग्रेस विधायक पर बीजेपी ने की कार्रवाई की मांग, अग्निपथ के खिलाफ उकसाने का लगा आरोप

देश के मुसलमानों की नहीं ऐसी मानसिकता

Udaipur Murder case live  : अजमेर दरगाह दीवान जैनुल आबेदीन अली खान ने उदयपुर में एक दर्जी की हत्या किए जाने की घटना की निंदा करते हुए कहा कि भारत के मुसलमान देश में कभी भी तालिबानी मानसिकता को स्वीकार नहीं करेंगे। आगे कहा कि ‘हत्या को अंजाम देने वाले दोनों अपराधी चरमपंथी संगठन से ताल्लुक रखते हैं। भारत के मुसलमान देश में अमन और शांति चाहते हैं। भारतीय मुसलमान देश के तालिबानीकरण की अनुमति नहीं दे सकते हैं।

यह भी पढ़ें: Weather Update : बाढ़ से बिगड़े हालात, खतरे के निशान से ऊपर बह रही ये नदियां,अबतक 139 की मौत

अजमेर दरगाह दीवान प्रमुखों ने आज फिर एक वीडियो जारी कर समाज के सभी लोगों से शांतिपूर्ण तरीके से एकता और अखडंता बनाए रखने की अपील है। उन्होंने कहा कि भले ही हमारी जान चली जाए लेकिन हम देश को तालिबानी कल्चर पर नहीं आने देंगे। उन्होंने कहा कि कुछ लोगों द्वारा इस तरह की हरकतों से इस्लाम और देश बदनाम होने के साथ ही बेगुनाहों का खून होना गलत है। अजमेर शरीफ दरगाह के दीवान साहब ने कहा कि देश में सांप्रदायिक सद्भाव बनाए रखने के लिए हर नागरिक की जिम्मेदारी है।

और भी है बड़ी खबरें…

 

#HarGharTiranga