BJP leader took clarification regarding his statement: बीजेपी नेता ने दी सफाई

‘ब्राह्मणों को तो मैं देवता मानता हूं’ विवादों में घिरने के बाद देने लगे सफाई, पहले कही थी ये बात

BJP leader took clarification regarding his statement: 'ब्राह्मणों को तो मैं देवता मानता हूं’ विवादों में घिरने के बाद देने लगे सफाई, पहले कही थी ये बात

Edited By: , August 18, 2022 / 03:58 PM IST

BJP leader took clarification regarding his statement: ग्वालियर। ब्राह्मण समाज पर टिप्पणी के मामले में प्रीतम लोधी ने सफाई दी है। बीजेपी नेता प्रीतम लोधी ने कहा कि सोशल मीडिया पर जो वीडियो वायरल हो रहा है। उसमें ब्राह्मणों के बारे में कोई टिप्पणी नहीं की है। मैंने ये बात राम रहीम बाबा,आसाराम बापू,मिर्ची बाबा जैसे लोग के बारे में कही है। जो गेरुआ का चोला ओढ़कर समाज को धोखा देते हैं। जिसका परिणाम है कि वे आज सलाखों के पीछे हैं। मैंने उन लोगों के उनके बारे में बोला है। ब्राह्मणों को तो मैं देवता मानता हूं।  >>*IBC24 News Channel के WHATSAPP  ग्रुप से जुड़ने के लिए  यहां CLICK करें*<<

ये भी पढ़ें- भगवान भी नहीं बचा पाएंगे कोरोना से, मत करिए ऐसी लापरवाही! प्रीकॉशन डोज लगवाने में लोगों का नहीं इंटरेस्ट

पार्टी ने लोधी को किया तलब

BJP leader took clarification regarding his statement: अपने बयान के बाद विवादों में फंसे बीजेपी नेता प्रीतम लोधी को लेकर नेता प्रतिपक्ष ने राष्ट्रद्रोह के तहत कार्रवाई करने की मांग की थी। जब इस मामले ने तूल पकड़ा तो बीजेपी ने भी सख्ती अपनाई। प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा ने लोधी को कार्यालय तलब किया। बता दें कि लोधी की विवादित टिप्पणी करने के बाद ब्राह्मण समाज में भी भारी रेष व्याप्त है। जिसे लेकर अब पार्टी भी कोई सख्त निर्णय ले सकती है।

ये भी पढ़ें- मिशन 2023 की तैयारी: बीजेपी ने ‘सरल’ एप किया लांच, जानें एप के माध्यम से क्या करना चाहती है पार्टी…

कार्यक्रम में दिया था बयान

BJP leader took clarification regarding his statement: दरअसल, वीरांगना रानी अवंति बाई लोधी की 191वीं जयंती पर बदरवास के ग्राम खरैह में एक कार्यक्रम में भाजपा नेता प्रीतम लोधी ने विवादित बयान दिया था। जिसमें उन्होंने पंडितों पर निशाना साधते हुए कहा कि ये नौ दिन रोजाना सात-आठ घंटे तक पागल बनाते हैं। यह सबसे ज्यादा दान की बात करते हैं। कहते हैं कि अगर तुम दान दोगे तो भगवान तुमको देगा, पूरा गांव दोगे तो और ज्यादा देगा। उनका कहना था कि इनकी बातों में आकर महिलाएं अपने घरों से घी, शक्कर, गेहूं, चावल चुरा-चुरा कर इन ब्राह्मणों के चरणों में जाकर अर्पित कर देती हैं।

IBC24 की अन्य बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करें