सबसे बड़ा रेड अलर्ट…निशाने पर तीन राज्य… कितना घातक साबित हो सकता है नक्सलियों का मिशन MMC?

निशाने पर तीन राज्य... कितना घातक साबित हो सकता है नक्सलियों का मिशन MMC?Big Alert for Naxal Attack to MP CG and Maharashtra

Edited By: , May 22, 2022 / 01:38 PM IST

रिपोर्ट- सतेंद्र सिंह भदौरिया के साथ नरेश मिश्रा, रायपुर/भोपाल: Alert for Naxal Attack नक्सलवाद प्रदेश के विकास और देश की आंतरिक सुरक्षा के लिए बड़ा ख़तरा है, जिससे जुड़ा एक बड़ा और बेहद गंभीर खुलासा IBC24 पर आपने देखा। एक ऐसी खबर, ऐसा देश की आंतरिक सुरक्षा के लिए चुनौती पेश करने वाला एक बड़ा खुलासा। ये अलर्ट है तीन राज्यों की पुलिस के लिए, मध्यप्रदेश, महाराष्ट्र और छत्तीसगढ़ को मिलकर इस बड़ी चुनौती से निपटना पड़ सकता है। तो नक्सलियों का मिशन MMC कितना घातक साबित हो सकता है और इससे निपटने की क्या है मध्यप्रदेस-छत्तीसगढ़ की तैयारी?

Read More: MS धोनी को लेकर पूर्व ओपनर बल्लेबाज ने दिया ऐसा बयान, जमकर भड़के सुनील गावस्कर, बोले यह काफी दुखद…

Alert for Naxal Attack एक साजिश, जो धीरे-धीरे रची जा रही है गुप्त ठिकानों पर मध्यप्रदेश सीमा पर बालाघाट के शांत जंगल में लाल आतंकी नया ठिकाना बनाने की फिराक में है। दरअसल, छत्तीसगढ़ के बस्तर में लाल गैंग के पांव उखड़ रहे हैं और अब वो नए और सुरक्षित मांद की तलाश में हैं, जिसके लिए लाल गैंग अब छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश और महाराष्ट्र की सीमा पर स्थित एक ट्राई जंक्शन में ‘मिशन MMC’ चला रही है।

Read More: पुलिस ने पूर्व मंत्री को जमकर पीटा, सियासत हुई तेज, पंजाब प्रांत के मुख्यमंत्री ने किया हस्तक्षेप 

खबर है कि नक्सल संगठन के मिलिट्री चीफ कमांडर देवजी उर्फ तिरूपति उर्फ चेतन उर्फ थिप्पली को महाराष्ट्र मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ का नया प्रभारी बनाया गया है। नक्सल सुप्रीमो देवजी हिंसक प्रवृत्ति का माना जाता है। 13 नवंबर 2021 को MMC जोन के लिए निकले दीपक और उसके 26 साथियों को महाराष्ट्र की गढ़चिरौली पुलिस ने राजनांदगांव के सरहदी गांव में मार गिराया था। ATS इंटेलिजेंस का मानना है कि देवजी नक्सली संगठन का मजबूत चेहरा है और MMC जोन में देवजी बड़ी फौज के साथ धमकने की खबर है जिससे तीनों राज्यों की पुलिस हाई अलर्ट पर है।

Read More: इलेक्ट्रिक स्‍कूटर खरीदना हुआ महंगा, कंपनी ने बढ़ाए दाम… 

इधर, इस बड़े खुलासे पर छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री ने कहा कि अगर इस बारे में मध्यप्रदेश पुलिस को कोई इनपुट मिला है तो उन्हें छत्तीसगढ़ पुलिस के साथ साझा करना चाहिए। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक नक्सली इस MMC कॉरिडोर में अमरकंटक तक अपनी जड़ें मजबूत करना चाहते हैं। अगर वाकई ऐसा है तो निश्चित तौर पर ये तीनों राज्यों की पुलिस और ATS इंटेलिजेंस के लिए बड़ा चैलेंज है, जिसे हलके में लिया तो गंभीर नतीजे भुगतने पड़ सकते हैं।

Read More: मोदी सरकार ने पेट्रोल-डीजल के दाम में कटौती कर दी जनता को राहत, तो कांग्रेस ने बताया आंकड़ों की बाजीगरी