कॉलेज के छात्र पढ़ेंगे रामचरित मानस, शिक्षा मंत्री बोले- युवाओं में होगा श्रीराम की तरह चरित्र का निर्माण

Education department decision : उच्च शिक्षा विभाग ने बीए के प्रथम वर्ष में रामचरितमानस का पाठ पढ़ाए जाने का फैसला लिया है।

Edited By: , September 13, 2021 / 02:36 PM IST

भोपाल। मध्यप्रदेश शिक्षा विभाग ने एक और बड़ा फैसला लिया है। उच्च शिक्षा विभाग ने बीए के प्रथम वर्ष में रामचरितमानस का पाठ पढ़ाए जाने का फैसला लिया है। इस सत्र से ही पाठ्यक्रम में रामचरितमानस को शामिल कर लिया जाएगा।

Read More News : 100 फीट गहरे कुंड में डूबने से दो नाबालिग सहित 3 लोगों की मौत, सभी लोग आए भी पिकनिक मनाने

उच्च शिक्षा मंत्री मोहन यादव ने कहा कि रामचरितमानस का जीवन दर्शन BA प्रथम वर्ष के छात्र पढ़ेंगे। उन्होंने आगे कहा कि जब युवा पढ़ेंगे तो मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम की तरह उनमें चरित्र का निर्माण होगा। भगवान राम के चरित्र में साइंस, कला, साहित्य औऱ संस्कार है।

Read More News : छत्तीसगढ़ में देर रात बड़ी प्रशासनिक सर्जरी, 90 से अधिक अधिकारियों के तबादले, बदले गए कई जिलों के डिप्टी, संयुक्त और अपर कलेक्टर

राम के दर्शन से छात्र चरित्र निर्माण कर सकते हैं। एक वैकल्पिक होगा जिसे कॉलेज में हिंदी और जहां दर्शन विषय है। मंत्री मोहन ने कहा कि दर्शन शास्त्र के प्रोफेसर छात्रों को रामचरितमानस का पाठ पढ़ाएंगे।

Read More News :  विदेशी नस्ल की 8 बिल्लियां बरामद, तस्करी कर लाया गया था बिल्लियों को