भूपेश ने पूरा किया एक और वादा, कहा- चिटफंड पीड़ितों को डूबे पैसे की वापसी प्रक्रिया शुरु

भूपेश ने पूरा किया एक और वादा, कहा- चिटफंड पीड़ितों को डूबे पैसे की वापसी प्रक्रिया शुरु

Edited By: , March 26, 2021 / 01:20 AM IST

रायपुर। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कांग्रेस का किया हुआ एक और वादा पूरा किया है। उन्होंने ट्वीट कर जानकारी दी है कि वादे के मुताबिक चिटफंड पीड़ितों को उनके डूबे हुए पैसे की वापसी की औपचारिक प्रक्रिया शुरु हो गई है।

बघेल ने शुक्रवार को ट्वीट किया कि, जो कहा, सो किया – वादे के अनुसार लाखों चिटफंड पीड़ितों को उनके डूबे हुए पैसों की वापसी की औपचारिक प्रक्रिया आज से शुरू हो गई है। आप अपने जनपद पंचायत में नि:शुल्क सुविधा केंद्र में जाकर फॉर्म भर सकते हैं। पहले सरकार ने आपकी जमीन लौटाई और अब आपके पैसे लौटाने की बारी है।

बता दें कि केंद्र शासन के निर्देश पर राज्य सरकारों ने निवेशकों का पैसा लौटाने के प्रक्रिया शुरू कर दी है। इसी कड़ी में रायपुर जिला पंचायत कार्यालय में निवेशकों के लिए शिविर लगाया गया है। यहां पहुंच कर निवेशक पैसा वापसी के लिए ऑन लाइन आवेदन भर सकते हैं। ये शिविर 30 अप्रैल तक रहेगा।

शिविर में सुबह 10 से शाम 5 बजे तक ऑनलाइन फॉर्म भरने की सुविधा होगी। आवेदन भरने के लिए निवेशकों को पीएसीएल का सर्टिफिकेट और दस्तावेज समेत पैन कार्ड, एक कैंसिल चेक, फ़ोटो,बैंक पास बुक लेकर आना होगा। ऑनलाइन आवेदन लेने के लिए जनपद कार्यालयों में पांच-पांच ऑपरेटर और एक प्रोग्रामर की ड्यूटी लगाई गई है।

यह भी पढ़ें : सांसद ज्ञान सिंह का निर्वाचन निरस्त, जाति प्रमाण पत्र निरस्त होने पर प्रत्याशी ने लगाई थी याचिका 

गौरतलब है कि पीएसीएल ने निवेश और ऊंची ब्याज दर पर राशि वापस लौटाने का झांसा देकर देशभर से लोगों की गाढ़ी कमाई के 60 हजार करोड़ रुपए लूटे थे। इसमें अकेले छत्तीसगढ़ के पांच लाख निवेशकों से पांच हजार करोड़ रुपए शामिल हैं। छत्तीसगढ़ के साथ ही देश के अन्य प्रांतों के निवेशकों के लिए यह अच्छी खबर है कि पूर्व चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया जस्टिस आरएन लोढ़ा कमेटी की सिफारिश के बाद निवेशकों की राशि लौटाने केंद्र सरकार ने प्रक्रिया शुरू कर दी है।