सीधी भर्ती के खिलाफ सरकारी कर्मचारियों का आंदोलन, सरकार पर लगाया ये बड़ा आरोप

राजधानी भोपाल के नीलम पार्क में प्रदेश भर से आए कर्मचारियों ने प्रांतीय स्तर आंदोलन किया।

Edited By: , October 22, 2021 / 01:33 PM IST

भोपाल। सरकारी विभागों में सीधी भर्ती के विरोध में कर्मचारी संगठन आंदोलन कर रहे हैं। राजधानी भोपाल के नीलम पार्क में प्रदेश भर से आए कर्मचारियों ने प्रांतीय स्तर आंदोलन किया। कर्मचारी मंच के बैनर तले हुए इस आंदोलन में कर्मचारियों ने आठ सूत्रीय मांगों को लेकर विरोध दर्ज कराया।

ये भी पढ़ेंः रायपुर में आसमान छूने लगे सब्जियों के दाम, टमाटर 40 तो प्याज बिक रहा 32 रुपए किलो

संगठन के प्रदेशाध्यक्ष अशोक पांडे ने बताया कि सरकार और ब्यूक्रेसी सूप्रीम कोर्ट के आदेश का भी उल्लंघन कर रही है। यही कारण है कि एमपी के 62 विभागों ने एक लाख से अधिक पद खाली हैं। इन्हें भरने के लिए सीधी भर्ती का आदेश निकाला गया है।

ये भी पढ़ेंः विधानसभा चुनाव से पहले मध्यप्रदेश को गौ-संवर्धन का मॉडल स्टेट बनाने की कवायद तेज, बोर्ड ने बनाई कई योजनाएं

जबकि बीते 20-20 सालों से सरकारी विभागों में स्थाईकर्मी, संविदा कर्मचारी, कंप्यूटर आपरेटर्स, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, दैनिक वेतन भोगी नियमों के तहत ही रिक्त पदों पर नियमित कर्मचारी बतौर सेवाएं देने का इंतजार कर रहे हैं, सुप्रीम कोर्ट के आदेशों की भी अवहेलना की जा रही है। उन्होंने बताया कि यदि सीधी भर्ती का फरमान सरकार ने वापस नहीं लिया तो आगामी समय में अनिश्चितकालानी हड़ताल और धरना भोपाल में दिया जाएगा।

ये भी पढ़ेंः साध्वी का श्राप! विपक्ष ने पूछा- क्या साध्वी पार्टी के कहने पर ऐसा बयान देती है?