फर्जी जन्म प्रमाण पत्र मामले में आजम खान अपने बेटे अब्दुल्ला आजम के साथ हुए अदालत में पेश

फर्जी जन्म प्रमाण पत्र मामले में आजम खान अपने बेटे अब्दुल्ला आजम के साथ हुए अदालत में पेश

: , May 21, 2022 / 10:19 PM IST

रामपुर, 21 मई (भाषा) समाजवादी पार्टी (सपा) के वरिष्ठ नेता आजम खान अपने बेटे अब्दुल्ला आजम के फर्जी जन्म प्रमाण पत्र मामले में शनिवार को यहां एमपी-एमएलए अदालत में पेश हुए। आजम खान के बेटे अब्दुल्ला आजम खान भी एमपी-एमएलए कोर्ट के सामने पेश हुए, क्योंकि उन पर पासपोर्ट हासिल करने के लिए कथित तौर पर जाली दस्तावेज लगाने का मुकदमा चल रहा है। आजम खान, उनकी पत्नी तंज़ीन फातिमा और बेटे अब्दुल्ला आजम खान को उनके खिलाफ दर्ज एक आपराधिक मामले में जेल भेज दिया गया था, जिसमें आरोप लगाया गया था कि अब्दुल्ला ने दो अलग-अलग जगहों से फर्जी तरीके से अपने दो फर्जी जन्म प्रमाण पत्र हासिल किये थे। रामपुर के गंज थाने में भाजपा नेता आकाश सक्सेना द्वारा तीन जनवरी, 2019 को दर्ज एक प्राथमिकी में, यह आरोप लगाया गया था कि आजम खान और उनकी पत्नी ने अपने बेटे को दो फर्जी जन्म प्रमाण पत्र प्राप्त करने में मदद की – एक लखनऊ से और दूसरा रामपुर से। .

अभियोजन पक्ष के अनुसार, अदालत के समक्ष इस मामले में गवाहों की गवाही दर्ज की जा रही है। शनिवार को यह सुनवाई के लिए तय किया गया था, और खान अतिरिक्त मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट निशांत मान के सामने पेश हुए। सरकार के वकील अरुण प्रकाश सक्सेना ने कहा, ‘आजम खान फर्जी जन्म प्रमाण पत्र मामले में विशेष एमपी-एमएलए अदालत के समक्ष पेश हुए, जिसने सुनवाई की अगली तारीख 26 मई तय की है।’ अब्दुल्ला आजम खान भी विशेष एमपी-एमएलए अदालत के समक्ष पेश हुए, क्योंकि उन्हें पासपोर्ट प्राप्त करने के लिए कथित रूप से जाली दस्तावेजों के लिए मुकदमे का सामना करना पड़ रहा है। सहायक अभियोजन अधिकारी, नीरज कुमार सिंह ने बताया, ‘बरेली में तैनात पासपोर्ट अधिकारी मोहम्मद नसीम एक सार्वजनिक गवाह के रूप में पेश हुए और अपना बयान दर्ज कराया। उन्हें बचाव पक्ष के वकील द्वारा जिरह के लिए फिर से अदालत में पेश होना होगा।’ वर्तमान में, आजम खान रामपुर विधानसभा क्षेत्र से विधायक हैं, जबकि उनके बेटे अब्दुल्ला आजम खान रामपुर जिले के सुअर विधानसभा क्षेत्र से विधायक हैं। सुप्रीम कोर्ट द्वारा धोखाधड़ी के एक मामले में अंतरिम जमानत दिए जाने के एक दिन बाद आजम खान को उत्तर प्रदेश की सीतापुर जेल से शुक्रवार सुबह रिहा कर दिया गया। भाषा सं जफर राजकुमारराजकुमार

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)