मथुरा में किसी को भी नहीं डालने दी गई नयी परंपरा, विभिन्न संगठनों के करीब 12 कार्यकर्ता हिरासत में |

मथुरा में किसी को भी नहीं डालने दी गई नयी परंपरा, विभिन्न संगठनों के करीब 12 कार्यकर्ता हिरासत में

मथुरा में किसी को भी नहीं डालने दी गई नयी परंपरा, विभिन्न संगठनों के करीब 12 कार्यकर्ता हिरासत में

:   December 6, 2023 / 07:36 PM IST

मथुरा (उप्र), छह दिसंबर (भाषा) मथुरा में छह दिसंबर को अयोध्या के विवादित ढांचे को ढहाने की 31वीं बरसी के अवसर पर विभिन्न संगठनों द्वारा ईदगाह परिसर में जलाभिषेक, दीपदान तथा श्रीकृष्ण जन्मभूमि पर दीपदान किए जाने की घोषणाओं के बीच, किसी को भी नयी परंपरा डालने की अनुमति नहीं दी गई।

ऐसा करने का प्रयास करने वाले हिन्दूवादी संगठनों के करीब 12 कार्यकर्ताओं को हिरासत में लिया गया है।

मथुरा में बुधवार को सुरक्षा दिनभर चाक-चौबंद रही।

जिलाधिकारी शैलेंद्र कुमार सिंह ने छह दिसंबर को लेकर अखिल भारत हिन्दू महासभा, हिन्दू महासभा, जिला पंचायत अध्यक्ष किशन चौधरी, श्रीकृष्ण जन्मभूमि संघर्ष न्यास व संत रक्षा संगठन आदि विभिन्न संगठनों द्वारा की गई अलग-अलग प्रकार की घोषणाओं पर संज्ञान लेते हुए शहर एहतियान निषेधाज्ञा लागू कर श्रीकृष्ण जन्मस्थान-शाही ईदगाह परिसर सहित पूरे शहर में चप्पे-चप्पे पर भारी संख्या में पुलिस बल तैनात कर दिया गया ।

शहर में प्रवेश करने वाले और श्री कृष्णा जन्मस्थान की ओर जाने वाले हर मार्ग पर निजी चौपहिया वाहनों के जाने पर भी रोक लगा दी थी।

विभिन्न संवेदनशील इलाकों में पुलिस बल को मंगलवार से ही तैनात कर दिया गया था।

दिनभर वरिष्ठ अधिकारी श्रीकृष्ण जन्मस्थल के आसपास के दायरे में गश्त करते रहे। इस बीच, कुछ संगठनों के कार्यकर्ताओं ने श्रीकृष्ण जन्मस्थल या ईदगाह की ओर बिना अनुमति जाने का प्रयास किया, जिन्हें हिरासत में ले लिया गया।

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक शैलेष कुमार पांडेय ने कहा कि अखिल भारत हिन्दू महासभा अध्यक्ष राज्यश्री की ओर से पहले श्रीकृष्ण जन्मस्थान पर ही अपना कार्यक्रम करने की जानकारी दी थी, परंतु प्रशासन से अनुमति नहीं मिलने पर उन्होंने यमुना किनारे विश्राम घाट पर अयोध्या आंदोलन में जान गंवाने वाले कारसेवकों की आत्मा की शांति के लिए पिंडदान एवं शिला पूजन किया।

पुलिस के मुताबिक, हिन्दू महासभा के नाम के एक अन्य संगठन के कार्यकर्ताओं तथा श्रीकृष्ण जन्मभूमि संघर्ष समिति के कुछ लोगों ने प्रशासन की अपील को दरकिनार करते हुए श्रीकृष्ण जन्मस्थल की ओर जाने का प्रयास किया तो उन्हें हिरासत में ले लिया गया, जिनमें संत रक्षा संगठन के स्वामी तारकेश्वर और दिनेश शर्मा आदि शामिल हैं।

इसी प्रकार महासभा की आगरा इकाई की तीन महिलाओं एवं दो पुरुषों को भी निषेधाज्ञा उल्लंघन में हिरासत में लिया गया है।

अखिल भारत हिन्दू महासभा की राष्ट्रीय अध्यक्ष राज्यश्री चौधरी ने बताया कि उन्होंने अपने तय कार्यक्रमानुसार विश्राम घाट पर पिंडदान किए तथा शिला पूजन कर आम हिन्दू मतावलंबियों से भी अपने-अपने घरों में शिला पूजन करने की अपील की।

उन्होंने बताया कि शिला पूजन का यह अभियान अगले माह छह जनवरी तक चलेगा और उसके बाद महासभा उन सभी शिलाओं को एकत्र करने के लिए छह फरवरी तक यात्राओं का आयोजन करेगी।

भाषा सं जफर खारी

खारी

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

Flowers