मिस्र के वार्ताकारों ने इजराइल और हमास के बीच संघर्ष विराम को लेकर बातचीत की

मिस्र के वार्ताकारों ने इजराइल और हमास के बीच संघर्ष विराम को लेकर बातचीत की

: , May 22, 2021 / 01:52 PM IST

गाजा सिटी, 22 मई (एपी) इजराइल-हमास के बीच संघर्ष विराम को मजबूती देने के लिए मिस्र के वार्ताकारों ने शनिवार को बातचीत शुरू की, वहीं हमास शासित गाजा पट्टी में इजराइल की 11 दिनों की बमबारी के बाद फलस्तीनियों ने क्षति का आकलन करना शुरू कर दिया है। आवश्यक सामानों को लेकर 130 ट्रकों का काफिला गाजा की ओर रवाना हो गया है।

एक दशक से भी कम समय के भीतर इजराइल-हमास के बीच चौथे युद्ध के लिए संघर्षविराम घोषित होने के बाद शनिवार को पूरी तरह शांति रही। लड़ाई में इजराइल ने गाजा में चरमपंथियों के ठिकानों पर जहां सैकड़ों हवाई हमले किए, वहीं हमास एवं अन्य चरमपंथियों ने इजराइल की तरफ 4000 से अधिक रॉकेट दागे। युद्ध में 250 से अधिक लोगों की मौत हुई, जिनमें अधिकतर फलस्तीनी थी।

इजराइल के हवाई हमले में गाजा सिटी के व्यस्त वाणिज्यिक इलाके उमर अल-मुख्तार स्ट्रीट में 13 मंजिला एक भवन के जमींदोज होने से वहां मलबा, टूटी हुई कारें और मुड़ी हुई धातुएं बिखरी पड़ी थीं। नगर निगम कर्मियों ने सड़कों से टूटे हुए कांच और धातुओं को हटाया।

बच्चों का कपड़ा बेचने वाले अशोर सुबे ने कहा, ‘‘वास्तव में हमें इतनी क्षति का अनुमान नहीं था। हमने सोचा कि हमारी तरफ से हमला ज्यादा होगा, लेकिन आप देख सकते हैं कि एक भी दुकान सही हालत में नहीं है।’’ उनका आकलन है कि उनकी अभी तक की कमाई से ज्यादा उन्हें नुकसान हुआ है।

इजराइल और हमास दोनों ने जीत का दावा किया है। इस तरह का अनुमान था कि फिलहाल संघर्ष विराम लागू हो जाएगा लेकिन कुछ स्थानों पर दूसरे दौर की लड़ाई की संभावना प्रबल हो गई है। कई मुद्दे अनसुलझे रह गए हैं जिनमें इजराइल-मिस्र की सीमा पर नाकाबंदी 14वें वर्ष भी जारी रहना और इस्लामिक आतंकवादी संगठन हमास को नि:शस्त्र करना शामिल है।

लड़ाई दस मई को शुरू हुई जब हमास के चरमपंथियों ने गाजा से यरूशलम की तरफ लंबी दूरी के रॉकेट दागने शुरू किए। फलस्तीन के प्रदर्शनकारियों और इजराइल की पुलिस के बीच अल-अक्सा मस्जिद परिसर में झड़पों के बाद ये हमले शुरू हुए।

शुक्रवार को संघर्षविराम होने के कुछ घंटे बाद हजारों की संख्या में फलस्तीनी नागरिक अल-अक्सा मस्जिद परिसर में इकट्ठा हुए और फलस्तीन के राष्ट्रपति महमूद अब्बास और उनकी स्वयंभू सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। उन्होंने नारे लगाए, ‘‘फलस्तीनी प्राधिकरण के कुत्ते बाहर जाओ, बाहर जाओ’’ और ‘‘लोग चाहते हैं कि राष्ट्रपति इस्तीफा दें।’’

यह अब्बास के खिलाफ अभूतपूर्व गुस्सा था। संघर्ष के कारण कब्जे वाले पश्चिमी तट, गाजा या इजराइल के अंदर फलस्तीनियों के बीच काफी क्षोभ देखा गया।

कमजोर स्थिति के बावजूद कूटनीतिक वार्ता के लिए अब्बास ही एकमात्र संपर्क सूत्र होंगे क्योंकि इजराइल और अमेरिका सहित पश्चिम के देश हमास को आतंकवादी संगठन मानते हैं।

इस बीच इजराइल और फलस्तीन के क्षेत्र में मिस्र के वार्ताकारों की दो टीम मौजूद है ताकि संघर्ष विराम के समझौते को मजबूती दी जा सके। यह जानकारी मिस्र के एक वार्ताकार ने शनिवार को दी।

आगामी हफ्ते में अमेरिका के विदेश मंत्री, अब्बास और इजराइल के नेताओं से मुलाकात करेंगे। समझा जाता है कि अब्बास यह मांग रखेंगे कि गाजा में पुनर्निर्माण की कोई भी योजना फलस्तीनी प्राधिकरण के मार्फत हो ताकि हमास को मजबूत नहीं होने दिया जाए।

इस बीच, मिस्र की सरकार ने कहा कि वह गाजा में मानवीय सहयोग एवं चिकित्सीय आपूर्ति के तौर पर 130 ट्रक सामान भेजेगा।

ट्रकों का काफिला शनिवार को गाजा पहुंच सकता है।

गाजा के स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि कम से कम 243 फलस्तीनी नागरिक मारे गए जिनमें 66 बच्चे शामिल हैं। इसके अलावा 1910 व्यक्ति घायल हुए हैं। इजराइल में 12 व्यक्ति मारे गए जिनमें पांच वर्षीय एक बच्चा और 16 वर्ष की लड़की शामिल है।

एपी नीरज दिलीप

दिलीप

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)