Gujarat Assembly Elections 2022 Update, Gujarat Assembly Elections 2022 result

Gujarat Assembly Elections 2022: चुनाव बूथ पर कब्ज़ा, मतदान के दौरान आचार संहिता का उल्लंघन, कांग्रेस ने लगाए कई गंभीर आरोप

Gujarat Assembly Elections 2022 Update: चुनाव बूथ पर कब्ज़ा, मतदान के दौरान आचार संहिता का उल्लंघन, कांग्रेस ने लगाए कई गंभीर आरोप

Edited By: , December 2, 2022 / 05:57 AM IST

अहमदाबाद: Gujarat Assembly Elections 2022 : गुजरात में पहले चरण के विधानसभा चुनाव के तहत 89 सीटों पर मतदान समाप्त होने के बाद विपक्षी दल कांग्रेस ने बृहस्पतिवार को सुरेंद्रनगर जिले में चुनाव अधिकारियों को छह अलग-अलग शिकायतें सौंपीं। कांग्रेस ने एक शिकायत में आरोप लगाया कि सुरेंद्रनगर जिले की लिंबडी विधानसभा सीट के अंतर्गत आने वाले समला गांव में स्थित एक चुनाव बूथ पर कुछ असामाजिक तत्वों ने कब्जा कर लिया।

हालांकि, सुरेंद्रनगर के जिला निर्वाचन अधिकारी एवं जिलाधीश के सी संपत ने कहा कि जांच से पता चला है कि ऐसी कोई घटना नहीं हुई और सीधे वेबकास्ट के माध्यम से जिला स्तर पर बूथ की निगरानी की जा रही थी। अन्य शिकायतों में बोटाड जिले के कुछ बूथ पर असामाजिक तत्वों द्वारा फर्जी मतदान, जामनगर में अधिकारियों द्वारा जानबूझकर मतदान प्रक्रिया को धीमा करना और सूरत शहर के पलसाना क्षेत्र में एक बूथ के अंदर पार्टी के प्रतीक चिह्न ले जाने की अनुमति देना शामिल है।

Read More : इन राशियों पर पड़ेगा शुक्र का प्रभाव, हो जाएंगे मालामाल, प्रेम संबंध होगा मजबूत

कांग्रेस की गुजरात इकाई के प्रवक्ता हिरेन बैंकर ने कहा कि गुजरात के मुख्य निर्वाचन अधिकारी के कार्यालय में भी एक शिकायत दर्ज कराई गई, जिसमें कहा गया कि टेलीविजन चैनल वोट डालकर बाहर निकलने वाले मतदाताओं के साक्षात्कार चला रहे हैं, जो उन लोगों को प्रभावित कर सकते हैं, जो दूसरे चरण में पांच दिसंबर को होने वाले मतदान में अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे। बैंकर ने यह भी कहा, “कांग्रेस ने यह भी शिकायत की है कि गुजरात के विभिन्न हिस्सों में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की रैलियों (द्वितीय चरण के प्रचार के हिस्से के रूप में भाजपा द्वारा आयोजित) का सीधा प्रसारण भी आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन है, क्योंकि जब रैलियों का प्रसारण किया जा रहा था, तब मतदान चल रहा था।”

Read More : भीषण गोलीबारी से दहशत में लोग, बिजली आपूर्ति हुई बाधित, मेयर ने लोगों से की शहर छोड़ने की अपील

हालांकि, गुजरात के अतिरिक्त मुख्य चुनाव अधिकारी कुलदीप आर्य ने स्पष्ट किया कि राज्य के अन्य हिस्सों (पहले चरण के मतदान में शामिल नहीं) में आयोजित प्रधानमंत्री की रैलियों और मतदाताओं के साक्षात्कार का प्रसारण किसी नियम का उल्लंघन नहीं है।

आर्य ने कहा, “नियम के अनुसार, कोई भी वहां रैलियां कर सकता है, जहां प्रचार पर रोक लागू नहीं है। हम चयनित स्थानों पर टीवी प्रसारण बंद नहीं कर सकते। निर्वाचन आयोग के दिशा-निर्देश इस बारे में बहुत स्पष्ट हैं। मतदान के बाद मतदाताओं के साक्षात्कार की भी अनुमति है। इसे चुनावी सर्वेक्षण नहीं माना जाता।” पांच दिसंबर को दूसरे चरण के चुनाव के तहत राज्य विधानसभा की शेष 93 सीटों पर वोट डाले जाएंगे। मतगणना आठ दिसंबर को होगी।

IBC24 की अन्य बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करें