Bihar Inter-caste Marriage Promotion Scheme

अब शादी करने के लिए मिलेंगे 2.50 लाख रुपए, इस राज्य की सरकार ने शुरू की योजना

अब शादी करने के लिए मिलेंगे 2.50 लाख रुपए, इस राज्य की सरकार ने शुरू की योजना! Bihar Inter-caste Marriage Promotion Scheme

Edited By: , November 29, 2022 / 12:22 AM IST

बिहार। Bihar Inter-caste Marriage Promotion Scheme बेटी की शादी को लेकर हर समाज में समस्या बनी हुई है। जिसके लिए सरकार की ओर से बेटियों की शादी के लिए कई प्रकार की योजनाएं चलाई जा रही है। कई राज्य की सरकार बेटियों की शादी के लिए योजनाएं चलाई जा रही है, जिससे उसके बेटी की शादी में मदद मिल चुके। वहीं बिहार सरकार समाज की पारंपरिक ढांचा को बनाए रखने के लिए एक योजना चलाई जा रही है। जिससे बिहार के बेटियों की शादी में आर्थिक मदद मिल सके।

Read More: अब इस ट्रेन में जीवन भर कर सकते हैं फ्री में सफर, नहीं लगेगा कोई पैसा, रेलवे ने दी जानकारी

Bihar Inter-caste Marriage Promotion Scheme बिहार सरकार की इस योजना का नाम बिहार अंतर्जातीय विवाह प्रोत्साहन योजना है। इस योजना के तहत सरकार द्वारा शादियों के लिए आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है। इसके लिए आपको एक आवेदन करना होगा। 10 रुपये के स्टाम्प पेपर पर रसीद के साथ जमा करनी होगी। जिसके बाद सरकार द्वारा आपके खाते में 1.5 लाख रुपये ट्रांसफर किए जाएंगे। वहीं सरकार द्वारा आपके खाते में 3 साल के लिए एक लाख को एफडी कर ​दी जाएगी। यानी सरकार द्वारा 2.50 लाख रुपए दिए जाएंगे।

Read More:  24 किमी लंबा रेड कार्पेट बिछाऊंगा, हेलीकॉप्टर से राहुल गांधी पर फूल बरसाऊंगा, कांग्रेस से ही मांगूंगा टिकट, निर्दलीय 

बिहार सरकार ने इस योजना को अंतर्जातीय विवाह को बढ़ावा देने के लिए शुरू किया है। सरकार के इस फैसले से प्रदेश के सभी समाज के लोगों को काफी फायदा होगा।

Read More:  मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने भाजपा की हुंकार रैली पर साधा निशाना, स्मृति ईरानी को लेकर कही बड़ी बात

  • बिहार अंतरजातीय विवाह प्रोत्साहन योजना के तहत कुल 2.5 लाख प्रदान किए जाएंगे।
  • 10 रुपये का गैर-न्यायिक स्टांप पेपर जमा करने पर 1.5 लाख रुपये दिए जाएंगे।
  • बाकी के 100000 रुपये को 3 साल के लिए सावधि जमा के रूप में रखा जाएगा।
  • 100000 रुपये की राशि लाभार्थी को 3 साल बाद ब्याज समेत मिलेगी।
  • पैसा आरटीजीएस/एनईएफटी के माध्यम से लाभार्थी के अकाउंट में ट्रांसफर होगा।
  • इस योजना का लाभ पाने के लिए पति-पत्नी का ज्वाइंट अकाउंट होना जरूरी है।
  • यह योजना वर्ष 2013-14 और 2014-15 के लिए पायलट योजना के रूप में शुरू की गई थी।

देश दुनिया की बड़ी खबरों के लिए यहां करें क्लिक