Automatically Fake Payment Done in These Models of Xiaomi Mobile

Xiaomi मोबाइल यूजर्स हो जाएं सावधान, कभी भी आपके खाते से हो सकता है फर्जी पेमेंट

कभी भी आपके खाते से हो सकता है फर्जी पेमेंट! Automatically Fake Payment Done in These Models of Xiaomi Mobile

Edited By: , August 13, 2022 / 12:18 PM IST

नई दिल्लीः Automatically Fake Payment भारतीय बाजार में इन दिनों चीनी मोबाइल कंपनियों का बोलबाला है। लोग ब्रांडेड कंपनियों को छोड़कर चीनी मोबाइल फोन्स को पसंद करने लगे हैं। लेकिन इन चीनी मोबाइल फोन में कई तरह की दिक्कतें भी सामने आ रही है, जो आपको लंबा चूना लगा सकती है। ऐसा ही एक मामला इन दिनों सामने आया है। दरसअल श्याओमी मोबाइल के दो मॉडल में ऐसी खामियां हैं, जिसके चलते हैकर्स आपके खाते में जमा रकम उड़ सकते हैं।

Read More: भारतीय क्रिकेट टीम का यह दिग्गज ऑलराउंडर पहुंचा वैकेशन पर, पत्नी के साथ शेयर की तस्वीरें

Automatically Fake Payment मिली जानकारी के अनुसार रेडमी नोट 9टी और रेडमी नोट 11 में कड़ी खामियां है, जिसके चलते यूजर्स के फोन में पेमेंट मैकेनिज्म को डिसेबल किया जा सकता है। इतना ही नहीं इन दोनों फोन के जरिए फर्जी पेमेंट भी किया जा सकता है। बताया गया कि हैकर्स फोन में एक एप्लीकेशन इंस्टॉल कर ऐसा कर सकते हैं।

Read More: 15 अगस्त को प्रदेश में कौन कहां करेंगा झंडा बंधन, यहां देखें लिस्ट

रिसर्च करने वाली कंपनी की मानें तो यह दिक्कत MediaTek चिपसेट पर काम करने वाले फोन्स में पाई गई है। यह सिक्योरिटी खामी चीनी स्मार्टफोन मेकर्स के Kinibi TEE (Trusted Execution Environment) एनालिसिस के दौरान पाई गई है। TEE मेन प्रोसेसर के अंदर एक सिक्योरिटी एनक्लेव होता है, जिसका इस्तेमाल सेंसिटिव इंफॉर्मेशन को प्रॉसेस और स्टोर करने के लिए किया जाता है। इजरायल की सिक्योरिटी फर्म ने इस सिक्योरिटी फ्लॉ को स्पॉट किया है।

Read More: नहाने के बाद ऐसे कपड़े पहनकर निकली टीवी एक्ट्रेस, इंटरनेट पर वायरल हो गई तस्वीर

फर्म ने पाया कि Xiaomi डिवाइसेस की कमी के कारण अटैकर्स एक ट्रस्टेड ऐप को नए ऐप से रिप्लेस कर सकते हैं। कंपनी ने बताया कि अटैकर्स ट्रस्टेड ऐप में शाओमी या फिर MediaTek के सिक्योरिटी फिक्स को बाइपास कर सकते हैं। इसके लिए उन्हें ऐप को अनपैच्ड वर्जन से डाउनग्रेड करना होगा।

Read More: बीजेपी ने उत्पातियों का किया सुपड़ा साफ, हंगामा करने वाले कार्यकर्ताओं को पद से हटाया

इसके अलावा कई सिक्योरिटी खामियां thhadmin ऐप में पाई गई हैं। ये ऐप सिक्योरिटी मैनेजमेंट के लिए जिम्मेदार है। चेक पॉइंट ने बताया है कि शाओमी ने इस खामी को दूर करने के लिए सिक्योरिटी पैच जारी कर दिया है। कंपनी की मानें तो यह दिक्कत थर्ड पार्टी वेंडर की वजह से थी, जिसे अब दूर कर दिया गया है। अगर आपने अपने फोन में लेटेस्ट सिक्योरिटी पैच डाउनलोड नहीं किया है, तो आपको जल्द ही कर लेना चाहिए।

Read More: जहां होना है सीएम का कार्यक्रम, वहां ट्रैक्टर पर सवार हुए कलेक्टर-IG, तो JCB से पहुंची SP