सेंसेक्स-निफ्टी ने बनाया नया रिकॉर्ड, दूरसंचार और वाहन कंपनियों के शेयरों में जबर्दस्त लिवाली

दूरसंचार, वाहन कंपनियों के शेयरों में जबर्दस्त लिवाली से सेंसेक्स, निफ्टी का नया रिकॉर्ड

Edited By: , September 15, 2021 / 06:09 PM IST

मुंबई, 15 सितंबर । Sensex Nifty new record : दूरसंचार और वाहन कंपनियों के शेयरों में जबर्दस्त लिवाली के बीच बुधवार को सेंसेक्स 476 अंक की छलांग के साथ अपने नए सर्वकालिक उच्चस्तर पर पहुंच गया। सरकार ने दूरसंचार और वाहन उद्योग के लिए राहत पैकेज की घोषणा की है जिससे इन क्षेत्रों की कंपनियों में निवेशकों ने जमकर खरीदारी की। कारोबारियों ने कहा कि इसके अलावा रुपये में मजबूती तथा विदेशी कोषों के सतत प्रवाह से भी बाजार धारणा मजबूत हुई।

बीएसई का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स 476.11 अंक यानी 0.82 प्रतिशत के लाभ के साथ 58,723.20 अंक पर बंद हुआ। यह इसका नया रिकॉर्ड है। दिन में कारोबार के दौरान सेंसेक्स ने 58,777.06 अंक के अपने नए सर्वकालिक उच्चस्तर को भी छुआ। सेंसेक्स में लगातार दूसरे दिन तेजी आई।

read more: 2021-22 की पहली तिमाही में घरेलू ऋण घटकर 34 प्रतिशत रह सकता है: एसबीआई रिपोर्ट

Sensex Nifty new record : इसी तरह नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 139.45 अंक या 0.80 प्रतिशत की बढ़त के साथ 17,519.45 अंक पर पहुंच गया। निफ्टी का भी यह नया रिकॉर्ड है। दिन में कारोबार के दौरान निफ्टी 17,532.70 अंक के अपने सर्वकालिक उच्चस्तर तक गया।

सेंसेक्स की कंपनियों में एनटीपीसी का शेयर सबसे अधिक 7.16 प्रतिशत चढ़ गया। भारती एयरटेल के शेयर में 4.53 प्रतिशत का लाभ रहा। एचसीएल टेक, टाइटन, एसबीआई, पावरग्रिड, टीसीएस इंडसइंड बैंक के शेयर भी लाभ में रहे। वहीं दूसरी ओर एक्सिस बैंक, एशियन पेंट्स, अल्ट्राटेक सीमेंट, नेस्ले इंडिया, सनफार्मा और एचडीएफसी बैंक के शेयर 0.38 प्रतिशत तक टूट गए।

read more: भारत में जल्द शुरू होगी नई वॉलीबॉल लीग पीवीएल

केंद्रीय मंत्रिमंडल ने बुधवार को दूरसंचार क्षेत्र के लिए राहत पैकेज को मंजूरी दी। इसके तहत दूरसंचार कंपनियों पर सांविधिक बकाये के भुगतान की चार साल की छूट दी गई है। इसके अलावा क्षेत्र में स्वत: मंजूर मार्ग से 100 प्रतिशत प्रत्यक्ष विदेशी निवेश की अनुमति दी गई है। साथ ही मंत्रिमंडल ने वाहन, वाहन कलपुर्जा क्षेत्र और ड्रोन उद्योग के लिए 26,058 करोड़ रुपये की उत्पादन आधारित प्रोत्साहन (पीएलआई) योजना को भी मंजूरी दी है।

जियोजीत फाइनेंशियल सर्विसेज के मुख्य निवेश रणनीतिकार वी के विजयकुमार ने कहा, ‘‘दूरसंचार और वाहन उद्योग के लिए जिन उपायों की घोषणा की गई है उनका व्यापक लाभ मिलेगा। दूरसंचार क्षेत्र को एजीआर, स्पेक्ट्रम बकाया और ब्याज भुगतान के लिए चार साल की मोहलत दी गई है। इससे नकदी संकट से जूझ रहे क्षेत्र को काफी राहत मिलेगी। यह बैंकों की दृष्टि से भी सकारात्मक है। बैंकों का भी इन कंपनियों को ऋण में उल्लेखनीय कमी आएगी।’’

read more: कमजोर मांग से सोयाबीन वायदा कीमतों में हानि

बीएसई मिडकैप और स्मॉलकैप 0.86 प्रतिशत तक चढ़ गए। अन्य एशियाई बाजारों में चीन के शंघाई कम्पोजिट, जापान के निक्की तथा हांगकांग के हैंगसेंग में नुकसान रहा। वहीं दक्षिण कोरिया का कॉस्पी लाभ में रहा। दोपहर के कारोबार में यूरोपीय बाजारों में मिलाजुला रुख था। इस बीच, अंतरराष्ट्रीय बेंचमार्क ब्रेंट कच्चा तेल 1.05 प्रतिशत की बढ़त के साथ 74.37 डॉलर प्रति बैरल पर पहुंच गया।

अंतरबैंक विदेशी मुद्रा विनिमय बाजार में रुपया 18 पैसे की बढ़त के साथ 73.50 प्रति डॉलर पर बंद हुआ। इस बीच, शेयर बाजारों के अस्थायी आंकड़ों के अनुसार विदेशी संस्थागत निवेशकों ने मंगलवार को शुद्ध रूप से 1,649.60 करोड़ रुपये के शेयर खरीदे।