3 new awards in chhattisgarh state alankaran category says CM Bhupesh 

CM भूपेश बघेल का बड़ा ऐलान, राज्य अलंकरण श्रेणी में जुड़े तीन नए पुरस्कार, इस तारीख को मिलेगा सम्मान

3 new awards in chhattisgarh : मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने छत्तीसगढ़ में लोक कला साधकों के सम्मान को लेकर बड़ा निर्णय लिया है।

Edited By: , November 29, 2022 / 08:46 PM IST

रायपुर। 3 new awards in chhattisgarh : मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने छत्तीसगढ़ में लोक कला साधकों के सम्मान को लेकर बड़ा निर्णय लिया है। छत्तीसगढ़ में राज्य स्थापना पर दिए जाने वाले राज्य अलंकरण श्रेणी में तीन नए पुरस्कार जोड़े गए हैं। ये पुरस्कार लोक कलाकार स्व. लक्ष्मण मस्तुरिया और स्व. खुमान साव और भगवान राम की माता कौशल्या को समर्पित होंगे। इस संबंध में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा है कि छत्तीसगढ़ अपनी प्राचीन और समृद्ध सांस्कृतिक विरासत एवं जीवंत संस्कृति के लिए प्रसिद्ध है।

read more : रावण दहन के दौरान भीड़ के ऊपर गिरा लंकेश का पुतला, हादसे में कई लोग घायल, मची चीख-पुकार, देखें वीडियो 

यहाँ के लयबद्ध संगीत, लोकगीत एवं लोक नाट्य अद्भुत आनंद की अनुभूति कराते हैं। लोक संस्कृति के जिन साधकों ने इसे जीवंत बनाए रखने में अपना जीवन समर्पित किया है, उन्हें सम्मानित करना राज्य सरकार का परम कर्तव्य है। ऐसे में प्रदेश की लोकगीत व लोक संगीत की महान विरासत के संरक्षण एवं संवर्धन और इस क्षेत्र में काम कर रहे नए कलाकारों को प्रेरित करने के लिए राज्य सरकार द्वारा राज्य अलंकरण के रूप में अन्य पुरस्कारों के साथ तीन नए पुरस्कार भी दिए जाएँगे।

read more : ‘विजयदशमी’ पर मां दुर्गा के रूप में नजर आई हेमा मालिनी, वीडियो शेयर कर कही ये बड़ी बात 

इसमें लोकगीत के क्षेत्र में “लक्ष्मण मस्तुरिया पुरस्कार” दिया जाएगा। वहीं लोक संगीत के क्षेत्र में योगदान देने वाले कला साधकों को “खुमान साव पुरस्कार” से सम्मानित किया जाएगा। इसी तरह माता कौशल्या के मायके और भगवान राम के ननिहाल छत्तीसगढ़ में श्रेष्ठ रामायण (मानस) मंडली को “माता कौशल्या सम्मान” से अलंकृत किया जाएगा। राज्य अलंकरण की भाँति ही इन श्रेणियों के पुरस्कार भी राज्य स्थापना दिवस के अवसर पर आयोजित होने वाले राज्योत्सव कार्यक्रम के दौरान प्रदान किए जाएँगे।

राज्योत्सव पर दिए जाएँगे ये तीनों पुरस्कार

– लोकगीत के क्षेत्र में दिया जाएगा लक्ष्मण मस्तूरिया पुरस्कार

– लोक संगीत के क्षेत्र में दिया जाएगा खुमान साव पुरस्कार

– श्रेष्ठ रामायण (मानस) मंडली को मिलेगा माता कौशल्या सम्मान

read more :  बारिश में गुस्सा हुआ रावण! मिट्टी का तेल डालने के बाद भी नहीं जला, इधर मेघनाथ का पुतला भी धड़ाम से गिरा