भारी बारिश से गंगरेल डेम में करीब 60 प्रतिशत भरा पानी, इधर महानदी उफान पर, मंडराया बाढ़ का खतरा

Heavy rain in Chhattisgarh: जलाशयों के कैचमेंट एरिया में भी लगातार बारिश होने के बांधों में पानी की आवक मजबूत हुई है।

Edited By: , September 15, 2021 / 11:09 AM IST

dams due to heavy rain cg

धमतरी। पिछले कुछ दिनों से हो रही अच्छी बारिश के चलते जिले के चारों जलाशयों में जलभराव की स्थिति में काफी सुधार आया है। वहीं जलाशयों के कैचमेंट एरिया में भी लगातार बारिश होने के बांधों में पानी की आवक मजबूत हुई है। जल संसाधन विभाग से प्राप्त जानकारी के अनुसार जिले के बांधों में आज की स्थिति में 60 प्रतिशत से अधिक जलभराव है।

Read More News: महिला को पेड़ से बांधकर पीटा, दी धमकी, जानिए क्या थी वजह?

इनमें रविशंकर जलाशय गंगरेल बांध में 60 प्रतिशत, बाबू छोटेलाल श्रीवास्तव मुरूमसिल्ली जलाशय में 75 प्रतिशत, दुधावा में 44 प्रतिशत तथा सोंढूर जलाशय में 60 प्रतिशत जलभराव है। इस संबंध में बताया गया है कि आज दोपहर 12 बजे की स्थिति में गंगरेल जलाशय में 23127 क्यूसेक पानी, मुरूमसिल्ली में 5833, दुधावा में 3442 तथा सोंढूर जलाशय में 2458 क्यूसेक (घनमीटर प्रति सेकण्ड) पानी की आवक बनी हुई है।

Read More News:  मेडिकल कॉलेज में डेड बॉडी का संकट, 1 ही डेड बॉडी से काम चला रहे 180 छात्र

इधर मंडराया बाढ़ का खतरा

जांजगीर चांपा जिले में बीते चार दिनों से लगातार बारिश हो रही है। जिसके चलते शिवरीनारायण में महानदी उफान पर है। भारी बारिश के चले महानदी का पानी अभी खतरे के निशान के करीब पहुंच गया है। बारिश से जल स्तर बढ़ने से अब नीचले इलाकों में बाढ़ का खतरा मंडरा रहा है। इसे लेकर जिला प्रशासन और पुलिस की टीम अलर्ट हो गई है। बाढ़ के खतरे को देखते हुए मुनादी कराई गई।

Read More News:  कलेक्टर साहब ने युवक को हाथ से साफ करवाया थूक, कहा- ऐसे ही साफ करवाऊंगा, अगर करोगे गंदगी