8वीं तक के स्कूलों को तत्काल बंद करने का आदेश, एक-तिहाई उपस्थिति के साथ जारी रहेगी 9वीं से 12वीं तक की कक्षा, डीईओ ने जारी किया आदेश

8वीं तक के स्कूलों को तत्काल बंद करने का आदेश : Order for immediate closure of schools till 8th

: , January 18, 2022 / 06:51 PM IST

धमतरी : Order for immediate closure of schools जिले में कोविड-19 के बढ़ते संक्रमण को दृष्टिगत करते हुए कलेक्टर पी.एस. एल्मा के निर्देशानुसार जिले में स्थित कक्षा पहली से आठवीं तक की कक्षाओं को बंद करने का आदेश जिला शिक्षा अधिकारी श्रीमती रजनी नेल्सन ने दिया है। साथ ही कक्षा नवमीं से 12वीं तक की कक्षाओं का संचालन विद्यार्थियों की एक-तिहाई की उपस्थिति में करने के निर्देश दिए गए हैं।

Read more : बढ़ाई गई धान खरीदी की समय सीमा, इस तारीख तक धान बेच सकेंगे किसान, कृषि मंत्री कमल पटेल ने दी जानकारी 

Order for immediate closure of schools जिले में स्थित शासकीय, अर्धशासकीय एवं अशासकीय स्कूलों के के संस्था प्रमुखों को जारी किए गए आदेश में जिला शिक्षा अधिकारी ने कहा है कि कोविड-19 के तेजी से बढ़ रहे संक्रमण को नियंत्रण करने के दृष्टिकोण से कक्षा पहली से आठवीं तक संचालित सभी प्राथमिक एवं पूर्व माध्यमिक विद्यालियों को आगामी आदेश तक बंद रखा जाए। साथ ही कक्षा नवमीं से 12वीं (हाई एवं हायर सेकण्डरी स्कूल) तक की शालाओं का एक-तिहाई बच्चों की उपस्थित में संचालन किया जाए। उन्होंने सभी हाई एवं हायर सेकण्डरी स्कूलों में कोविड अनुरूप व्यवहार (विद्यालय की साफ-सफाई, सैनिटाइजेशन व बच्चों एवं स्टाफ को मास्क का अनिवार्य प्रयोग किए जाने, साथ ही सोशल डिस्टेंसिंग) का कड़ाई से पालन सुनिश्चित करने कहा है।

Read more : सेल्फ टेस्ट किट में यदि कोरोना रिपोर्ट आई पॉजिटिव तो क्या करें? बढ़ते संक्रमण के चलते उठ रहे ऐसे सवाल… जानिए उत्तर 

इसके अलावा शालाओं में अध्ययनरत 15 से 18 वर्ष के विद्यार्थियों का शत-प्रतिशत कोविड टीकाकरण का कार्य आगामी दो दिनों के भीतर पूर्ण करने के भी निर्देश दिए गए हैं। लंबित टीकाकरण की सम्पूर्ण जिम्मेदारी संस्था प्रमुख की होगी। साथ ही पत्र में यह भी उल्लेख किया गया है कि सभी शिक्षकीय/कार्यालयीन स्टाफ के लिए कोविड के द्वितीय डोज टीकाकरण अनिवार्य है। किसी भी स्थिति में कोई भी शिक्षक न छूटे। इस संबंध में शत-प्रतिशत टीकाकरण सुनिश्चित करते हुए संस्था प्रमुख उक्त आशय का प्रमाण-पत्र कार्यालय में अनिवार्य रूप से प्रस्तुत करेंगे ।