Take inspiration from the martyrdom of the brave martyrs - Vice Chancellor Prof. Chakrawal

Independence day : वीर शहीदों की शहादत से प्रेरणा लें युवा- कुलपति प्रो. चक्रवाल

Independence day : आजादी के 75 साल पर अमतृ महोत्सव के अंतर्गत विभाजन विभीषिका स्मृति दिवस पर शांति मार्च का आयोजन किया गया

Edited By: , November 29, 2022 / 08:58 PM IST

बिलासपुर। गुरु घासीदास विश्वविद्यालय (केन्द्रीय विश्वविद्यालय) के मानव विज्ञान एवं जनजातीय विकास विभाग एवं इतिहास विभाग द्वारा दिनांक 14 अगस्त, 2022 को सायं 5 बजे इंदिरा गांधी राष्ट्रीय कला केन्द्र नई दिल्ली के संयुक्त तत्वावधान में आजादी के 75 साल पर अमतृ महोत्सव के अंतर्गत विभाजन विभीषिका स्मृति दिवस पर शांति मार्च का आयोजन किया गया।

यह भी पढ़ेंः  वरमाला के बाद दुल्हन ने स्टेज पर ही दूल्हे को जड़ दिया झन्नाटेदार तमाचा, देखकर सन्न रह गए थे मेहमान

विश्वविद्यालय के माननीय कुलपति महोदय प्रोफेसर आलोक कुमार चक्रवाल के नेतृत्व में तेज वर्षा के दौरान रजत जयंती सभागार से विश्वविद्यालय के मुख्य द्वार तक शांति मार्च का आयोजन किया गया। शांति मार्च से पूर्व विभाजन की त्रासदी झेलने वाले परिवारों के प्रति संवेदना व्यक्त करने हेतु दो मिनट का मौन धारण किया गया।

इस अवसर पर कुलपति प्रो. चक्रवाल ने कहा कि हमें विभाजन के दौरान शहीद हुए लोगों एवं उनके परिजनों के प्रति संवेदनाओं के साथ ही युवाओं को उनके जीवन से प्रेरणा लेनी चाहिए। यदि हमें भारत को विश्व गुरु के रूप में स्थापित होते देखना है तो संपूर्ण समर्पण के साथ अपने दायित्वों एवं कर्तव्यों का निर्वाह करना होगा। उन्होंने कहा कि अपने प्राणों का बलिदान देकर करोडों लोगों ने इस विभाजन के दंश को झेला है। हमें उनके प्राणों की आहूति की ऊर्जा को जीवन में समाहित कर राष्ट्र के निर्माण में सहयोग देना है।

यह भी पढ़ेंः आजादी का अमृत महोत्सव का हिस्सा बने बॉलवुड कलाकार, घर पर तिरंगा फहराकर शेयर किया वीडियो

प्रो. चक्रवाल ने कहा कि भारतीय स्वतंत्रता एवं लोकतंत्र के महत्व एवं मूल्य को समझने के लिए हमें विश्व के अन्य राष्ट्रों की शासन व्यवस्था का विश्लेषण करना होगा। राष्ट्र निर्माण में सहयोग के लिए किसी प्रकार के दिखावे की आवश्यकता नहीं है। उन्होंने सभी से आव्हान किया कि आज इसी पल से हम सभी शपथ लें कि अपने कर्तव्यों एवं दायित्वों का पूरी ईमानदारी और निष्ठा के साथ निर्वहन करेंगे।

यह भी पढ़ेंः उत्कृष्ट सेवा देने वाले पुलिसकर्मी होंगे सम्मानित, गृह मंत्रालय ने किया पुलिस वीरता पदक का ऐलान

कार्यक्रम के अंत में कुलसचिव सूरज कुमार मेहर ने धन्यवाद ज्ञापन एवं संचालन ड. घनश्याम दुबे सहायक प्राध्यापक इतिहास विभाग ने किया। इस अवसर पर विभिन्न विद्यापीठों के अधिष्ठातागण, विभागाध्यक्षगण, शिक्षकगण एवं बड़ी संख्या में एनएसएस एवं एनसीसी के छात्र-छात्राओं ने हिस्सा लिया।

और भी है बड़ी खबरें…